पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

Written By:

वो कहेंगे सर झुकाओ, तो झुकाओगे? वो कहेंगे धक्का मारों, तो मारोगे? तो भाइयों-बहनों... अब वो सब नहीं चलने वाला। बदलना चाहते हो कि नहीं? तो जोर से बोलों कार लाओ, बेकार बंद करो... डैटसन रेडी-गो लो...

जी हां.. टेलीविजन की दुनिया में दिखाया जाने वाला यह एड मौजूदा दौर का सबसे जाना पहचाना एड बन गया है और इसकी सबसे बड़ी वजह अभिनेता विनय पाठक का फेमस हस्तियों के गेटअप में डैटसन रेडी-गो कार का प्रचार करना है।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

आपको बता दें कि यह एड इन दिनों टीवी पर इतना हिट हुआ है कि लगभग हर चैनल पर यही एड दिखाया जा रहा है। यहीं नहीं इस एड को सोशल साइट से भी काफी सकारात्मक रिस्पांस मिल रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस एड का कांसेप्ट ही सबसे अलग है और मनोरंजन से भी भरपूर है।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

इसमें विनय पाठक न केवल मोदी बनकर डैटसन का प्रचार कर रहे हैं बल्कि वे रेडी-गो के अलग-अलग एड के लिए अलग हस्तियों के गेटअप मसलन बाबा रामदेव, लालू यादव के रूप में नजर आ रहे हैं, जो कि काफी लोकप्रिय हो गया है और लोगों द्वारा पसंद किया जा रहा है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह क्या है और किस कैम्पेन का हिस्सा है। तो आइए सबसे पहले यही बताते हैं।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

दरअसल मशहूर ऑटो कम्पनी डैटसन ने डैटसन रेडी-गो को बढ़ावा देने के लिए 'वोट फॉर चेंज' कैम्पेन को लॉन्च किया है। इस कैम्पैन का उद्देश्य छोटी खंड की कारों में अन्य कारों के मुकाबले रेडी-गो की खरीदारी को लेकर ग्राहकों को अवेयर करना है। यह मार्केटिंग का एक हिस्सा है।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

इन एडों के कांसेप्ट की बात करें तो यह आइडिया वहां से आया, जहां तरह-तरह के नेता चुनाव के मैदान में खड़े होते हैं और लोगों के पास अपनी पसंद का नेता चुनने का विकल्प होता है। सभी नेता खुद को सबसे अच्छा और सर्वश्रेष्ठ बताते हैं। ठीक इसी प्रकार कार मार्केट में भी कई कारें होती हैं, लेकिन लोगों को वह कार चुनने के लिए प्रेरित करते हैं जो उनके लिए ठीक हो।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

रेडी-गो के एक और एड-फिल्म में अर्नब गोस्वामी जैसा एक टेलीविजन एंकर चिल्लाता है और क्रांति की बात करता है तो वहीं एक दूसरे एड में लालू के डायलाग में भी रेडी-गो का प्रचार का किया जाता है। एक प्रचार में बाबा रामदेव भी आते हैं। कुल मिलाकर इस कैम्पेन का उद्देश्य़ किसी भी तरह से ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर खीचने का है।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

डैटसन का लक्ष्य इस अभियान के माध्यम से भारत के कार प्रेमी युवाओं में अपनी पहचान बनाना है। #VoteForChange अभियान में टीवी विज्ञापनों की एक सीरीज सहित मल्टीमीडिया गतिविधियों सहित बड़े सामाजिक सक्रियण चरण शामिल होगें, इसमें कई टीवी सीरीज हैं, जिसका रोल अभिनेता विनय पाठक अदा कर रहे हैं।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

यहां बात अभिनेता विनय पाठक की हो रही है तो आपको बता दें कि विनय पाठक एक फेमस टेलीविजन प्रजेंटेटर, फिल्म निर्माता और थियेटर कलाकार हैं। उनकी पहचान अपनी टाइमिंग और कामिक रोलों की वजह से हैं। उन्होंने कई क्रिटिकली अक्लेम्ड फिल्मों में काम किया है इसमें खोसला का घोसला, भेजा फ्राई और जानी गद्दार आदि शामिल हैं।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

विनय पाठक ने ब्लाकबस्टर फिल्म जैसे फिल्म रब ने बना दी जोड़ी में भी सर्पोटिंग रोल्स किए हैं। विनय का जन्म धनबाद, झारखंड में हुआ था और वे पले बढ़े भोजपुर, बिहार में थे। उन्होंने अपनी स्कूली पढ़ाई विकास विद्यालय, रांची से की। जबकि इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक हुए और बाद में हायर स्टडीज के लिए यूनाइटेड स्टेट्स चले गए।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

विनय की शादी सोनिका सहाय से हुई है। उनकी दो लड़कियां हैं जिसमें से एक को उन्होंने एडाप्ट किया है। उन्होंनें कई फिल्मों में छोटे रोल्स किए लेकिन वे फिल्म खोसला का घोसला में नोटिस किए गए। उसके बाद भेजा फ्राई में उनकी परफार्मेंस को खूब वाहवाही मिली।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

विनय को सुशील राजपाल द्वारा निर्देशित फिल्म अंतरद्वंद ने 2009 में सामाजिक मुद्दे पर की सर्वश्रेष्ठ फिल्म का नेशनल फिल्म अवार्ड जीता और अब डैटसन ब्रांड के साथ जुड़कर उनकी कारों को हर घऱ तक पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

हां.. बात डैटसन रेडी-गो के बारे में करें तो डैटसन जापान की मशहूर ऑटो कम्पनी निसान का एक जाना माना ब्रांड है और कम्पनी ने इसका वास्तिवक प्रोडक्शन साल 1931 में शुरू किया था।

निसान ने डैटसन का एक्सपोर्ट 1958 से 1986 के बीच किया। बाद में 1986 में डैटसन को बंद कर दिया, लेकिन इस ब्रांड की दोबारा लॉन्चिंग साल 2013 से फिर शुरू की गई।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

आज के दौर में डैटसन रेडी-गो पेट्रोल और डीजल दोनों वैरिएंट में उपलब्ध है और इसे काफी अफोर्डेबल कार माना जा रहा है। कम्पनी ने हाल ही रेडी-गो के 1.0 लीटर के वैरिएंट को भी लॉन्च किया है और डैटसन इंडिया के माध्यम भारत में लगातार अपनी पैठ बनाने का कार्य कर रहा है। निसान इस वक्त कारों की बिक्री के मामले में दुनिया की नम्बर-1 कम्पनी है।

Drivespark की राय

Drivespark की राय

किसी प्रोडक्ट के लिए कम्पनी द्वारा प्रचार किया जाना गलत नहीं है और अगर कोई कम्पनी लोगों के जेहन में किसी ब्रांड को "ठंड़ा मतलब कोका-कोला" टाइप का पैठ बैठाना चाहता है तो यह एक स्वागतयोग्य कदम है।

पीएम मोदी के गेटअप में रेडी-गो का प्रचार! आखिर माजरा क्या है? आइए जानते हैं...

डैटसन का #VoteForChange कैम्पैन दर्शाता है कि कम्पनी अपने ब्रांड को लेकर कितना सजग है। हां, दावा कोई भी हो, वह भ्रामक नहीं होना चाहिए। हाल ही में रेडी-गो के मूल्य के भ्रामक विज्ञापन के लिए निसान की खिचाई भी की गई है। लेकिन उम्मीद है कम्पनी इस गलती को दोहराएगी नहीं।

नीचे आप डैटसन रेडी-गो के कैम्पेन का वीडियो देख सकते हैं--

English summary
Actor Vinay Pathak is in the news about the promotion of Datsun Ready Go. Let's know how much of this ad television has put them in the world.
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos