दिल्ली एयरपोर्ट के अंदर चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, कम होगा 1,000 टन कार्बन का उत्सर्जन

दिल्ली समेत देश के कई मेट्रो शहरों में वायु प्रदूषण एक गंभीर समस्या बनता जा रहा है। वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों को खरीदने पर जोर दे रही है। व्यक्तिगत वाहनों से लेकर सार्वजनिक परिवहन तक सभी क्षेत्रों में बैटरी से चलने वाले इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसी क्रम में अब दिल्ली एयरपोर्ट में डीजल बसों को हटाकर 62 इलेक्ट्रिक बसों को चलाने की योजना तैयार की है।

दिल्ली एयरपोर्ट के अंदर चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, कम होगा 1,000 टन कार्बन का उत्सर्जन

जानकारी के अनुसार, दिल्ली अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट ने ग्रीन ट्रांसपोर्ट अभियान को शुरू किया है जिसके तहत अगले चार महीनों के भीतर दिल्ली एयरपोर्ट में सभी 62 ई-बसों को उतार दिया जाएगा। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दिल्ली एयरपोर्ट इन 62 इलेक्ट्रिक बसों को चलाकर 1,000 कार्बन उत्सर्जन में कमी करेगा।

दिल्ली एयरपोर्ट के अंदर चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, कम होगा 1,000 टन कार्बन का उत्सर्जन

दिल्ली एयरपोर्ट पर इन इलेक्ट्रिक बसों को चार्ज करने के लिए फास्ट चार्जिंग प्वाइंट बनाने का काम भी शुरू कर दिया है। एयरपोर्ट प्रबंधन का कहना है कि 3-4 महीनों के अंदर चार्जिंग स्टेशनों को तैयार करने के साथ ही इलेक्ट्रिक बसों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। इन इलेक्ट्रिक बसों का इस्तेमाल एयरपोर्ट के अंदर यात्रियों को फ्लाइट तक लाने और निकास तक ले जाने के लिए किया जाएगा।

दिल्ली एयरपोर्ट के अंदर चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, कम होगा 1,000 टन कार्बन का उत्सर्जन

आपको बता दें कि दिल्ली में 1,500 लो-फ्लोर इलेक्ट्रिक बसों को चलाने की योजना तैयार की गई है। इनमें से 150 ई-बसों को हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंग केजरीवाल ने हरी झंडी दिखाकर लॉन्च किया। बसों के उद्घाटन के तौर पर इन बसों में 24 मई से 26 मई तक यात्रियों को बिना टिकट के मुफ्त में सफर करने का मौका भी दिया गया। ई-बसों को शुरू करने के सिर्फ तीन दिन के भीतर 1 लाख से ज्यादा यात्रियों ने सफर किया। इनमें से 40 प्रतिशत यात्री महिलाएं थीं।

दिल्ली एयरपोर्ट के अंदर चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, कम होगा 1,000 टन कार्बन का उत्सर्जन

इन बसों के शामिल होने के साथ, शहर के सार्वजनिक बस बेड़े ने 7,200 का आंकड़ा पार कर लिया है, जो अब तक का सबसे अधिक है। दिल्ली को अगले महीने 150 और नई ई-बसें दी जाएंगी और 2023 तक शहर को 2,000 नई ई-बसें मिलेंगी।

दिल्ली एयरपोर्ट के अंदर चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, कम होगा 1,000 टन कार्बन का उत्सर्जन

फेम-2 योजना (फास्टर एडॉप्सन ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इन इंडिया) के तहत देश के 64 शहरों में अंतरराज्यीय (इंटरसिटी) संचालन के लिए 5,595 इलेक्ट्रिक बसों को स्वीकृति दी गई है।

दिल्ली एयरपोर्ट के अंदर चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, कम होगा 1,000 टन कार्बन का उत्सर्जन

जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली में इलेक्ट्रिक कार और बाइक के बाद अब ई-साइकिल पर भी सब्सिडी मिल रही है। हाल ही में दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने इलेक्ट्रिक साइकिल की खरीद पर कीमत का 33 प्रतिशत सब्सिडी देने की घोषणा की थी, जो कि अधिकतम 15,000 रुपये तक हो सकता है।

दिल्ली एयरपोर्ट के अंदर चलेंगी इलेक्ट्रिक बसें, कम होगा 1,000 टन कार्बन का उत्सर्जन

नई नीति के तहत, दिल्ली में पैसेंजर इलेक्ट्रिक की कीमत पर 25 प्रतिशत और कार्गो इलेक्ट्रिक साइकिल की कीमत पर 33 प्रतिशत की सब्सिडी का लाभ उठाया जा सकता है। कार्गो ई-साइकिल पर अधिकतम 5,500 रुपये की सब्सिडी दी जा रही है। पहले आने वाले 1,000 खरीदारों को 2,000 रुपये की अतिरिक्त छूट दी जाएगी।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Delhi airport to deploy 62 electric buses in four months
Story first published: Tuesday, June 7, 2022, 19:48 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X