दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

दिल्ली मेट्रो कारपोरेशन ने पर्यावरण को अनुकूल बनाने और यात्रियों को सुगम यात्रा उपलब्ध कराने के लिए 12 अगस्त से ट्रायल के तौर पर 25 लो-फ्लोर इलेक्ट्रिक फीडर बसों का परिचालन शुरू किया है। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस 24 सीटों वाली ये बसें मेट्रो स्टेशन से शहर के अन्य जगहों तक संपर्क को बढ़ाने में मदद करेंगी।

दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

इन रूटों पर चलेगी बस

दरअसल, इन फीडर बसों का ट्रायल शुरू कर दिया गया है। दिल्ली मेट्रो कारपोरेशन के अनुसार, शुरुआत में इन्हें दो रूट पर चलाया जा रहा है:

  • MC-721 : शास्त्री पार्क मेट्रो स्टेशन से गोकुलपुरी मेट्रो स्टेशन वाया खजूरी चौक (10.3 किलोमीटर)
  • ML-05: शास्त्री पार्क मेट्रो स्टेशन से मदर डेयरी (7.7 किलोमीटर)
दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल ने कहा कि डीएमआरसी अक्टूबर 2021 के अंत तक चरणबद्ध तरीके से 100 ई-फीडर बसें पेश करेगा, ताकि 14 मेट्रो स्टेशनों से कुल 10 रूट पर जनता के लिए यातायात का सुगम साधन उपलब्ध कराया जा सके।

दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

यह होगा इन बसों का किराया

  • 4 किलोमीटर तक- 10 रुपये
  • 4-8 किलोमीटर- 15 रुपये
  • 8-12 किलोमीटर- 20 रुपये
  • इससे ज्यादा- 25 रुपये
दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

आधुनिक सुविधाओं से लैस हैं ये बसें

इन ई-बसों में विशेष रूप से तैयार किये गए इंटेलिजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है। इनमें सीसीटीवी और जीपीएस जैसे अत्याधुनिक सुरक्षा प्रणाली का भी इस्तेमाल किया गया है। इन बसों में एंटी-स्किड, एंटी-ब्रेक लॉकिंग सिस्टम भी हैं और जब तक सभी दरवाजे बंद नहीं हो जाते, ये आगे नहीं बढ़ते हैं। इन बसों के दरवाजों में सेंसर लगे हैं जो दरवाजों पर रुकावट का पता लगाते हैं। अगर दरवाजे के सामने कोई चीज आ जाए तो ये बंद नहीं होते हैं।

दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

विकलांग और बुजुर्ग यात्रियों के लिए, इन बसों में व्हीलचेयर के लिए रैंप और एंकर लगाया गया है। डीएमआरसी ने कहा कि किसी भी आपात स्थिति के लिए इन बसों में पैनिक बटन और स्टॉप रिक्वेस्ट बटन भी लगे हैं।

दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

इन बसों के रख-रखाव और इन्हें खड़ा करने के लिए शास्त्री पार्क और मजलिस पार्क में डेडिकेटेड डिपो भी स्थापित किए गए हैं, साथ ही वाहनों की निगरानी के लिए एक ऑपरेशनल कंट्रोल सेंटर भी बनाया गया है। ई-बसों को चार्ज करने के लिए 2.5 मेगावाट बिजली कनेक्शन की सुविधा है। नियमित सफाई के लिए दोनों ई-बस डिपो में ऑटोमेटिक वॉश प्लांट भी लगाए गए हैं।

दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

बसों में नहीं होंगे कंडक्टर

इन बसों की सबसे खास बात ये हैं कि इनमें कंडक्टर नहीं होंगे। केवल दिल्ली मेट्रो के यात्री जिनके पास दिल्ली मेट्रो स्मार्ट कार्ड या मेट्रो डीटीसी स्मार्ट कार्ड है, उन्हें इन ई-बसों में सेवाओं का लाभ उठाने की अनुमति होगी। वे कैशलेस यात्रा के भुगतान के लिए अपने स्मार्ट कार्ड का उपयोग कर सकते हैं क्योंकि ये बसें पूरी तरह से संपर्क रहित और कंडक्टर-रहित हैं।

दिल्ली मेट्रो की इन बसों में नहीं हैं कंडक्टर, इस तरह करें यात्रा और टिकट का भुगतान, जानें सबकुछ

डीटीसी बसों में यात्रा करने के लिए मेट्रो स्मार्ट कार्ड पहले से ही उपयोग में है। इन बसों नकद भुगतान की अनुमति नहीं होगी। मेट्रो स्टेशनों से शुरू होने वाली बसों के लिए यात्रियों के प्रवेश की अनुमति केवल मेट्रो स्टेशनों से होगी और बस यात्रियों को छोड़ने के लिए निर्धारित स्टॉप पर ही रुकेगी। मार्ग के अन्य स्टॉपेज पर यात्रियों के प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Delhi metro electric feeder buses starts on trial basis know route map and fair
Story first published: Friday, August 13, 2021, 17:02 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X