भारत पहली बार करेगा फाॅर्मूला-ई रेस की मेजबानी, 100 दिनों का ‘काउंट डाउन’ हुआ शुरू

विदेशों में मोटरस्पोर्ट की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए अब भारत ने भी इसकी मेजबानी करने के लिए अपने कदम आगे बढ़ाए हैं। फॉर्मूला-वन रेसिंग का आयोजन करवाने वाली कंपनी एबीबी एफआईए ने नई प्रतियोगिता को शुरू करने की घोषणा की है जिसमें इलेक्ट्रिक कारें भाग लेंगी। फॉर्मूला ई-वर्ल्ड चैंपियनशिप का आयोजन जनवरी से जुलाई, 2023 के बीच किया जाएगा।

भारत पहली बार करेगा फाॅर्मूला-ई रेस की मेजबानी, 100 दिनों का ‘काउंट डाउन’ हुआ शुरू

इस आयोजन में कुल 17 रेस इवेंट होंगे जिन्हें दुनिया भर के कई देशों में आयोजित किया जाएगा। हालांकि, इस बार यह रेस का आयोजन करने वालों में नए दावेदार के रूप में भारत, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील जैसे देश भी शामिल हो गए हैं। भारत में इस रेस का आयोजन तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में किया जाएगा। हैदराबाद में फॉर्मूला-ई इस रेस का आयोजन 11 फरवरी, 2023 को किया जाएगा।

भारत पहली बार करेगा फाॅर्मूला-ई रेस की मेजबानी, 100 दिनों का ‘काउंट डाउन’ हुआ शुरू

भारत इस रेस की मेजबानी 2026 तक चार साल के लिए एक डील के तहत करेगा। फॉर्मूला-ई के आयोजकों ने इस साल की शुरुआत में तेलंगाना सरकार के साथ एक लेटर-ऑफ-इंटेंट पर हस्ताक्षर किया था। दुनिया की पहली नेट जीरो कार्बन रेस कार जेन3 (Gen3) इस फॉर्मूला-ई रेस में पहली बार दिखाई देगी।

भारत पहली बार करेगा फाॅर्मूला-ई रेस की मेजबानी, 100 दिनों का ‘काउंट डाउन’ हुआ शुरू

फॉर्मूला-ई रेस आयोजकों ने रेस की शुरुआत के लिए 100 दिन का 'काउंट डाउन' शुरू कर दिया है। इस रेस में हैदराबाद की कई ग्रीन सोल्युशंस कंपनियां भी अपना सहयोग दे रही हैं।

भारत पहली बार करेगा फाॅर्मूला-ई रेस की मेजबानी, 100 दिनों का ‘काउंट डाउन’ हुआ शुरू

हैदराबाद इस चैंपियनशिप की मेजबानी के लिए बोली लगाने वाले दुनिया भर के 60 शहरों में से एक है। यह रेस 2.37 किलोमीटर के ट्रैक पर सचिवालय परिसर और उसके आसपास लुंबिनी पार्क रोड पर आयोजित की जाएगी।

भारत पहली बार करेगा फाॅर्मूला-ई रेस की मेजबानी, 100 दिनों का ‘काउंट डाउन’ हुआ शुरू

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह फाॅर्मूला-ई रेसिंग का 8वां आयोजन है और भारत में इस तरह की रेस के आयोजन के पीछे महिंद्रा ग्रुप का बड़ा योगदान है। महिंद्रा की ई-रेसिंग टीम पिछले कई सालों से फाॅर्मूला-ई रेसिंग में भाग लेते आ रही है और इस प्रतियोगिता की मुख्य आयोजक है। इस बार के आयोजन में भारत से कई रेसिंग टीमों के शामिल होने की उम्मीद है।

भारत पहली बार करेगा फाॅर्मूला-ई रेस की मेजबानी, 100 दिनों का ‘काउंट डाउन’ हुआ शुरू

ऑटोमोबाइल बाजार के जानकारों का मानना है कि इस तरह के आयोजनों से देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा मिलेगा और लोगों के बीच इलेक्ट्रिक वाहनों की क्षमताओं से जुड़े कई तरह के जुड़े सवालों का जवाब भी मिलेगा।

भारत पहली बार करेगा फाॅर्मूला-ई रेस की मेजबानी, 100 दिनों का ‘काउंट डाउन’ हुआ शुरू

फाॅर्मूला-ई ने यह भी घोषणा की है कि उसने भविष्य में हैदराबाद e-Prix रेसिंग के लिए अक्षय ऊर्जा कंपनी ग्रीनको (Greenko) के साथ साझेदारी की है। हैदराबाद स्थित ग्रीनको समूह स्वच्छ और किफायती ऊर्जा देने की दिशा में काम कर रहा है। तेलंगाना सरकार का कहना है कि यह कदम निश्चित रूप से भारतीय मोटरस्पोर्ट प्रशंसकों को उत्साहित करेगा।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Formula e 100 days countdown begins india to host race at hyderabad details
Story first published: [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X