Tap to Read ➤

ट्रेन में क्यों होते हैं नीले, लाल और हरे रंग के डिब्बे?

जानें इन रंग के क्या है मायने
Vinay Sahu
तीन रंग
• भारत में ट्रेन के डिब्बे तीन रंग के

• नीले, लाल और हरे रंग के डब्बे शामिल

• तीनों रंग के डिब्बे में मिलते है अलग-अलग संकेत
नीला डिब्बा
• अधिकांश रेलवे कोच नीले रंग के

• ये कोच आईसीएफ या एकीकृत कोच

• इनकी रफ्तार रफ्तार 70-140 किलोमीटर प्रति घंटा
नीला डिब्बा
• ये कोच मिली है मेल एक्सप्रेस या सुपरफास्ट ट्रेनों में

• लोहे से बने होते हैं

• एयर ब्रेक से लैस होते हैं
लाल डिब्बा
• वर्ष 2000 में ये कोच जर्मनी से मंगाए जाते थे

• इन ट्रेनों को कहा जाता है 'लिंक हॉफमैन बुश'

• एल्युमिनियम से किया जाता है इनका निर्माण
लाल डिब्बा
• कपूरथला (पंजाब) में किया जाता है निर्माण

• स्टील के डिब्बों के मुकाबले होते है हल्के

• रफ्तार 200 किलोमीटर प्रति घंटे तक
हरा डिब्बा
• अक्सर गरीब रथ जैसे ट्रेनों में किये जाते है इस्तेमाल

• पहले नैरो-गेज पटरियों में चलने वाली ट्रेनों में होता था इस्तेमाल

• मीटर गेज पर कुछ ट्रेनों के कुछ डिब्बे होते है हरे