रेलवे स्टेशनों पर पीले संकेतों पर क्यों लिखी होती है समुद्र तल से ऊंचाई, जानिए क्या है इसका कारण

आपने कभी न कभी ट्रेन का सफर किया होगा और रास्ते में कई रेलवे स्टेशनों को देखा होगा, जहां एक बोर्ड पर उस स्टेशन का नाम लिखा होता है और साथ ही उस स्टेशन की समुद्र तल से ऊंचाई भी लिखी होती है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि रेलवे स्टेशनों पर इन पीले रंग के बोर्ड्स पर जगह के नाम के साथ समुद्र तल से ऊंचाई की जानकारी क्यों दी जाती है?

रेलवे स्टेशनों पर पीले संकेतों पर क्यों लिखी होती है समुद्र तल से ऊंचाई, जानिए क्या है इसका कारण

इन पीले रंग के संकेतों पर हिंदी, अंग्रेजी या स्थानीय भाषा में जगह के नाम लिखे होते हैं और कई भाषाओं में नाम के साथ-साथ समुद्र तल से स्टेशन की ऊंचाई का भी उल्लेख मिलता है। आपको बता दें कि भारतीय रेलवे नेटवर्क दुनिया के सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क में से एक है।

रेलवे स्टेशनों पर पीले संकेतों पर क्यों लिखी होती है समुद्र तल से ऊंचाई, जानिए क्या है इसका कारण

भारतीय रेलवे के हर स्टेशन पर आपको एक स्टेशन मास्टर का कार्यालय और पूछताछ केंद्र मिलता है। इसके अलाव रेलवे ने यात्रियों की यात्रा के दौरान किसी भी शिकायत के लिए एक हेल्पलाइन नंबर, 139 भी जारी किया है। लेकिन इसके बाद भी हर यात्री रेलवे स्टेशन के आरंभ और अंत पर लगे इन पीले साइनबोर्ड्स को देखते हैं।

रेलवे स्टेशनों पर पीले संकेतों पर क्यों लिखी होती है समुद्र तल से ऊंचाई, जानिए क्या है इसका कारण

इन्हें देखकर ही यात्री इस बात का पता लगा पाते हैं कि उन्हें अभी कितनी यात्रा और करनी है और वे किस स्टेशन पर पहुंचे हैं। किसी भी स्टेशन का नाम खोजने का प्रयास करते समय आपने समुद्र तल से स्टेशन की ऊंचाई का उल्लेख करने वाले आंकड़े भी देखे होंगे।

रेलवे स्टेशनों पर पीले संकेतों पर क्यों लिखी होती है समुद्र तल से ऊंचाई, जानिए क्या है इसका कारण

समुद्र तल से स्टेशन की ऊंचाई को 'मीन सी लेवल' (MSL) के रूप में प्रमुखता से लिखने का कारण भारतीय रेलवे की ट्रेनों में आने वाले सभी यात्रियों की सुरक्षा के लिए है। आप आप सोच रहे होंगे कि मीन सी लेवल का जिक्र यात्रियों की सुरक्षा से कैसे जुड़ा है।

रेलवे स्टेशनों पर पीले संकेतों पर क्यों लिखी होती है समुद्र तल से ऊंचाई, जानिए क्या है इसका कारण

मीन सी लेवल सीधे लोको पायलटों (ट्रेन चालकों) और गार्डों को उस ऊंचाई के बारे में सचेत करता है जिस पर वे यात्रा कर रहे हैं। मीन सी लेवल की मदद से एक लोको-पायलट ट्रेन की गति को नियंत्रित करता है। यदि ट्रेन अधिक ऊंचाई की ओर बढ़ रही है, तो लोको-पायलट ट्रेनों के सुचारू रूप से चलने के लिए इंजन के अनुसार शक्ति प्रदान करते हैं।

रेलवे स्टेशनों पर पीले संकेतों पर क्यों लिखी होती है समुद्र तल से ऊंचाई, जानिए क्या है इसका कारण

भारतीय रेलवे ने मार्च 2020 से, पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा के बाद, कोरोनावायरस श्रृंखला को तोड़ने के लिए अपनी यात्री सेवा को रोक दिया था। अनलॉक के साथ ही भारतीय रेलवे ने देश भर के महत्वपूर्ण शहरों को जोड़ने के लिए कई स्पेशल ट्रेनें शुरू की हैं।

रेलवे स्टेशनों पर पीले संकेतों पर क्यों लिखी होती है समुद्र तल से ऊंचाई, जानिए क्या है इसका कारण

लोग अभी भी भारतीय रेलवे की नियमित समय सारिणी ट्रेनों के शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Railway stations have sign board of height from sea level in yellow color reason details
Story first published: Friday, May 13, 2022, 18:06 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X