अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

जहां एक ओर इलेक्ट्रिक वाहनों की बाजार बहुत तेजी से भारत में बढ़ती जा रही है, वहीं दूसरी ओर इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने के कई मामले भी सामने आ चुके हैं। इसे लेकर सरकार इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों में लगी आग के कई मामलों की जांच कर रही है।

Recommended Video

Ola S1 इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च | कीमत, फीचर्स, रेंज, चार्जिंग टाइम, बुकिंग, डिलीवरी जानकारी

इसी के चलते सुरक्षा व परफॉर्मेंस की लोगों को चिंता हो रही है।

अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

इसी चिंता के चलते अब ताजा जानकारी सामने आई है कि केवल 1 प्रतिशत घरेलू उपभोक्ताओं की योजना अगले छह महीनों में ई-स्कूटर खरीदने की है। इस बात का खुलासा एक रिपोर्ट में किया गया है। लगभग 32 प्रतिशत उत्तरदाता अगस्त में इलेक्ट्रिक स्कूटर की सुरक्षा और प्रदर्शन के बारे में आश्वस्त नहीं हैं।

अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

वहीं इस साल मार्च में यह संख्या 17 प्रतिशत थी। आपको बता दें कि सामुदायिक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लोकलसर्किल द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, मार्च और अप्रैल में दो दर्जन से अधिक इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों में आग लग गई।

अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

मार्च और अप्रैल में दो दर्जन से अधिक इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों में आग लगने के बाद ओला, प्योर ईवी और ओकिनावा जैसे इलेक्ट्रिक स्कूटर निर्माताओं द्वारा लगभग 7,000 यूनिट्स को स्वेच्छा से वापस बुला लिया गया था और उनकी जांच की गई थी।

अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

सरकार ने ईवी निर्माताओं के लिए एक विस्तृत जांच और 'गुणवत्ता-केंद्रित' दिशा-निर्देश तैयार करने के लिए सेंटर फॉर फायर, एक्सप्लोसिव एंड एनवायरनमेंट सेफ्टी (सीएफईईएस) और भारतीय विज्ञान संस्थान के विशेषज्ञों की एक समिति का गठन किया था, जो इलेक्ट्रिक दोपहिया के लिए दिशा-निर्देश जल्द ही जारी करेगी।

अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

ईवी में आग लगने का नतीजा यह है कि 11,000 से अधिक उत्तरदाताओं में से सिर्फ 1 प्रतिशत ने कहा कि वे अगले 6 महीनों में ई-स्कूटर खरीदने की योजना बना रहे हैं। लगभग 5 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदना चाहते हैं, लेकिन वह जहां रहते हैं, वहां ई-स्कूटर के लिए उपलब्ध बुनियादी इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं है।

अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

इसके अलावा 7 प्रतिशत ने कहा कि उनके पास ई-स्कूटर खरीदने के लिए धन नहीं है। सर्वे में यह भी पता चला है कि ई-स्कूटर के लिए भूख अधिक नहीं है, क्योंकि 31 प्रतिशत परिवार उन्हें ड्राइव नहीं करते हैं और अतिरिक्त 9 प्रतिशत ने साझा किया कि उनके पास घर पर पर्याप्त वाहन है, इसलिए दोपहिया खरीदने की कोई योजना नहीं है।

अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

सर्वे में यह भी कहा गया है कि आग की घटनाओं, जिसके परिणामस्वरूप वाहन के नुकसान के साथ-साथ कुछ लोगों को चोटें आईं, जिन्होंने उपभोक्ता भावनाओं पर प्रतिकूल प्रभाव डाला, जिससे दो महीने के लिए इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों की बिक्री में गिरावट दर्ज की गई है।

अगले 6 महीने में सिर्फ 1 प्रतिशत लोग इलेक्ट्रिक दोपहिया खरीदने की कर रहे प्लानिंग, सर्वे में हुआ खुलासा

एथर एनर्जी और ओला इलेक्ट्रिक को बिक्री में सबसे बड़ी गिरावट का सामना करना पड़ा है, क्योंकि ग्राहकों ने बैटरी आग की घटनाओं के बीच ईवी खरीदने में देरी की है। भारत में मौजूदा समय में 1,640 से अधिक चालू सार्वजनिक ईवी चार्जिंग स्टेशन हैं, जिनमें से 940 से अधिक नौ मेगासिटी में हैं।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Only 1 percent people are planning to buy electric 2 wheeler in 6 months details
Story first published: Tuesday, August 23, 2022, 18:49 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X