रॉयल एनफील्ड से नाराज ग्राहक ने अपनी 2.5 लाख की नई क्लासिक 500 पेगासस को कचरे में फेंका

By Abhishek Dubey

रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। हमने पहले आपको बताया था कि किस तरह से रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस के कई मालिक इससे खुश नहीं है और कैसे उन्होंने अपनी नई पेगासस को महानगरपालिका को कचरा उठाने के लिए दान में दिया था। रशलेन की कबर के मुताबिक अब रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस का एक ग्राहक कंपनी ने इतना नाराज हो गया है कि उसने अपनी ब्रांड न्यू रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस को कचरे में ही फेक दिया। आईये जानते हैं रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस के ग्राहक इतना ज्यादा क्यों नाराज हो रहे हैं।

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

दरअसल कुछ दिन पहले रॉयल एनफील्ड ने क्लासिक 350 का नया स्पेशल एडिशन सिग्नल्स 350 लॉन्च किया है। रॉयल एनफील्ड क्लासिक सिग्नल 350 ही पेगासस मालिकों के लिए गुस्से का कारण बनी है। रॉयल एनफील्ड क्लासिक सिग्नल 350 को भारतीय सेना से प्रेरित बताया जा रहा है और इसके रंग, डिजाइन ईत्यादि में भी आपको भारतीय सेना और एयरफोर्स की झलक देखने को मिलती है। वहीं दुसरी तरफ रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस ब्रिटिश आर्मी से इंस्पायर्ड है। रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस, रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पर बनी है।

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस को एक लिमिटेड एडिशन के तौर पर लॉन्च किया गया था। पुरी दुनिया में इसकी सिर्फ 1000 यूनिट बिक्री के लिए रखी गई थी। वहीं भारत में इसके सिर्फ 250 यूनिट बेचे गए। रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस को लेकर पुरी दुनिया सहित भारतीयों में भी बड़ा क्रेज था। भारत में इसकी ऑनलाइन बिक्री की गई थी। जब इसे ऑनलाइन सेल के लिए रखा गया था तब अधिक ग्राहकों के आ जाने से कंपनी की वेबसाइट ही क्रैश हो गई थी और इसके बिक्री की तारीख को आगे बढ़ाना पड़ा था। जब दुसरी बार इसकी सेल की गई तो महज 178 सेकंड अर्थात 3 मिनट के भीतर ही सभी 250 यूनिट बिक गई।

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस की कीमत 2.19 लाख रुपए एक्श-शोरूम थी वहीं इसके डेजर्ट स्ट्रॉम वेरिएंट की कीमत 1.70 लाख एक्स शोरूम है (31,730 रुपए का अंतर)। वहीं रॉयल एनफील्ड क्लासिक सिग्नल 350 को 1.61 लाख एक्स शोरूम पर लॉन्च किया गया और इसके क्लासिक 350 गनमेंटल ग्रे की कीमत 1.48 लाख रुपए थी (13,821 रुपए का अंतर)।

MOST READ: जिसके लिए स्कोडा डीलरशीप ने मांगे 1.68 लाख, लोकल वर्कशॉप ने 1000 रुपए में किया वो काम

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

अब क्लासिक 500 पेगासस के मालिकों का कहना है कि दिखने में 500 पेगासस और सिग्नल्स 350 में बहुत मामूली सा अंतर है और दोनों बाइक लगभग एक जैसे ही दिखते हैं। दोनों के कीमत बात करें तो अपने स्टैंडर्ड वेरिएंट के मुकाबले पेगासस के लिए लगभग 30 हजार रुपए अधिक वसूले गए और एक्सक्लूसिव के नाम के अलावा फीचर्स में कुछ खास नहीं दिया गया। वहीं सिग्नल्स 350 का अपने स्टैंडर्ड वेरिएंट से महज 14 हजार का अंतर है और इसमें डुअल चैनल ABS शामिल किया गया है वहीं पेगासस 500 में ABS नहीं दिया गया है।

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

क्लासिक 500 पेगासस के मालिकों का गुस्सा देखकर कंपनी ने भी रिप्लाई किया है और बयान जारी कर कहा है कि पेगासस एक लिमिटेड एडिशन है और इसमें कई यूनिक जीजें दी गई हैं। पर कंपनी के इस जवाब से ग्राहक संतुष्ट नहीं हुए हैं और उन्होंने कई और सवाल खड़े किये हैं।

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

पेगासस के मालिकों ने सवाल उठाए हैं कि कंपनी ने पेगासस 500 की बढ़ती मांग को देखते हुए उसी तर्ज पर सिग्नल्स 350 को लॉन्च किया है। इसे भी उसी प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है जिसपर क्लासिक 500 पेगासस बनी है। उल्टे सिग्नल्स 350 की कीमत भी कम रखी गई है और कई लोग सवाल खड़े कर रहे हैं कि कंपनी ने इसे भारतीय सेना से इंस्पायर्ड बताया है इसकी कीमत कम रखी और पेगासस को ब्रिटिश आर्मी से इंस्पायर्ड बताया है और उसकी कीमत ज्यादा। इस लिहाज से उसने भारतीय सेना को कम करके आंका है।

MOST READ: 2018 महिंद्रा मराजो महज 9.9 लाख रुपए की शुरुआती कीमत के साथ भारत में लॉन्च

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस के मालिक अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं और कह रहे हैं कि रॉयल एनफील्ड और उसके सभी उत्पादों के बहुत बड़े प्रशंसक रहे हैं लेकिन अब उनका विश्वास कपनी पर से उठ गया है। बता दें कि रॉयल एनफील्ड के साथ ऐसा विवाद पहली बार नहीं हो रहा है। इसके पहले भी रॉयल एनफील्ड हिमालयन स्लीट के साथ भी ऐसा ही हुआ था। पहले कंपनी ने इसे एक लिमिटेड एडिशन के तौर पर लॉन्च किया था और बादमें अधिक मांग देखकर इसे रेग्यूलर वेरिएटं के तौर पर बेचा जाने लगा। ये रॉयल एनफील्ड हिमालयन स्लीट अभी भी बिक रहा है।

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

बता दें कि क्लासिक 500 पेगासस में 499 सीसी की क्षमता का इंजन प्रयोग किया है जो कि बाइक को 27.2 बीएचपी की शक्ति के साथ 41.2 एनएम का टॉर्क प्रदान करता है। इस बाइक में 5 स्पीड गियर बॉक्स का इस्तेमाल किया है। इसके अलावा बाइक की चेचिस, ब्रेक्स, टॉयर इत्यादी पहले के क्लासिक 500 की ही तरह है।

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

वहीं रॉयल एनफील्ड क्लासिक सिग्नल्स 350 में 346 सीसी की क्षमता का एयरकूल्ड इंजन का प्रयोग किया है। जो कि बाइक को 19 बीएचपी की पॉवर और 28 एनएम का टॉर्क प्रदान करता है। इसके अलावा इस बाइक में 5 स्पीड गियरबॉक्स का भी प्रयोग किया गया है। आगे और पीछे दोनों पहियों में ड्यूअल चैनल एबीएस डिस्क ब्रेक शामिल किया गया है।

रॉयल एनफील्ड क्लासिक 500 पेगासस बाइक को कचरे में फेका

नई रॉयल एनफील्ड क्लासिक सिग्नल्स 350 के साथ कुछ एक्सेसरीज को भी पेश किया गया है जो कि इस बाइक को और भी खूबसूरत बनाते हैं। इसके लिए हैवी ड्यूटी वॉटर रेजिस्टेंट मिलिट्री पैनियर, स्टील इंजन गॉर्ड, 3D मेश के साथ टूअरिंग सीट, विंडशिल्ड किट, रियर रैक्स, एल्यूमीनियम व्हील आदि जैसे एक्सेसरीज का प्रयोग रॉयल एनफील्ड क्लासिक सिग्नल्स 350 में किया जा सकता है।

ऊपर जो आप बाइक की तस्वीरें देख रहे हैं वो रॉयल एनफील्ड 500 पेगासस की है। ये एक लिमिटेड एडिशन बाइक है और रॉयल एनफील्ड ने इसे पिछले महिने ही लॉन्च किया था। भारत में इसकी 250 यूनिट ही सेल के लिए रखी गई थी। लेकिन अब इसे खरीदने वाले अपने आप को ठगा बता रहे हैं और विरोध जताने के लिए अजीब-अजीब रास्तों का सहारा ले रहे हैं। अब आपने ये खबर पढ़ी तो बाइक और उसके मालिकों द्वारा किये जा रहे इस विरोध पर आपका क्या सोचना है, कमेंट जरूर करें।

Hindi
English summary
Royal Enfield 500 Pegasus thrown into garbage by owner – Says its useless. Read in Hindi.
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more