2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

By Deepak Pandey

नेपाल के राष्ट्रीय स्तर के पेशेवर बॉडी बिल्डर सुकदेव एक बाइकर भी है और एक दिन अपने दोस्तों के साथ खाली सड़क पर अभ्यास कर रहे थे लेकिन इस सड़क पर कुछ ऐसा हो गया जिसने सुकदेव की पूरी लाइफ बदलकर रख दी।

2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

आप नीचे दिए जा रहे वी़डियो में भी देख सकते हैं कि सुकदेव की कार से कैसे भिड़न्त होती है और यह हादसा कितना खतरनाक था। इस दौरान सुकदेव के दोस्त इस वीडिय़ो को शूट कर रहे थे। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि कैसे बाइक राइडर आगे बढंता है और कैसे यह हादसा हो जाता है।

आपको बता दें कि इस दुर्घटना में केटीएम ड्यूक 390 भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई थी क्योकि हिल्क्स पिकअप के सामने वाले हिस्से ने सुकदेव और उनकी बाइक को हवा में फेंक दिया गया था। दुर्भाग्य की बात यह थी कि सुकदेव अपने दस्ताने और हेलमेट के अलावा कुछ भी नहीं पहन रखा था।

2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

घटना के बाद गनीमत यह रही कि उन्होंने हेलमेट पहन रखा था जिससे उनके सिर में चोट नहीं लगी और उनकी जान बच गई लेकिन उनका शरीर इतना चोटिल हो गया था जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। दुर्घटना के बाद सुकदेव को एंबुलेंस के जरिए अस्पताल तक पहुंचाया गया।

2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

अस्पताल में एक्स-रे स्कैन से पता चला कि इस हादसे में सुकदेव के शरीर की 18 हड्डियां टूट चुकी हैं। इसमें उनके दोनों पैरों में कई फ्रैक्चर थे। हाथ, छाती और पूरी शरीर में कई फ्रैक्चर हुए। सर्जरी करने वाले डॉक्टर्स ने तो यहां तक कह दिया कि अब यह कभी जिम नहीं जा पाएगा।

2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

वास्तविकता देखा जाए तो यह हादसा सुकदेव के परिजनों, खुद सुकदेव और उसके दोस्तों के लिए हैरान करने वाला था। वह वक्त बहुत भावुक था। कईयों ने तो यहां तक कहा कि वह उस दुर्घटना में मर गया होता तो यह बेहतर होता लेकिन सुकदेव ने हिम्मत नहीं हारी और नतीजन एक दिन उसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया।

2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

अस्पताल से आने के बाद सुकदेव ने अपना पहला जन्मदिन बिस्तर पर दोस्तों और परिवार के साथ अपना जन्मदिन मनाया, क्योंकि वह अभी तक चलने में सक्षम नहीं था। धीरे-धीरे, उसने अपने शरीर को ताकत के लिए प्रशिक्षण देना शुरू कर दिया।

Recommended Video - Watch Now!
सुजुकी इन्ट्रूडर 150 भारत में हुई लॉन्च | Suzuki Intruder 150 Launched In India - Hindi DriveSpark
2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

दुर्घटना के 3 महीने बाद, सुकदेव फिर से अपने पैरों पर खड़े हुआ। यह उसके लिए चलने सीखने का समय था। यह एक दर्दनाक प्रक्रिया थी क्योंकि धातु के प्रत्यारोपण उसके घुटनों और पैरों में किए गए थे। वे बड़े सुइयों की तरह थे और हमेशा पैरों को चोट पहुंचा रहे थे।

2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

हालंकि दिन, सप्ताह, महीने बीतने के साथ सुकदेव का दर्द भी जाता रहा और उसके दोस्त उसे बाहर भी ले जाने लगे। वह जिम जाने लगा और एक दिन ऐसा भी आया जब उसने केवल दो सालों के अंदर डॉक्टरों को गलत साबित कर दिया। इस दौरान उसने फिर से एक नई बाइक खरीदी और अब पहले से कहीं ज्यादा फिट और हिट है।

2 साल पहले केटीएम ड्यूक 390 से हुआ था यह खतरनाक हादसा, लेकिन...

आपको जानकर हैरानी होगी कि आज, सुकदेव एक पेशेवर बॉडी बिल्डर, बाइकर, टूरिस्ट, फोटोग्राफर और एक ड्रोन पायलट है। कैसे जीवन में और अधिक काम करने किया जाए इसके लिए वह रोज सीख रहा है और मेहनत कर रहा है।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

तो देखा आपने कैसे अपनी इच्छाशक्ति और मेहनत के दम पर इस यंग स्टार ने डॉक्टर्स को भी झुठला दिया लेकिन इस घटना का सबक यह है कि बाइकिंग हो या कार ड्राइविंग जब भी करें सावधानी से करें और सुरक्षित रहें क्योंकि हर कोई सुकदेव जैसा किस्मतवाला भी नहीं होता है।

English summary
A video showing how a KTM Duke 390 rider collided head on with a Toyota pickup in Nepal is will chill your bones.
Story first published: Wednesday, November 22, 2017, 16:01 [IST]
भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more