कोरोना लॉकडाउन: माँ के प्यार ने करवाया कुछ ऐसा, व्यक्ति ने साइकिल में ही किया इतना लंबा सफर

देश में वर्तमान में लॉकडाउन लागू है लेकिन इस वजह से कई लोगों को परेशानी भी हो रही है। लोगों को सफर करने की अभी तक अनुमति नहीं मिली है जिस वजह से जरुरी काम के लिए उन्हें खुद से सफर करना पड़ रहा है तथा यह काफी महंगा साबित हो रहा है।

कोरोना लॉकडाउन: माँ को देखने साइकिल से किया इतना लंबा सफर

हाल के दिनों में ऐसी कई कहानियां सामने आई है जिसमें वे सैकड़ो किलोमीटर का सफ़र कर रहे है। अब एक व्यक्ति की कहानी सामने आई है जिसमें उसने अपनी बीमार को देखने के लिए साइकिल में ही 480 किलोमीटर का सफर किया है तथा यह सफर उन्होंने अपनी पत्नी के साथ किया है।

कोरोना लॉकडाउन: माँ को देखने साइकिल से किया इतना लंबा सफर

पुदुचेरी के रहने वाले राऊ श्रीनि अपनी पत्नी के साथ तेलंगाना के हैदराबाद में काम करते है। हाल ही में उनकी माँ की तबियत खराब हो गयी है, वह कैंसर से पीड़ित है तथा पुदुचेरी में ही है। श्रीनि के रिश्तेदारों ने उन्हें इन्फॉर्म कर दिया तथा श्रीनि ने जल्द से जल्द ही अपनी माँ को देखने की ठानी।

MOST READ: लॉकडाउन में फंसे लोग जा सकेंगे वापस अपने घर, नहीं लगेगा कोई पास

कोरोना लॉकडाउन: माँ को देखने साइकिल से किया इतना लंबा सफर

लेकिन कर्फ्यू के चलते वर्तमान में सभी सार्वजनिक परिवहन जैसे बस, रेलवे आदि बंद है। ऐसे में वे और उनकी पत्नी ने हैदराबाद से पुदुचेरी तक का सफर साइकिल में ही शुरू कर दिया, दोनों ने अलग अलग साइकिल से सफर किया।

कोरोना लॉकडाउन: माँ को देखने साइकिल से किया इतना लंबा सफर

उन्होंने 14 अप्रैल को अपना सफर शुरू किया था तथा कई जगह पर उन्हें पुलिस वालों ने पूछताछ के लिए रोका भी, लेकिन अपनी माँ की हालत बताने के बाद पुलिस ने उन्हें जाने तो दिया है, कई जगह पर मदद का इतंजाम भी किया।

MOST READ: लड़कियां लॉकडाउन के दौरान पुलिस को दे रही थी चकमा, पुलिस ने अरेस्ट कर स्कूटी किया जब्त

कोरोना लॉकडाउन: माँ को देखने साइकिल से किया इतना लंबा सफर

रास्ते में पड़ने वाले गाँव के लोगों ने उन्हें खाना और पानी उपलब्ध कराया। तीन दिन के सफ़र के बाद वह 17 की रात को 480 किलोमीटर की यात्रा के बाद पुदुचेरी पहुंचे। उनकी सबसे पहले कोरोना की टेस्टिंग की गयी तथा लग रखा गया, उसके बाद 18 अप्रैल को उन्हें अपनी माँ से मिलने दिया गया।

कोरोना लॉकडाउन: माँ को देखने साइकिल से किया इतना लंबा सफर

लेकिन कुछ समय बाद ही उनकी माँ का देहांत हो गया, उन्होंने जल्द ही अपनी माँ का अंतिम संस्कार पूरा किया तथा अपनी पत्नी के साथ आईसोलेशन कैंप में लौट गए। उनकी साइकिल की यहां तक सफर आखिर कार पूरा हो गया था।

MOST READ: कोरोना लॉकडाउन: कांस्टेबल ने रोकी डीएम की गाड़ी, जाने क्या हुआ अंजाम

कोरोना लॉकडाउन: माँ को देखने साइकिल से किया इतना लंबा सफर

ऐसे ही लोगों को राहत पहुंचाने के लिए सरकार ने दूसरे राज्य में फंसे मजदूर, स्टूडेंट सहित अन्य लोगों को वापस लाने के लिए राज्य सरकारों को अनुमति दे दी गयी है। इसके लिए राज्य सरकारों को योजना तैयार करने को कहा है।

Source: Behindwoods

Most Read Articles

Hindi
English summary
480km bicycle ride to see the mother.Read in Hindi.
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X