मार्च में ही जनता को समर्पित होने जा रही है भारत की सबसे बड़ी "सुरंग", जानिए क्या है खास?

Written By: Deepakkumar

करीब 9.2 किलोमीटर वाली भारत सबसे लंबी सड़क सुरंग बनकर तैयार हो गई है और यह मार्च 2017 में ही लोगों को समर्पित होने के लिए तैयार है। चेन्नई और नाशरी को जोड़ने वाली इस सुरंग को "आशा की सुरंग" कहा जा रहा है और उम्मीद किया जा रहा है कि यह सभी मौसम में देश के दूसरे छोर यानि जम्मू-कश्मीर को कनेक्ट करने का कार्य करेगी।

मार्च में ही जनता को समर्पित होने जा रही है भारत की सबसे बड़ी

पीएमओ से प्राप्त एक रिपोर्ट के मुताबिक इस प्रोजेक्ट का लोकार्पण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किया जा सकता है। इस सुरंग के कार्य का प्रारम्भ मई 2011 में शुरू हुआ था और इसे अगस्त 2016 तक पूरा कर लिया गया है।

मार्च में ही जनता को समर्पित होने जा रही है भारत की सबसे बड़ी

इस बारे में राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारिक सुत्रों ने कहा कि इस गलियारे की शुरूआत के बाद क्वाजीगुंड और बनिहाल तक राज्य के अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा और यह देश के दूसरे छोर जम्मू और कश्मीर को जोड़ते हुए स्थानीय दूरी को कम से कम 50 किमी कर देगा।

मार्च में ही जनता को समर्पित होने जा रही है भारत की सबसे बड़ी

Chenani और Nashri को जोड़ने वाली इस टनल में किसी भी आपात परिस्थिति से निपटने के लिए अलग से एक 9.3 मीटर के सिंगल रोड का निर्माण किया गया है जबकि क्वाजीगुंड-बनिहाल की पहुंच वाला मार्ग सात-सात मीटर का जुड़वां ट्यूब है।

मार्च में ही जनता को समर्पित होने जा रही है भारत की सबसे बड़ी

एक बार इस टनल के शुरू हो जाने के बाद व्यापारियों और फ्रुट पैदा करने वाले किसानों को बढ़ा फायदा होगा और वे इसके माध्यम से अपने प्रोडक्ट को देश के किसी भी कोने में ले जाने और बेचने को सक्षम होंगे। यह इन्हें विंटर और समर दोनों सीजन में बेहतर ट्रांसपोर्ट का माध्यम उपलब्ध करवाएगा।

मार्च में ही जनता को समर्पित होने जा रही है भारत की सबसे बड़ी

इसके अलावा यह टनल इस क्षेत्र में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग को बढ़ावा देगा और स्थानीय लोगों के लिए नौकरियों के अवसर लेकर आएगा।

मार्च में ही जनता को समर्पित होने जा रही है भारत की सबसे बड़ी

जबकि प्रत्येक मौसम में भी उस मार्ग से आवाजाही को फायदा होगा।

Read more on #off beat
English summary
India is all set to receive its longest road tunnel of 9.2km and will open in March 2017, connecting Chenani and Nashri in Jammu & Kashmir is being touted as the "Tunnel of Hope". The structure ensures that all-weather connectivity will decrease the reach between Jammu and Kashmir by 38km.
Story first published: Friday, March 10, 2017, 11:08 [IST]
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos