तलाशी अभियान के बाद भी नहीं मिली केजरीवाल की कार, सफाचट हो जाने का अंदेशा..

By Deepak Pandey

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गायब हुई वैगनआर कार को तलाशी अभियान के बाद भी नहीं ढ़ूढ़ा जा सकता है। बताया जा रहा है कि राजधानी के सीएम केजरीवाल की कार की तलाश के लिए पुलिस ने गाड़ियां खोलने के लिए मशहूर इस सबसे बड़े बाजार में तलाशी अभियान चलाया है।

तलाशी अभियान के बाद भी नहीं मिली केजरीवाल की कार, सफाचट हो जाने का अंदेशा

कहा जा रहा है कि मेरठ के सोतीगंज बाजार में बड़ी तादाद में एनसीआर से चोरी होने वाली गाड़ियों के पुर्जे अलग किए जाते हैं। लिहाजा केजरीवाल की कार की तलाश के लिए सड़क से लेकर सोतीगंज के गोदामो में भी चेकिंग अभियान चलाया गया। जहां वैगनआर गाड़ियों को रोक-रोककर चेकिंग की गई।

तलाशी अभियान के बाद भी नहीं मिली केजरीवाल की कार, सफाचट हो जाने का अंदेशा

आपको बता दें कि मेरठ का सोतीगंज बाजार चोरी की गाड़ियों को खोलने और उसके पुर्जे अलग-अलग करने के लिए बदनाम है। बताते चलें कि पहली बार शपथ लेने के लिए जिस नीली वैगनआर कार में सवार होकर केजरीवाल रामलीला मैदान पहुंचे थे, वह मेरठ के सोतीगंज बाजार पहुंच गई है।

Recommended Video - Watch Now!
2018 Suzuki Swift Sport Unveiled - DriveSpark
तलाशी अभियान के बाद भी नहीं मिली केजरीवाल की कार, सफाचट हो जाने का अंदेशा

गौरतलब है कि गुरुवार को दिल्ली सचिवालय के गेट नंबर 3 के पास से केजरीवाल की चोरी हो गई। सीएम केजरीवाल 49 दिन की सरकार के समय इसी कार से सचिवालाय आते-जाते थे और चुनावी कैंपेन में भी उन्होंने इसी कार का प्रयोग किया था। पहली बार इसी कार से वे दिल्ली सचिवालय भी पहुंचे थे। ऐसा कहा जाता है कि इस कार से सीएम का भावनात्मक लगाव है।

तलाशी अभियान के बाद भी नहीं मिली केजरीवाल की कार, सफाचट हो जाने का अंदेशा

फिलहाल इस कार को आम आदमी पार्टी यूथ विंग की इन्चार्ज वंदना सिंह इस्तेमाल कर रही थीं। डीडीयू मार्ग स्थित आप कार्यालय में यह कार कुछ दिनों तक खड़ी रही और उसके बाद वंदना सिंह ने इस कार से आना-जाना शुरू किया।

तलाशी अभियान के बाद भी नहीं मिली केजरीवाल की कार, सफाचट हो जाने का अंदेशा

इस बारे में उन्होंने बताया कि कार के चोरी होने से वह बहुत दुखी हैं क्योंकि यह कार आम आदमी पार्टी के आंदोलन की गवाह रही है। केजरीवाल ने चुनाव प्रचार के समय इस कार का प्रयोग किया। रोहतक में लोकसभा चुनाव के दौरान भी वहां के एक सीनियर आप लीडर ने इस कार का चुनाव प्रचार में प्रयोग किया।

तलाशी अभियान के बाद भी नहीं मिली केजरीवाल की कार, सफाचट हो जाने का अंदेशा

वंदना ने बताया कि सुबह 11:45 पर वह इस कार से सचिवालय आईं और गेट नंबर 3 के पास कार पार्क की। उसके बाद जब वह दोपहर दाई बजे के करीब वापस गईं तो देखा कि कार वहां पर नहीं है। सीसीटीवी फुटेज चेक किया गया तो पाया कि कोई शख्स कार लेकर जा रहा है लेकिन सीसीटीवी फुटेज में उस शख्स का चेहरा ठीक से दिखाई नहीं दे रहा।

क्या है कार का फीचर

क्या है कार का फीचर

दरअसल वैगनआर मारूति सुजुकी की लोकप्रिय हैचबैक है। यह 5गियरबाक्स से लैस है और इसकी कीमत आधार वैरिएंट के 3,71,000 से लेकर स्पेक वैरिएंट तक पहुंचते-पहुंचते 5,07,089 हो जाती है। यह मार्केट में चार कलर वैरिएंट में उपलब्ध है।

Drivepsrka की राय

Drivepsrka की राय

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की कार गायब हो जाना वह भी सचिवालय से। वास्तव में हैरान करने वाला है। इस कार के गायब होने से यह तो तय हो गया है दिल्ली चोरों से खाली नहीं हैं। वैसे भी आए दिन पुलिस कार चोर गिरोहों का खुलासा करती रहती है। पर केजरीवाल की कार के संबंध में आगे क्य़ा होगा। यह देखना जानना जरूरी है।

English summary
Delhi's Chief Minister and fairly controversial politician Arvind Kejriwal is in the news yet again. While that might not be new, the reason for him being in the news and all over social media is outright amusing to be honest.
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more