Tap to Read ➤

सीएनजी कारों की क्या है खामियां? आइये जानें

स्पेस की कमी
आमतौर पर सीएनजी कारों में सिलेंडर को डिक्की या बूट स्पेस में लगाया जाता है, जिससे बूट स्पेस की कमी हो जाती है।
उपलब्धता की कमी
पेट्रोल-डीजल फ्यूल स्टेशन आपको हर छोटे-बड़े शहर या गांव-कस्बों में मिल जाएंगे, लेकिन देश में अभी भी सीएनजी स्टेशन्स की भारी कमी है।
परफॉर्मेंस में कमी
सीएनजी कार चलाने वाले लोगों की शिकायत रहती है कि कार मन मुताबिक परफॉर्मेंस नहीं देती है।
इंजन के साथ दिक्कतें
पेट्रोल की तुलना में सीएनजी इंजन में इंजन फ्यूल और स्पार्क प्लग जल्दी खराब होता है।
कम रीसेल वैल्यू
सीएनजी कारों की रीसेल वैल्यू पेट्रोल-डीजल कारों की तुलना में कम होती है।
कम रीसेल वैल्यू
अगर आपके कार में आफ्टरमार्केट सीएनजी किट लगा है और आप उसे बेचने के लिए ले जाते हैं तो संभव है कि आपको कार की काफी कम रीसेल वैल्यू मिले।