Difference Between Power And Torque: पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर है, कौन इनमें से ज्यादा जरूरी

किसी भी अंतः उत्सर्जन वाहन चलाने के लिए पेट्रोल या डीजन इंजन या इलेक्ट्रिक वाहन को चलाने के लिए इलेक्ट्रिक मोटर का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन जब इन दोनों के स्पेसिफिकेशन के बारे में बताया जाता है तो पॉवर और टॉर्क इन दोनों का ही जिक्र होता है।

Difference Between Power And Torque: पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर है, कौन इनमें से ज्यादा जरूरी

लेकिन आखिर सवाल यह उठता है कि किसी भी इंजन के पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर और इन दोनों में से कौन वाहन को चलाने के लिए ज्यादा जरूरी है। तो आइए हम आपको आज यहां यही बताने जा रहे हैं कि पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर और इन दोनों में से कौन ज्यादा जरूरी है।

Difference Between Power And Torque: पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर है, कौन इनमें से ज्यादा जरूरी

पॉवर और टॉर्क ऑटोमोबाइल के संदर्भ में उपयोग किए जाने वाले कुछ सबसे सामान्य शब्द हैं, लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि दोनों के बीच का अंतर क्या है। पावर और टॉर्क दो प्रमुख शब्द हैं जिनका उपयोग कार के प्रदर्शन को परिभाषित करने के लिए किया जाता है, लेकिन वे दोनों एक अलग उद्देश्य की पूर्ति करते हैं।

MOST READ: महाराष्ट्र पुलिस खरीदेगी हाई स्पीड कैमरे, रुकेगी ओवरस्पीडिंग

Difference Between Power And Torque: पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर है, कौन इनमें से ज्यादा जरूरी

लेकिन इनके बारे में जानने से पहले आपको ऊर्जा यानी एनर्जी के बारे में जानना होगा। ऊर्जा किसी भी कार्य को करने की क्षमता को कहा जाता है। इसे गर्मी या यांत्रिक ऊर्जा के रूप में खर्च किया जा सकता है या संभावित ऊर्जा के रूप में किसी वस्तु के भीतर समाहित किया जा सकता है।

Difference Between Power And Torque: पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर है, कौन इनमें से ज्यादा जरूरी

अब बात करते हैं टॉर्क की, तो टॉर्क किसी इंजन के क्रैंकशाफ्ट द्वारा निर्मित एक घूर्णन शक्ति है। आसान शब्दों में कहें तो टॉर्क को इंजन की 'पुलिंग फोर्स' के रूप में परिभाषित किया जा सकता है और यह वाहन के शुरुआती एक्सलरेशन में मदद करता है।

MOST READ: दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे दिसंबर में होगा पूरा, 45 मिनट में पूरा होगा सफर

Difference Between Power And Torque: पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर है, कौन इनमें से ज्यादा जरूरी

यही कारण है कि एसयूवी जैसे भारी वाहनों में अक्सर ऐसे इंजनों का इस्तेमाल किया जाता है, जिनमें अधिक मात्रा में टॉर्क उत्पन्न करने की क्षमता होती है। वहीं बात करें पॉवर की तो पॉवर को उस दर के रूप में परिभाषित किया जाता है, जिस पर कोई वस्तु काम करती है।

Difference Between Power And Torque: पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर है, कौन इनमें से ज्यादा जरूरी

ऑटोमोबाइल के संदर्भ में शक्ति को अक्सर हॉर्स पॉवर या ब्रेक हॉर्स पॉवर के रूप में मापा जाता है। ज्यादा पॉवर वाले वाहन में बेहतर त्वरण और उच्च गति होती है। दोनों में कौन ज्यादा जरूरी है, तो जहां टॉर्क कार्य करने की क्षमता को दर्शाता है, वहीं पॉवर एक निश्चित समय में काम पूरा करने की दर को दिखाता है।

MOST READ: राॅयल एनफील्ड मिटिओर की लॉन्च जानकारी आई सामने

Difference Between Power And Torque: पॉवर और टॉर्क में क्या अंतर है, कौन इनमें से ज्यादा जरूरी

जहां टॉर्क का प्राथमिक उपयोग कार को एक्सलरेशन के शुरुआती चरणों में तेज रफ्तार हासिल करने में मदद करना है, वहीं पॉवर वाहन के त्वरण की दर निर्धारित करता है। लेकिन जब केवल पॉवर और टॉर्क के आधार पर वाहन खरीदने की बात आती है, तो ज्यादातर पॉवर पर ही ध्यान दिया जाता है, क्योंकि यह वाहन के समग्र प्रदर्शन को प्रभावित करता है।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Difference Between Power And Torque Which Is More Important Details, Read in Hindi.
Story first published: Monday, August 31, 2020, 17:58 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X