किसानों के लिए खोला जाएगा इक्वीपमेंट बैंक, इस तरह उठाया जाएगा लाभ

By Deepak Pandey

केंद्रीय-कृषि और विजन के प्रमुख संरक्षक नितिन गडकरी ने सोमवार को 'उपकरण बैंक' के विचार की शुरुआत की। सीमांत किसानों के लिए यह तरीका माडर्न लेकिन महंगा होगा। अपने इसी कांसेप्ट को समझाते हुए गड़करी ने कई बाते कहीं।

किसानों के लिए खोला जाएगा इक्वीपमेंट बैंक, इस तरह उठाया जाएगा लाभ

परिवहन मंत्री ने इकोनामिक्स टाइम्स के हवाले से कहा कि नाबार्ड जैसी एजेंसियों से ट्रैक्टर, हार्वेस्टर आदि खरीद करने के लिए एजेंसियों से फंडिंग के साथ 'उपकरण बैंक' स्थापित किए जाएंगे। सीमांत किसान तब इन उपकरणों का उपयोग कर सकते हैं, जब उनके पास अन्य कोई विकल्प नहीं होगा।

किसानों के लिए खोला जाएगा इक्वीपमेंट बैंक, इस तरह उठाया जाएगा लाभ

गडकरी ने कृषि-विजन के समापन समारोह में 'स्मार्ट गांव' के विचार भी पेश किए। उन्होंने कहा, "कृषि विजन में प्रशिक्षित किसान प्रशिक्षकों बन सकते हैं और गांवों के किसानों को खेती के परिदृश्य को बदलने के लिए मार्गदर्शन कर सकते हैं।

किसानों के लिए खोला जाएगा इक्वीपमेंट बैंक, इस तरह उठाया जाएगा लाभ

गडकरी ने कहा कि ऑटोमोबाइल प्रमुख टीवीएस मोटर लिमिटेड के साथ बाइक बनाने के प्रयास चल रहे हैं जो कि इथेनॉल पर चलेंगे जिससे प्रदूषण मुक्त और सस्ता परिवहन होगा। गडकरी ने हरियाली पर्यावरण के लिए गंगा के किनारों पर 10 करोड़ वृक्ष लगाने का लक्ष्य रखा है।

किसानों के लिए खोला जाएगा इक्वीपमेंट बैंक, इस तरह उठाया जाएगा लाभ

मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री गौरी शंकर बिसेन ने कहा कि उनके गृह राज्य ने एक योजना को सफलतापूर्वक चलाया है जिसमें कम बाजार की कीमतों के कारण किसानों के नुकसान को एमएसपी और बाजार मूल्य के बीच अंतर का भुगतान करके मुआवजा दिया गया था।

Recommended Video - Watch Now!
[Hindi] Mahindra KUV 100 NXT Launched In India - DriveSpark
किसानों के लिए खोला जाएगा इक्वीपमेंट बैंक, इस तरह उठाया जाएगा लाभ

इस समारोह के दौरान हरियाणा के कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनकर, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहिर, कृषि-दर्शन संगठन के सचिव रवि बोरातकर ने भी अपनी बातें लोगों के सामने रखी और अपने विजन के बारे में लोगों को बताया।

Drivespark की राय

Drivespark की राय

केन्द्रीय मंत्री गड़करी की ओर से पेश किया गया यह विचार काफी आकर्षक और काम का लगता है, लेकिन अंततः कार्य सरकार की ही ओर से शुरू होना है जिसे उन्हें स्वयं आगे बढ़ाना है। अगर वास्तव में मंत्री की ओर से ऐसी कोई पहल की जाती है तो है यह भारतीय किसानी की तस्वीर बदल सकता है।

English summary
Explaining the concept, Gadkari said ‘equipment banks’ would be set up with funding from agencies like NABARD for procuring tractors, harvesters etc. Marginal farmers then can use these equipment, which otherwise remain out of their reach.
Story first published: Tuesday, November 14, 2017, 14:06 [IST]
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more