भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को मुंबई के मझगांव डॉक लिमिटेड (एमडीएल) में भारतीय नौसेना के दो स्वदेशी युद्धपोतों का शुभारंभ किया। नौसेना डिजाइन निदेशालय (डीएनडी) में डिजाइन किए गए और पूरी तरह से आत्मनिर्भर भारत मिशन के हिस्से के रूप में एमडीएल में निर्मित युद्धपोत, प्रोजेक्ट 15 बी विध्वंसक भारतीय नौसेना जहाज (INS) Surat और प्रोजेक्ट 17 ए फ्रिगेट INS Udaygiri हैं।

भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

नौसेना डिजाइन निदेशालय (DND) द्वारा 15B और P17A दोनों जहाजों को इन-हाउस डिजाइन किया गया है। शिपयार्ड में निर्माण चरण के दौरान, उपकरण और प्रणालियों के लिए लगभग 75% ऑर्डर एमएसएमई सहित स्वदेशी फर्मों को दिए गए हैं। तो चलिए आपको बताते हैं कि इन दोनों युद्धपोतों में क्या खास है।

भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

INS SURAT

15B केटेगरी के जहाज भारतीय नौसेना की अगली-जनरेशन के स्टील्थ गाइडेड मिसाइल विध्वंसक हैं, जिन्हें मझगांव डॉक्स लिमिटेड, मुंबई में बनाया जा रहा है। 'INS SURAT' प्रोजेक्ट 15B डिस्ट्रॉयर्स का चौथा जहाज है, जो P15A (कोलकाता क्लास) डिस्ट्रॉयर्स के मेकओवर की शुरुआत करता है।

भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

इसके साथ ही इसका नाम गुजरात राज्य की कमर्शियल राजधानी के नाम पर रखा गया है और जो मुंबई के बाद पश्चिमी भारत का दूसरा सबसे बड़ा कमर्शियल केंद्र भी है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सूरत शहर का एक समृद्ध समुद्री और जहाज निर्माण इतिहास है।

भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

बता दें कि 16वीं और 18वीं शताब्दी में शहर में निर्मित जहाजों को उनकी लंबी उम्र (100 से अधिक वर्षों से अधिक) के लिए जाना जाता था। INS Surat जहाज को ब्लॉक निर्माण पद्धति का उपयोग करके बनाया गया है, जिसमें दो अलग-अलग भौगोलिक स्थानों पर पतवार का निर्माण शामिल है।

भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

इसे एमडीएल, मुंबई में एसेम्बल किया गया है। जानकारी के अनुसार इस कैटेगरी के पहले जहाज को साल 2021 में कमीशन किया गया था। अब इस कैटेगरी के दूसरे और तीसरे जहाजों को लॉन्च किया गया है और वे आउटफिटिंग / परीक्षण के विभिन्न चरणों में हैं।

भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

INS UDAYGIRI

इस जहाज का नाम आंध्र प्रदेश राज्य में एक पर्वत श्रृंखला के नाम पर रखा गया है। INS Udaygiri प्रोजेक्ट 17A फ्रिगेट्स का तीसरा जहाज है। ये जहाज बेहतर स्टील्थ फीचर्स, उन्नत हथियार और सेंसर व प्लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्टम के साथ P17 फ्रिगेट्स (शिवालिक क्लास) के फॉलो-ऑन हैं।

भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

'INS Udaygiri' पूर्ववर्ती 'Udaygiri', लिएंडर क्लास एएसडब्ल्यू फ्रिगेट का पुनर्जन्म है, जिसका 18 फरवरी, 1976 से 24 अगस्त, 2007 तक तीन दशकों में अपनी सेवा में कई चुनौतीपूर्ण संचालन में इस्तेमाल किया गया। P17A कार्यक्रम के तहत एमडीएल में 04 और जीआरएसई में 03 के साथ कुल सात जहाज निर्माणाधीन हैं।

भारतीय नौसेना की शान बढ़ाने वाले हैं ये दो विध्वंसक पोत, जानें INS Surat और INS Udaygiri के बारे में

इस परियोजना में स्वदेशी युद्धपोत डिजाइन और निर्माण में पहली बार विभिन्न नवीन कॉन्सेप्ट और प्रौद्योगिकियों जैसे इंटीग्रेटेड निर्माण, मेगा ब्लॉक आउटसोर्सिंग, परियोजना डेटा प्रबंधन / परियोजना जीवनचक्र प्रबंधन (पीडीएम / पीएलएम) आदि को अपनाया गया है।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Rajnath singh launched two warships ins surat and ins udaygiri details
Story first published: Thursday, May 19, 2022, 13:05 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X