Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

देश का दक्षिणी राज्य केरल इस समय बाढ़ की भयंकर तबाही से जूझ रहा है। देश के कई और भी ऐसे हिस्से हैं जहां पर बरसात कहर बनकर टूटी है। ऐसे में सड़क पर ड्राइव करना या फिर वाहन से किसी सुरक्षित स्थान के लिए पलायन करना सबसे बड़ा चुनौती भरा काम होता है। क्योंकि प्रकृति जब अपना रौद्र रूप धारण करती है तो उस पर इंसान का बस कमजोर पड़ने लगता है।

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

लेकिन बावजूद इसके यदि आप कुछ गुण बातों पर ध्यान देते हैं तो ऐसी स्थिती में सुरक्षित ड्राइविंग किया जा सकता है। आज हम आपको अपने इस लेख में ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में बतायेंगे जिनका प्रयोग आप बाढ़ जैसी स्थिती में कर सकते हैं और ड्राइव करते हुए सुरक्षित स्थान तक पहुंच सकते हैं। तो आइये जानते हैं उन महत्वपूर्ण टिप्सों के बारे में -

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

पानी से भरे हुए रास्ते पर जाने से बचें:

बारिश के दौरान कई लोगों को पानी में तेज रफ्तार से गाड़ी चलाने में मजा आता है साथ ही वो जान बुझकर ऐसे रास्तों पर गाड़ी दौड़ाते हैं जहां पर जल जमाव होता है ताकि वो पानी की बौछारें निकाल सकें। हो सकता है कि, ऐसा करने में आपको भी मजा आता हो लेकिन ऐसा करना मुश्किल को दावत देने जैसा है। जी हां, कई बार पानी का कुछ हिस्सा कार के बोनट और अन्य खुले हुए रास्तों से इंजन में दाखिल हो जाता है जिसके कारण तकनीकी खराबी आने की संभावनाएं बढ़ जाती है। इसके अलावा आपके इस कारनामे से सड़क पर पैदल या दोपहिया वाहनों से चल रहे लोगों को भी भारी परेशानी होती है। इसलिए ऐसा करने से बचें और स्लो स्पीड में सुरक्षित ड्राइव करें।

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

वाहनों के बीच रखें बेहतर दूरी:

जब भी आप ड्राइव करें उस वक्त आगे चल रहे वाहनों के बीच में एक औसत दूरी रखें। क्योंकि जब पानी से भरे हुए सड़क पर वाहन चलता है तो वो अपने से पीछे की दिशा में भारी मात्रा में पानी को फेंकता है। ये ठीक वैसा ही होता है जैसा कि नदी या समुद्र में किसी बोट या स्टीमर के चलने पर होता है। ऐसी स्थिती में यदि आप अपने वाहन को सामने वाले के बिलकुल नजदीक रखेंगे तो उससे उठने वाला पानी आपकी कार के फ्रंट ग्रील के रास्ते इंजन में भी जा सकता है जिसकी वजह से आपकी कार बंद भी पड़ सकती है। ऐसा कुछ होने की संभावना उस वक्त और बढ़ जाती है जब आपकी कार छोटी हो और आप किसी बड़े वाहन जैसे बस आदि के पीछे चल रहे हों। इसलिए आगे चलने वाले वाहन से एक उचित दूरी बनाये रखें।

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

आगे वाले वाहन चालक की करने से बचें:

सभी वाहन अपने इंजन, आकार प्रकार और फीचर्स के मामले में अलग होते हैं। इसलिए ऐसा जरूरी नहीं है कि जो वाहन पानी से भरे रास्तों पर आसानी से चल सकता है वैसे ही दूसरे वाहन भी चलें। कुछ वाहन चालकों को देखा जाता है कि, वो अपने से आगे वाले वाहन चालकों को किसी अंध भक्त की तरह विश्वास करते हैं।

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

इस दौरान वो बिना किसी तस्दीक के ही अपने वाहन को सामने वाले वाहन के पीछे लगा देते हैं और ऐसा सोचते हैं कि, जहां भी वो वाहन जायेगा मैं उधर निकल जाउंगा। ऐसी गलती कत्तई न करें, क्योंकि कई बार लोग दूसरों की गलती की वजह से खुद को मुसीबत में डाल देते हैं। इसलिए किसी भी वाहन को अंधभक्त की तरह फॉलो न करें। पहले रास्तें के बारे में खुद तस्दीक करें उसके बाद ही किसी वाहन के पीछे अपनी कार को लगायें।

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

अचानक ब्रेक न लगायें:

जब आप पानी से भरे रास्ते से गुजरते हैं तो कई बार ऐसी स्थिती आपके सामने आती है कि आपको ब्रेक लगाने की जरूरत पड़ती है। लेकिन ऐसी दशा में कभी भी तत्काल ब्रेक का इस्तेमाल न करें। ये एक ऐसी समस्या है जिसे आम तौर पर ज्यादातर वाहन चालकों में देखने को मिलती है। कई बार लोग बरसात के दौरान सड़क पर अचानक से ब्रेकर या फिर किसी गढ्ढे के आ जाने पर अचानक से ब्रेक मारते हैं। आपको बता दें कि, ये बेहद ही खतरनाक होता है। इससे गाड़ी के स्कीड यानी की फिसलने के चांसेज बढ़ जाते हैं। इसके अलावा यदि आप ऐसे रास्ते पर हैं जहां पर भारी जल जमाव है तो वहां पर ब्रेक मारने के बाद पानी एक्जॉस्ट के रास्ते भीतर भी आ सकता है जिससे आपकी कार बंद हो सकती है। इसलिए यदि आपने बिना देखे ब्रेकर या फिर गढ्ढे के उपर से गाड़ी निकाल दी है तो अचानक से ब्रेक न मारें और हल्के से वाहन की गति को संभालते हुए आगे बढ़ें।

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

ब्रेक को चेक करें:

जब आप ऐसे रास्तों से आगे निकल जायें जहां भारी जल जमाव था, तो अपने वाहन को किसी सुखे और सुरक्षित स्थान पर रोकें और वाहन के ब्रेक्स और अन्य हिस्सों को चेक करना न भूलें। इस दौरान समय समय पर ब्रेक को अप्लाई करते रहें ताकि, भीतर से वो सूख जाये और उसका प्रभाव कम न हो। कई लोग ऐसा नहीं करते हैं तो इस बात का पूरा ख्याल रखें कि, आप तत्काल ऐसे इलाके से होकर आयें हैं जहां पर भारी जल जमाव था। तो ऐसे में पूरा चांस है कि, पानी आपके वाहन के भीतरी हिस्सों में चल गया हो। ऐसे में वाहन को रोक कर चेक करना न भूलें।

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

दोपहिया वाहनों को फॉलो न करें:

जब सड़क पूरी तरह से पानी से भर जाता है तो उस वक्त सड़क पूरी तरह से दिखाई नहीं देती है। ऐसे में जब आप किसी दोपहिया वाहन को फॉलो करते हैं तो अपने लिए मुश्किलें और भी बढ़ाते हैं। क्योंकि सड़क पर गढ्ढों या नालों का होना आम बात है और यदि कोई दोपहिया वाहन उस रास्ते से बचकर निकल जाता है तो ये जरूरी नहीं कि आपकी चार पहिया वाहन भी वहां से निकल पायेगी। ऐसी स्थिती में कुछ भी हो सकता है, यदि आपके कार का पहिया किसी नाले या गढ्ढे में फंस गया तो मुश्किल और भी बढ़ जायेगी। इसलिए कोशिश करें कि दोपहिया वाहनों को नजरअंदाज किया जाये।

Kerala Floods 2018: बाढ़ जैसी विकट स्थिती में कैसे करें सुरक्षित ड्राइविंग

केरल में आई बाढ़ पर ड्राइवस्पार्क के विचार:

केरल अब तक की सबसे बड़ी प्राकृतिक त्राषदी से जूझ रहा है, पिछले 94 सालों में केरल में बाढ़ की ऐसी स्थिती देखने को नहीं मिली थी। लाखों लोग इस भयंकर बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं जिनमें से न जाने कितनों ने अपना घर खोया है और न जाने कितनों की मौत हो गई है। इस समय पूरा देश केरल की स्थिती से गमजदा है। सरकार, सेना, एनडीआरएफ की टीमें लगातार लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने में लगी है। वहीं देश के कुछ सेलिब्रेटी ने दुख के इस घड़ी में केरल सरकार को मदद भी किया है। लेकिन ये सब इतना पर्याप्त नहीं है पूरा राज्य ही शोक में है अब तक हजारों करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है। ऐसी स्थिती में मानवता ही एक दूसरे को सुरक्षित रखने में काम आती है। हम चाहकर भी प्रकृति से वाद नहीं कर सकते हैं लेकिन अपनो की मदद कर उन्हें राहत जरूर पहुंचा सकते हैं। आज केरल को मदद की दरकार है यदि आप भी केरल को मदद करना चाहते हैं तो आप भी इस वेबसाइट के माध्यम से कुछ धनराशि दान कर सकते हैं। https://donation.cmdrf.kerala.gov.in/

Hindi
English summary
Kerala Floods 2018: God's Own Country has never before seen a calamity of this extent, in at least 90 years. Many roads are submerged under almost one metre of water and traffic is on a standstill. If you are living in or around Kerala and have to urgently cross a flooded area in your vehicle, keep these things in mind!
Story first published: Monday, August 20, 2018, 21:00 [IST]
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more