हर महीने बिकेगी 1 लाख यूनिट इलेक्ट्रिक स्कूटर, जानें एथर के सीईओ तरुण मेहता ने क्यों कही यह बात

बतातें चले कि जुलाई 2021 से मार्च 2022 में बिक्री 13,173 यूनिट से करीब 50,000 यूनिट के पास पहुंच गयी थी। इसका कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में मिलने वाली छूट, बाजार में कई नए प्रोडक्ट का आना, पेट्रोल की बढ़ती कीमत थी, जिस वजह से बीते वित्तीय वर्ष में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में भारी बढ़त दर्ज की गयी है लेकिन मई और जून महीने में इसमें गिरावट दर्ज की गयी है।

बतातें चले कि जुलाई 2021 से मार्च 2022 में बिक्री 13,173 यूनिट से करीब 50,000 यूनिट के पास पहुंच गयी थी। इसका कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में मिलने वाली छूट, बाजार में कई नए प्रोडक्ट का आना, पेट्रोल की बढ़ती कीमत थी, जिस वजह से बीते वित्तीय वर्ष में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में भारी बढ़त दर्ज की गयी है लेकिन मई और जून महीने में इसमें गिरावट दर्ज की गयी है।

बतातें चले कि जुलाई 2021 से मार्च 2022 में बिक्री 13,173 यूनिट से करीब 50,000 यूनिट के पास पहुंच गयी थी। इसका कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में मिलने वाली छूट, बाजार में कई नए प्रोडक्ट का आना, पेट्रोल की बढ़ती कीमत थी, जिस वजह से बीते वित्तीय वर्ष में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में भारी बढ़त दर्ज की गयी है लेकिन मई और जून महीने में इसमें गिरावट दर्ज की गयी है।

बतातें चले कि जुलाई 2021 से मार्च 2022 में बिक्री 13,173 यूनिट से करीब 50,000 यूनिट के पास पहुंच गयी थी। इसका कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में मिलने वाली छूट, बाजार में कई नए प्रोडक्ट का आना, पेट्रोल की बढ़ती कीमत थी, जिस वजह से बीते वित्तीय वर्ष में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में भारी बढ़त दर्ज की गयी है लेकिन मई और जून महीने में इसमें गिरावट दर्ज की गयी है।

2022 में जनवरी महीने में 27,590 यूनिट, फरवरी में 32,458 यूनिट, मार्च में 49,643 यूनिट इलेक्ट्रिक स्कूटर्स बेचे गये हैं। इसके बाद अप्रैल महीने में 49,189 यूनिट, मई महीने में 39,520 यूनिट व जून महीने में 42,262 यूनिट बेचे गये हैं। इस अचानक आई कमी का कारण सप्लाई चेन में आई बाधा व इलेक्ट्रिक स्कूटर्स में आग लगने की खबरों को माना जा रहा है।

बतातें चले कि जुलाई 2021 से मार्च 2022 में बिक्री 13,173 यूनिट से करीब 50,000 यूनिट के पास पहुंच गयी थी। इसका कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में मिलने वाली छूट, बाजार में कई नए प्रोडक्ट का आना, पेट्रोल की बढ़ती कीमत थी, जिस वजह से बीते वित्तीय वर्ष में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में भारी बढ़त दर्ज की गयी है लेकिन मई और जून महीने में इसमें गिरावट दर्ज की गयी है।

अब जब सप्लाई चेन फिर से बेहतर हो रहा है और वहीं इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की घटना को रोकने के लिए सरकार कदम उठा रही है तो ऐसे में तरुण मेहता का मानना है कि इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री ऊपर जायेंगी। उन्होंने कहा कि "मेरा मानना है कि अगले 12 महीने में ना सिर्फ हम उस आंकड़ें को पार करेंगे बल्कि इंडस्ट्री इस आंकड़ें को दोगुना करेगी।"

बतातें चले कि जुलाई 2021 से मार्च 2022 में बिक्री 13,173 यूनिट से करीब 50,000 यूनिट के पास पहुंच गयी थी। इसका कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में मिलने वाली छूट, बाजार में कई नए प्रोडक्ट का आना, पेट्रोल की बढ़ती कीमत थी, जिस वजह से बीते वित्तीय वर्ष में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में भारी बढ़त दर्ज की गयी है लेकिन मई और जून महीने में इसमें गिरावट दर्ज की गयी है।

इसके आगे मेहता ने कहा कि, "मैं आश्चर्यचकित होऊंगा अगर अगले मार्च तक हम (इंडस्ट्री) 1 लाख से अधिक यूनिट प्रतिमाह नहीं बेचते हैं। यह एक बहुत बड़ा मौका है, ग्राहक बहुत उत्सुक है क्योकि कीमत उन्हें जमती है, राइड क्वालिटी शानदार है और एक्सिलरेशन अच्छा है। यह बेहतर व आधुनिक लगते है तथा इलेक्ट्रिक भविष्य की तरह ही लगता है।"

बतातें चले कि जुलाई 2021 से मार्च 2022 में बिक्री 13,173 यूनिट से करीब 50,000 यूनिट के पास पहुंच गयी थी। इसका कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में मिलने वाली छूट, बाजार में कई नए प्रोडक्ट का आना, पेट्रोल की बढ़ती कीमत थी, जिस वजह से बीते वित्तीय वर्ष में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में भारी बढ़त दर्ज की गयी है लेकिन मई और जून महीने में इसमें गिरावट दर्ज की गयी है।

इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में बढ़त पेट्रोल स्कूटर्स की बिक्री में कमी के साथ आई है जो कि 2023 के पहली तिमाही में 50% कम हो गयी है। वर्तमान में कुल स्कूटर बिक्री में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की हिस्सेदारी 20% हो गयी है। हालांकि आग लगने की घटना की वजह से ग्राहकों की उत्सुकता में थोड़ी कमी आई है लेकिन अब सरकार इस दिशा में काम कर रही है।

कैसी चल रही एथर की बिक्री?

कैसी चल रही एथर की बिक्री?

एथर की जून 2022 में हुई बिक्री की बात करें तो कंपनी ने 9 गुना बढ़ोत्तरी का दावा किया है। कंपनी ने जून 2022 में कुल 3,231 यूनिट्स वाहनों की बिक्री की है। जबकि बीते साल इसी अवधि के दौरान कंपनी ने लगभग 359 यूनिट्स बेचे थे। हालांकि मासिक बिक्री के मामले में कंपनी ने गिरावट देखी है। मई 2022 में एथर की बिक्री 3,787 यूनिट्स की थी, कंपनी की बिक्री 14।68 प्रतिशत तक गिरी है।

बतातें चले कि जुलाई 2021 से मार्च 2022 में बिक्री 13,173 यूनिट से करीब 50,000 यूनिट के पास पहुंच गयी थी। इसका कारण इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में मिलने वाली छूट, बाजार में कई नए प्रोडक्ट का आना, पेट्रोल की बढ़ती कीमत थी, जिस वजह से बीते वित्तीय वर्ष में इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री में भारी बढ़त दर्ज की गयी है लेकिन मई और जून महीने में इसमें गिरावट दर्ज की गयी है।

बतातें चले कि एथर के अब 43 एक्सपीरिएंस सेंटर हैं, जो 35 शहरों में फैले हुए हैं। केरल में एथर 24 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी के साथ जून में सबसे अधिक बिकने वाला ईवी ब्रांड था। कंपनी अपने ग्राहकों के लाभ के लिए एथर ने मौजूदा बुकिंग को अपग्रेड करने का विकल्प प्रदान किया है। जो लोग इस विकल्प को चुनते हैं, उन्हें लॉन्च होने पर Ather 450 Plus और Ather 450X के नए मॉडल मिलेंगे।

ड्राइवस्पार्क के विचार

ड्राइवस्पार्क के विचार

एथर एनर्जी के सीईओ इलेक्ट्रिक स्कूटर्स को लेकर सकारात्मक रवैया दिखा रहे हैं और यह सच भी होता हुआ दिख रहा है, लेकिन आग लगने जैसी घटनाएं फिर से सामने आती है तो ग्राहकों का विश्वास इलेक्ट्रिक स्कूटर्स से उठा सकता है। अब देखना होगा इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री फिर से पटरी पर कब आती है।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Ather ceo tarun mehta says electric scooters sales will touch 1 lakh by 2023 details
Story first published: Friday, July 15, 2022, 18:14 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X