नो-एंट्री में रिक्शा चलाना पड़ा महंगा, ट्रैफिक पुलिस ने तोड़ डाला हेडलाइट

भारत में कई लोग पुलिस के व्यवहार के कारण उन्हें अधिक महत्व नहीं देते हैं। हर महीने ट्रैफिक पुलिस द्वारा किए गए गलत व्यवहार की कई खबरें सामने आती हैं। कुछ खबरें ऐसी होती हैं जिसमे पुलिस लोगों से बहुत बुरा व्यवहार करते हैं और उनके वहां को भी नुक्सान पहुंचाते हैं।

नो-एंट्री में रिक्शा चलाना पड़ा महंगा, ट्रैफिक पुलिस ने तोड़ डाला हेडलाइट

यहां तक ​​कि ट्रैफिक पुलिस को भी आम नागरिकों के साथ बुरा बर्ताव करते हुए पकड़ा गया है। ऐसे ट्रैफिक पुलिस वर्दी की ताकत का खौफ दिखा कर लोगों को नुक्सान पहुंचाते हैं।

नो-एंट्री में रिक्शा चलाना पड़ा महंगा, ट्रैफिक पुलिस ने तोड़ डाला हेडलाइट

इसी बीच पश्चिम बंगाल के वर्धमान से एक वीडियो सामने आया है जिसमे ट्रैफिक पुलिस के कुछ जवान इलेक्ट्रिक रिक्शा के हेडलैम्प और कंसोल बड़ी बेरहमी से तोड़ रहे हैं।

नो-एंट्री में रिक्शा चलाना पड़ा महंगा, ट्रैफिक पुलिस ने तोड़ डाला हेडलाइट

वीडियो में दिख रहा है कि ट्रैफिक पुलिस के जवान सवारी ले जाते हुए एक इलेक्ट्रिक रिक्शा को रोक कर उसे घेर लेते हैं और फिर डंडे से रिक्शा के हेडलाइट और मीटर पर तबतक प्रहार करते है जबतक वह चकनाचूर नहीं हो जाता है।

यह देख रिक्शा चालक काफी डर जाता है और बिना कोई विरोध किए रिक्शा से बहार निकल जाता है। वहां से गुजरने वाले हर इलेक्ट्रिक रिक्शा के साथ ट्रैफिक पुलिस यही करती है।

Most Read: 80 साल के इस ड्राइवर के लिए बस चलना नहीं है बड़ा काम, देखें वीडियो

नो-एंट्री में रिक्शा चलाना पड़ा महंगा, ट्रैफिक पुलिस ने तोड़ डाला हेडलाइट

ट्रैफिक पुलिस ऐसा इसलिए करती है क्योंकि रिक्शा वाले नो एंट्री में रिक्शा चला रहे होते हैं। बताया जाता है कि व्यस्त सड़क होने के कारण जाम से बचने के लिए इलेक्ट्रिक रिक्शा को वहां बैन किया गया है। लेकिन कुछ रिक्शा चालक नियमों को ताक में रख कर नो-एंट्री में भी घुस जाते हैं।

Most Read: एक्ट्रेस दिशा पटानी ने खरीदी लैंड रोवर की ये दमदार एसयूवी, जानिये क्या है खुबियां

नो-एंट्री में रिक्शा चलाना पड़ा महंगा, ट्रैफिक पुलिस ने तोड़ डाला हेडलाइट

इससे इससे परेशान आकर ट्रैफिक पुलिस ने यह कठोर कदम उठाया। दिल्ली में भी ट्रैफिक पुलिस रिक्शा चालकों को नियंत्रित करने के लिए टायर में किसी नुकीले चीज से छेद कर देती है।

Most Read: बाइक में दिए जाने वाले ये सेफ्टी फीचर्स हैं बहुत जरूरी, जानिए कैसे बचाते हैं आपकी जान

नो-एंट्री में रिक्शा चलाना पड़ा महंगा, ट्रैफिक पुलिस ने तोड़ डाला हेडलाइट

कई शहरों में धीरे चलने वाले तिपहिया इलेक्ट्रिक रिक्शा बैन किए गए है ताकि ट्रैफिक जाम की समस्या न आए। ट्रैफिक कानून के अनुसार इन रिक्शा को जब्त किया जा सकता है, लेकिन इसमें लंबी प्रक्रिया पूरी करनी पड़ती है जिससे ट्रैफिक पुलिस बचना चाहती है और ऐसे गलत तरीकों का सहारा लेती है।

नो-एंट्री में रिक्शा चलाना पड़ा महंगा, ट्रैफिक पुलिस ने तोड़ डाला हेडलाइट

ड्राइवस्पार्क के विचार

सड़क पर किसी भी प्रकार के मोटर चालक से ऐसा व्यवहार अमानवीय है। ट्रैफिक पुलिस को वाहन जब्त करने का अधिकार है न की वाहन को नुकसान पहुंचाने का। ऐसी अवैध गतिविधियों को रोकने के लिए उचित प्रक्रियाओं का पालन करना चाहिए। इस तरह की अमानवीय हरकत करने वाले पुलिस वालों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

Most Read Articles

Hindi
English summary
West Bengal cops break damage electric rickshaw intentionally video details. Read in Hindi.
Story first published: Wednesday, November 20, 2019, 15:19 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X