जानिए कावासाकी से एक दशक पुरानी पार्टनरशिप खत्म होने पर बजाज ने क्या कहा

Written By:

बजाज ऑटो ने कहा है कि कावासाकी के साथ साझेदारी खत्म करने का निर्णय देश के कंपनी के प्रदर्शन पर प्रतिकूल असर नहीं पड़ेगा। पुणे की इस कंपनी ने कहा कि 2009 में गठबंधन का गठन भारत में कावासाकी मोटरसाइकिल बेचने के लिए किया गया था। 250 सीसी से 650 सीसी तक की मोटरसाइकिल जापान से भारत में रिटेल में खरीदे गए थे।

नियामक फाइलिंग में बजाज ऑटो ने कहा, "टाई अप के बंद होने पर कंपनी के समग्र प्रदर्शन पर कोई असर नहीं पड़ता और न ही कंपनी की शेयर कीमत पर किसी भी कीमत पर यह अनुमान लगाया गया है। कंपनी ने कहा, "उच्च कीमत वाले मोटर साइकिल सेगमेंट में होने के कारण अब बिक्री कई सालों तक महत्वपूर्ण नहीं रही है।" 2015-16 की अवधि में केवल 867 कावासाकी मोटरसाइकिल बेचे गए थे।

गौर हो कि पिछले हफ्ते, बजाज ऑटो ने जापान में मोटरसाइकिल निर्माता कावासाकी के साथ भारत में बिक्री और सेवा के लिए एक दशक पुरानी साझेदारी खत्म करने का निर्णय लिया है। 1 अप्रैल, 2017 से, बजाज की प्रोबिक्सिंग शोरूम कावासाकी बाइक के साथ अब काम नहीं करेगा।

साझेदारी में तोड़ने के साथ, कावासाकी मोटरसाइकिल कावासाकी मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से बेची जाएगी। कावासाकी डीलरशिप भी बिक्री सेवा के बाद उपलब्ध कराई जाएगी।

आप नीचे बजाज की एक ब्रांड डोमिनार 400 की इमेज फुरसत से देख सकते हैं।

English summary
Bajaj Auto has stated that the decision to end the partnership with Kawasaki will not have an adverse impact on the company's performance in the country.
Story first published: Tuesday, March 28, 2017, 13:49 [IST]
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos