वर्जिन हायपरलूप ने किया पहला मानव परीक्षण, 160 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार को छुआ

सैकड़ों किलोमीटर की यात्रा चंद मिनटों में कराने का दावा करने वाली कंपनी वर्जिन हायपरलूप ने रविवार को पहली बार इस प्रोजेक्ट में मानव परिक्षण किया है। इस प्रोजेक्ट में मानव परिक्षण लॉस वेगास, नेवाडा के में किया गया। इस हायपरलूप में पहली बार सवारी करने वाले और कोई नहीं बल्कि इस कंपनी के मुख्य तकनीकी अधिकारी जॉश गीजेल और यात्री अनुभव प्रमुख सारा लुचीऑन हैं।

Virgin Hyperloop Conducts First Human Test: वर्जिन हायपरलूप ने किया पहला मानव परिक्षण, 160 किमी प्रतिघंटा की रफतार को छुआ

लगभग 500 मीटर और 3.3 मीटर व्यास के हायपरलूप ट्रैक को खासतौर पर टेस्टिंग के लिए तैयार किया गया था। टेस्टिंग के दौरान हायपरलूप को 160 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार पर चलाया गया। कंपनी ने दावा किया कि अब तक हायपरलूप का 400 से अधिक बार टेस्ट किया जा चुका है।

Virgin Hyperloop Conducts First Human Test: वर्जिन हायपरलूप ने किया पहला मानव परिक्षण, 160 किमी प्रतिघंटा की रफतार को छुआ

हायपरलूप हवा के दबाव और घर्षण के सिद्धांत पर काम करता है। इस हायपरलूप के ट्रैक को ट्यूब के जैसा डिजाइन किया गया है जो चारों तरफ से बंद है। हवा के अवरोध को कम करने के लिए इस ट्यूब के अंदर की हवा को निकाल कर वैक्यूम बनाया जाता है।

MOST READ: भारत-बेंज असम सरकार को डिलीवर करेगी 20 एसी बसें

Virgin Hyperloop Conducts First Human Test: वर्जिन हायपरलूप ने किया पहला मानव परिक्षण, 160 किमी प्रतिघंटा की रफतार को छुआ

टेस्ला और स्पेसएक्स के संस्थापक और सीईओ एलोन मस्क द्वारा साझा की गई हाइपरलूप की मूल अवधारणा के बाद वर्जिन हाइपरलूप की स्थापना 2014 में की गई थी। मस्क ने दावा किया था कि हाइपरलूप वैक्यूम में 1,223 किमी प्रति घंटे की शीर्ष गति प्राप्त करने में सक्षम होगा।

Virgin Hyperloop Conducts First Human Test: वर्जिन हायपरलूप ने किया पहला मानव परिक्षण, 160 किमी प्रतिघंटा की रफतार को छुआ

भारत में वर्जिन हायपरलूप ने बेंगलुरु में प्रोजेक्ट पर काम शुरू करने के लिए कर्नाटक सरकार के साथ समझौता ज्ञापन में हस्ताक्षर किया है। कंपनी बेंगलुरु एयरपोर्ट को हाइपरलूप द्वारा शहर के अन्य इलाकों से जोड़ने के प्रोजेक्ट पर काम करेगी।

MOST READ: हैदराबाद को मिलेगा एक नया रेस ट्रैक, जानें कब होगा तैयार

Virgin Hyperloop Conducts First Human Test: वर्जिन हायपरलूप ने किया पहला मानव परिक्षण, 160 किमी प्रतिघंटा की रफतार को छुआ

वर्जिन हायपरलूप ने कहा है कि शहर में हायपरलूप के निर्माण के पहले इसकी व्यवहारिता का परीक्षण किया जायेगा जिसमे 6 महीनों का समय लग सकता है। इस हायपरलूप की मदद से प्रतिघंटा 1,000 यात्रियों को बेंगलुरु एयरपोर्ट से सिटी सेंटर तक ले जाया जा सकता है। यह हायपरलूप 1,080 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चलेगी।

Virgin Hyperloop Conducts First Human Test: वर्जिन हायपरलूप ने किया पहला मानव परिक्षण, 160 किमी प्रतिघंटा की रफतार को छुआ

वर्जिन हाइपरलूप ने कहा कि निर्माण कार्य समाप्त होने के बाद यात्री हाइपरलूप पोर्टल पर इसकी बुकिंग करा सकेंगे। इसके साथ ही यात्री बेंगलुरु शहर में सुपरफास्ट स्पीड से यात्रा करने का भी आनंद उठा सकेंगे। कंपनी ने बताया कि हाइपरलूप के निर्माण से एयरपोर्ट के नजदीक यातायात संबंधी परेशानियों से निजात मिलेगी, साथ ही गुड्स अथवा कूरियर सेवाओं को भी तेज किया जा सकेगा।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Virgin Hyperloop conducts first human test in America. Read in Hindi.
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X