सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

भारतीय रेल नई तेज गति के साथ विकास कर रही है। भारत में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद से ही रेलवे को लेकर कई बड़े ऐलान किया गया था। इसके तहत ही तेजस एक्सप्रेस को 2019 में शुरूआत किया गया था।

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

आपको बता दें कि 20 डिब्बों वाली ये देश की पहली ट्रेन हैं जिसके सभी डिब्बों में स्वचालित दरवाजे हैं। साथ ही हर डिब्बे में चाय व कोफ़ी की वेंडिंग मशीन लगी है, प्रत्येक सीट पर एलसीडी स्क्रीन और वाई-फाई की सुविधा है।

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

इसके साथ ही तेजस में जानेमाने शेफ द्वारा तैयार मनपसंद खाना परोसा जाता है। ट्रेन में पानी की कम खपत वाले बायो-वैक्यूम शौचालय हैं। शौचालय में टचलेस पानी का नल, साबुन डिस्पेंसर और हाथ सुखाने की मशीन लगाईं गई है।

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

वहीं इससे जुड़ी एक और खबर आरही है कि भारतीय रेलेवे अब इसे निजी क्षेत्र को सौंपने जा रहा है। रेलवे की योजना के तहत अहमदाबाद- मुंबई तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र की कंपनियों के हवाले कर देगी। इसका दायरा लगभग 500 ​​किलोमीटर की दूरी के लिए होगा।

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

इससे पहले भी रेलवे ने लखनऊ और दिल्ली के बीच तेजस एक्सप्रेस चलाने का कार्यभार निजी क्षेत्र को दे दिया था। अब भारतीय रेलवे अहमदाबाद-मुंबई तेजस ट्रेन को भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (IRCTC) को निजी कार्यों के लिए सौंपने का विचार कर रही है।

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

इससे पहले लखनऊ और दिल्ली के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस अपने परिचालन के लिए निजी कंपनियों को दी जाने वाली पहली ट्रेन थी। निजी क्षेत्र को ट्रेनों के संचालन का काम रेलवे के 100-दिवसीय एजेंडे के तहत कर रहा है।

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

यह उम्मीद की जा रही है कि ट्रेनों की कस्टडी आईआरसीटीसी को उसी वेतन पैटर्न में हस्तांतरित की जाएगी। इसके तहत टिकट लेने वाले को ट्रेन के लीज चार्ज का भुगतान फाइनेंस आर्म आईआरएफसी को करना होगा।

Most Read: मोटर व्हीकल एक्ट के 63 कानून 1 सितंबर से होंगे लागू: नितिन गडकरी

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

माना जाता है कि रेल मंत्रालय ने ट्रेन के यात्री किराए के बारे में निर्णय लेने के लिए आईआरसीटीसी को पूर्ण स्वतंत्रता दी है। सूत्रों के अनुसार इस ट्रेन का किराया डायनामिक होगा और डिमांड फैक्टर के आधार पर तय किया जाएगा। इसके अलावा, यह यात्री इस एक्सप्रेस ट्रेन सेवा के लिए किसी भी रियायत या लाभ ट्रेन पास का आनंद नहीं ले पाएंगे।

Most Read: वाहनों पर फैंसी नंबर प्लेट लगाने पर होगी कारवायी, 2275 वाहन मालिकों पर लगा जुर्माना

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

इस ट्रेन सेवा के लिए ऑन-बोर्ड स्टाफ, टिकटिंग स्टाफ, ऑन-बोर्ड हाउस कीपिंग जैसी सभी सुविधाएं और सेवाएं आउटसोर्स की जाएंगी। सूत्रों ने कहा कि ट्रेन की सेवाओं को राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस के बराबर माना जाएगा।

Most Read: इन मोटरसाइकिलों से चोरों का पीछा करती हैं पुलिस, हार्ले-डेविडसन से होंडा सीबीआर 250 आर है शामिल

सरकार करने जा रही है तेजस एक्सप्रेस को निजी क्षेत्र के हवाले, क्या होंगे नए बदलाव पढ़ें यहां

तेजस एक्सप्रेस में आरामदायक सीट, मनोरंजन के लिए व्यक्तिगत एलसीडी स्क्रीन, जानकारी के लिए ऑन-बोर्ड वाई-फाई, मोबाइल चार्जिंग पॉइंट, व्यक्तिगत रीडिंग लाइट, मॉड्यूलर बायो-टॉयलेट और सेंसर टैप फिटिंग जैसी प्रीमियम सेवाएं हैं।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Tejas Express to be run by a private company. Read in Hindi.
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X