इस साल भारत में बेचे जाएंगे 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन, हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटरों की होगी सबसे ज्यादा डिमांड

भारत में इस साल इलेक्ट्रिक वाहनों की कुल बिक्री बढ़कर लगभग 10 लाख यूनिट हो सकती है। यह पिछले 15 साल में बेचे गए कुल इलेक्ट्रिक वाहनों के बराबर होगी। इस साल बाजार में मुख्य रूप से इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स की भारी डिमांड रहेगी। सोसाइटी ऑफ मैन्युफैक्चरर्स ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (एसएमईवी) द्वारा साझा किये गए आंकड़े भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के बेहतर भविष्य के बारे में इशारा कर रहे हैं।

इस साल भारत में बेचे जाएंगे 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन, हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटरों की होगी सबसे ज्यादा डिमांड

2021 में, देश में इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स की बिक्री दो गुना बढ़कर 2,33,971 यूनिट हो गई, जो 2020 में 1,00,736 यूनिट्स थी। इलेक्ट्रिक स्कूटरों में हाई-स्पीड स्कूटरों को ग्राहकों ने सबसे ज्यादा पसंद किया। एसएमईवी ने बताया कि केंद्र सरकार की फेम-2 नीति और राज्य सरकारों की अपनी इलेक्ट्रिक वाहन नीतियों के वजह से हर श्रेणी में इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड बढ़ी है।

इस साल भारत में बेचे जाएंगे 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन, हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटरों की होगी सबसे ज्यादा डिमांड

रिपोर्ट में बताया गया है कि आकर्षक कीमतों, कम चलाने की लागत और कम रखरखाव के कारण बड़ी संख्या में लोग पेट्रोल दोपहिया वाहनों से इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर रुख कर रहे हैं। वाहन ग्राहकों का पर्यावरण संरक्षण के प्रति बढ़ता रुझान इसका एक और मुख्य कारण है। हाल के मासिक रुझानों के अनुसार, अगले 12 महीनों में पिछले 12 महीनों की तुलना में पांच से छह गुना वृद्धि देखी जा सकती है।

इस साल भारत में बेचे जाएंगे 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन, हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटरों की होगी सबसे ज्यादा डिमांड

एसएमईवी के अनुसार, हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स, जिनकी गति 25 किमी / घंटा से अधिक है और जिनके लिए पूर्ण लाइसेंस की आवश्यकता होती है, ने 2021 में 425 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 1,42,829 यूनिट्स की बिक्री हासिल की, जो 2020 में केवल पर 27,206 यूनिट्स थी।

इस साल भारत में बेचे जाएंगे 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन, हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटरों की होगी सबसे ज्यादा डिमांड

वहीं 25 किमी/घंटा से कम रफ्तार वाले इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की बिक्री 2021 में 24 फीसदी बढ़कर 91,142 यूनिट हो गई जो 2020 में 73,529 यूनिट थी। इसमें कहा गया है कि 15,000 रुपये/किलोवाट की बैटरी क्षमता के आधार पर हाई-स्पीड बाइक पर प्रोत्साहन ने एंट्री-लेवल हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर को कम-स्पीड वाले कई टू-व्हीलर की तुलना में सस्ता बना दिया है।

इस साल भारत में बेचे जाएंगे 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन, हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटरों की होगी सबसे ज्यादा डिमांड

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अगले दो से तीन वर्षों में, भारत में बड़े और संगठित खिलाड़ियों के ई-स्कूटर, ई-मोटरसाइकिल और ई-साइकिल से लेकर सभी क्षेत्रों में उत्पाद होने की उम्मीद है। वहीं चार से पांच वर्षों में, दोपहिया वाहन बाजार का लगभग 30 प्रतिशत इलेक्ट्रिक होगा।

इस साल भारत में बेचे जाएंगे 10 लाख इलेक्ट्रिक वाहन, हाई-स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटरों की होगी सबसे ज्यादा डिमांड

एसएमईवी ने कहा कि वाहन डेटा के आधार पर, हीरो इलेक्ट्रिक 2021 में 46,214 यूनिट की बिक्री के साथ हाई-स्पीड स्कूटर की सबसे बड़ी निर्माता रही। इसके बाद ओकिनावा 29,868 यूनिट, एथर 15,836 यूनिट, एम्पीयर 12,417 यूनिट और प्योर ईवी 10,946 यूनिट की बिक्री के साथ इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर बाजार में अपनी जगह बनाई।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Electric vehicle sales to cross 10 lakh units in 2022 reports smev details
Story first published: Wednesday, March 9, 2022, 17:52 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X