एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

By Abhishek Dubey

भारत में कई ऐसी क्लासिक बाइक रही हैं जिन्हें वक्त के साथ भूला दिया गया। वैसे भी भारत जैसे देश में अक्सर ऐसी मोटरसाइकिल की तलाश होती है जिसकी माइलेज बढियां हो। कई लोग तो परफॉपमेंस बाइक में भी माइलेज ढुंढते हैं। लेकिन 1980, 1990 से लेकर 2000 के दशक तक भारत में एक ऐसी परफॉरमेंस बाइक भी थी जिसमें लोग माइलेज नहीं ढूंढां करते थे। लोग इसे शान की सवारी समझते थे। इसका नाम Yamaha RD 350 (राजदूत) था। अधिकतर लोग इसे 'राजदूत' कहकर ही बूलाना पसंद करते थे।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

Yamaha RD 350 या राजदूत 350 को भारत में एक परफॉरमेंस बाइक के तौर पर लाया गया था। अपने शुरुआती दिनों में राजदूत 350 ने भारत में एक अलग ही पहचान बनाई। हालांकि बूलेट के रूप में इसे एक मजबूत प्रतिस्पर्धा मिलती रही।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

भारत में RD 350 को Escorts ग्रूप ने बनाया था। जिसमें यामहा और राजदूत के बीच इस बाइक को बनाने के लिए समझौता हुआ था।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

इतनी पॉपुलर बाइक की लॉन्च कीमत सुनेंगे तो आपको यकिन नहीं होगा। राजदूत 350 को उस वक्त 18 हजार रुपए एक्स शोरूम की कीमत पर उतारा गया था। हालांकि उस वक्त 18 हजार रुपए काफी बड़ी रकम होती थी। उस समय जो भी इस बाइक से चलता था, उसे अमीर माना जाता था।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

Yamaha RD मॉडल में कई परफॉरमेंस बाइक को उतारा गया था। जिसमें RX, RXZ और TZ 350 जैसी रेस बाइक्स शामिल थी। यामहा ने इन मोटर साइकिल्स में टू-स्ट्रोक इंजन दिया था, जिसने आगे चलकर ग्लोबल मार्केट में एक ट्रेंड सेट किया।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

Yamaha RD 350 में 347 सीसी का टू-स्ट्रोक ट्विन-सिलिंडर इंजन दिया था। भारत में इसे दो वेरिएंट HT (हाई टॉर्क) और LT (लो टॉर्क) में लॉन्च किया गया था। HT वेरिएंट 31 बीएचपी की पावर पैदा करता था वहीं LT मॉडल 27 बीएचपी बनाता था। बता दें की शुरूआत में ये सिर्फ HT वेरिएंट मिलता था और बाद में अर्थात 1985 में इसका LT वेरिएंट लॉन्च किया गया।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

Yamaha RD 350 को एक रैपिड मशिन के नाम से जाना जाता था। 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार पकड़ने में ये मात्र 6 सेकंड का समय लेती थी। हालांकि भारत में लॉन्च हुई Yamaha RD 350 में डिस्क ब्रेक ईत्यादि नहीं दिए गए थे। बाइक के दोनों पहियों में 150 मिलीमीटर का ड्रम ब्रेक लगा था।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

उस समय पुलिस विभाग को भी इस बाइक को दिया गया था, ताकि इसकी रफ्तार का उपयोग करके वो चोर को पकड़ पाएं। हालांकि इसकी रफ्तार को काबू में कर पाना हर किसी के बस में नहीं था। नौसिखिये लोग इससे एक्सीडेंट कर बैठते थे। ये बाइक एक्सीडेंट के लिए भी काफी बदनाम थी। कई लोग RD को 'रेस डेथ' कहके भी बुलाते थे।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

भारत में Yamaha RD 350 को रायल एनफील्ड को टक्कर देने के लिए बनाया गया था। उसमें ये कुछ हद तक सफल रहा लेकिन 1990 में इसका प्रोडक्शन बंद कर दिया गया, क्योंकि ये पॉपुलर तो थी पर इसकी बिक्री कम हो रही थी। इसमें कई कारण थे। इसका सबसे बड़ा कारण था कम माइलेज। जैसा की हमने ऊपर बताया कि भारत में लोग माइलेज वाली बाइक खरीदना पसंद करते हैं।

एवरग्रीन Yamaha RD 350 (राजदूत) - आज भी इस पर मरते हैं लोग

साथ ही बाइक की मेंटेनेंस और स्पेयर पार्ट काफी महंगा था। कंपनी की आफ्टर सेल सर्विस भी इतनी अच्छी नहीं थी, क्योंकि उनका नेटवर्क उतना बड़ा नहीं था। इस मॉडल के जो अन्य सिरिज RX, RXZ उतारे गए वो RD 350 की जगह लेने में कामयाब नहीं हो पाए।

Hindi
English summary
The Yamaha RD 350 — The Motorcycle Which Time Has Forgotten, But Enthusiasts Never Will! Read in Hindi.
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more