बिना स्टैंड के पार्क होती है स्कूटर! बुलाने पर आ जाती है सामने, देखें आईआईटी ग्रेजुएट्स का करिश्मा

भारत में ज्यादातर लोग परिवहन के लिए बाइक और स्कूटर जैसे दोपहिया वाहनों पर निर्भर हैं। बाइक और स्कूटर भले किफायती होते हैं लेकिन कई कारणों से, सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं में सबसे अधिक संख्या में दोपहिया वाहन ही शामिल होते हैं। इसी समस्या का समाधान निकालने के लिए दो आईआईटी ग्रेजुएट्स ने टू-व्हीलर स्टार्टअप कंपनी, लाइगर मोबिलिटी (Liger Mobility) की शुरूआत की और करीब दो साल के रिसर्च के बाद देश की पहली सेल्फ बैलेंसिंग इलेक्ट्रिक स्कूटर का खुलासा किया।

बिना स्टैंड के पार्क होती है स्कूटर! बुलाने पर आ जाती है सामने, देखें आईआईटी ग्रेजुएट्स का करिश्मा

बिना स्टैंड के पार्क होती है स्कूटर

यह स्कूटर अपने आप ही अपना बैलेंस बनाती है इसलिए इसे पार्क करते समय स्टैंड की जरूरत नहीं पड़ती। हालांकि, यह स्कूटर अभी अपने डेवलपमेंट फेज में है और कंपनी ने इसकी लॉन्च की घोषणा नहीं की है। इस स्कूटर को बनाने वाली कंपनी लाइगर का कहना है कि सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर राइडिंग को सुरक्षित को चिंतामुक्त बनाती है। चूंकि यह स्कूटर अपना संतुलन अपने आप बनाती है, इसलिए पहली बार स्कूटर सिखने वाले लोग अगर इसे चलाएंगे तो उन्हें गिरने का कोई खतरा नहीं होगा।

बिना स्टैंड के पार्क होती है स्कूटर! बुलाने पर आ जाती है सामने, देखें आईआईटी ग्रेजुएट्स का करिश्मा

आईआईटी से पढ़े इन छात्रों ने स्कूटर को अंतिम डिजाइन देने से पहले अभ्यास के तौर पर कई प्रोटोटाइप तैयार किये। यह स्कूटर भी एक प्रोटोटाइप मॉडल है जिसे और बेहतर बनाने के लिए विकास जारी है। कंपनी ने सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर का वीडियो भी जारी किया है जिसमें स्कूटर की खूबियों को बताया गया है।

दुर्घटना के समय बचाएगी जान

स्कूटर की सेल्फ बैलेंसिंग तकनीक इतनी कारगर है कि यह स्कूटर बिना सवार के भी खुद को बैलेंस कर सकती है। यानी अगर आप इस स्कूटर से उतर जाते हैं और स्टैंड नहीं लगाते हैं तो भी यह स्कूटर नहीं गिरेगी। यही नहीं, स्कूटर को जोर से धक्का लगाने पर भी स्कूटर का संतुलन नहीं बिगड़ता। कंपनी का मानना है कि यह तकनीक दुर्घटना के समय बेहद कारगर साबित हो सकती है और सड़क हादसों के समय दोपहिया वाहन चालकों को सड़क पर गिरने से बचाया जा सकता है।

बिना स्टैंड के पार्क होती है स्कूटर! बुलाने पर आ जाती है सामने, देखें आईआईटी ग्रेजुएट्स का करिश्मा

सेल्फ बैलेंसिंग तकनीक के अलावा, यह स्कूटर आपके आवाज पर भी काम करेगी। स्कूटर को एडवांस वॉयस कमांड फीचर दिया गया है। आप वॉयस कमांड देकर स्कूटर को पार्किंग से बाहर बुला सकते हैं।

बिना स्टैंड के पार्क होती है स्कूटर! बुलाने पर आ जाती है सामने, देखें आईआईटी ग्रेजुएट्स का करिश्मा

जेब पर होगी हल्की

सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर पर काम कर रही टीम ने इसकी कीमत को आम आदमी के पहुंच तक रखने का भी प्रयास किया है। टीम का कहना है कि वे ऐसा सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर नहीं बनाना चाहते थे जो आम जनता की पहुंच से बाहर हो। कंपनी का दावा है कि यह स्कूटर एक साधारण स्कूटर की कीमत से महज 10 फीसदी अधिक कीमत पर उपलब्ध की जाएगी।

बिना स्टैंड के पार्क होती है स्कूटर! बुलाने पर आ जाती है सामने, देखें आईआईटी ग्रेजुएट्स का करिश्मा

चूंकि स्कूटर अपने विकास के चरण में है इसलिए कंपनी उत्पादन शुरू करने से पहले इस स्कूटर के कुछ अन्य तत्वों को बेहतर बनाने पर काम कर रही है। फिलहाल, लाइगर मोबिलिटी एकमात्र ऐसी कंपनी नहीं है जो सेल्फ बैलेंसिंग स्कूटर पर काम कर रही है। होंडा जैसी बड़ी टू-व्हीलर निर्माता भी अपनी सेल्फ बैलेंसिंग बाइक पेश कर चुकी है।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Iit graduates developed indias first self balancing scooter details
Story first published: Monday, May 2, 2022, 17:00 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X