इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

चीनी कंपनियां हमेशा से ही किसी भी बेहद लोकप्रिय चीज की नकल करने के लिए जानी जाती है। ऐसा कई मामलों में पाया गया है जब चीन की कंपनियों ने अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के उत्पादों की नकल कर वैसा ही उत्पाद बाजार में उतारा है। खासकर यूरोप के कंपनियों के उत्पाद चीनी कंपनियों के नकल के रूप में अक्सर देखने को मिल जाते है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

ऐसे ही कई चीन में प्रसिद्ध कार है, जो अंतरराष्ट्रीय कारों की नकल है और इनको डिजाइन करने वाली कंपनी इन्हें अपना बता कर बेच रही है। चीन में आपको ऐसी सस्ते दामों में कई एसयूवी कार में मिल जाएंगी। इनमें वो सारी सुविधाएं है, जो एक प्रीमियम स्पोर्टस हैचबैक कार में होती है। हमने ऐसे चीन में मौजूद पांच हैचबैक कारों को शॉर्टलिस्ट किया है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

जेएसी ए 6 - ऑडी ए 6

जेएसी ए6 ने केवल डिजाइन और पूरी कार की नकल करने के साथ ऑडी ए6 का नाम भी चोरी कर लिया है। इसके नाम से ही पता चलता है कि जेएसी ए 6 ने ऑडी ए 6 का कॉपीड वर्जन है। इसके डिजाइन और लुक बहुत हद तक ऑडी ए 6 से मिलता है। जेएसी ए 6 में बाहर की तरफ एक्सनोन हेडलाइट के साथ हेक्सागोनल फ्रंट क्रोम ग्रिल दिया गया है। इसे देख आपको ऑडी ए 6 की याद आएगी।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

वही केबिन के अंदर का स्पेस, गियरबॉक्स और डैशबोर्ड भी ऑडी ए 6 से काफी मिलता है। हालांकि इसमें इस्तेमाल किए गए सस्ते उत्पादों से आप इसकी पहचान कर सकते है कि यह ऑडी ए 6 नहीं है। ऑडी ए 6 में जहां 6 इंजनों का सेट मिलता है, वहीं जेएसी ए 6 में आपको कम दबाव वाला 1.5 लीटर का टर्बो पेट्रोल इंजन मिलेगा, जो 170 बीएचपी की शक्ति और 250 एनएम का टॉर्क उत्पन्न करता है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

ईगल कैरियर- फरारी- पोर्श

कभी एक ही पैकेज में फेरारी और पोर्श दोनों की दुनिया के सर्वश्रेष्ठ होने का सपना देखा? खैर, चीनी ऑटो निर्माता सूज़ौ आपको ईगल कैरी के रूप में ऐसा अवसर दे रही है। सूज़ौ ईगल कैरी पर एक त्वरित नज़र एक विश्वास बनाने के लिए पर्याप्त है कि यह फेरारी कैलिफोर्निया टी और पोर्श 718 केमैन दोनों की एक स्पष्ट प्रति है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

टोयोटा यारिस: होंडा सिटी को टक्कर देने आयी यह शानदार कार, अभी करें टेस्ट ड्राइव

अगर आपकी चाह एक ही कार में फेरारी और पोर्श दोनों की खूबियाें चाहिए, तो चीनी ऑटो कंपनी सूजौ आपके इस ख्वाब को पूरा कर रही है। सूजौ ने ईगल कैरी कार को बनाया है। इस कार को देख साफ पता चलता है कि इसे फेरारी कैलिफोर्नियां टी और पोर्श 718 केमैन को देख उतारा गया है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

इसका साइड लुक और रियर प्रोफाइल पूरी तरह से पोर्श 718 केमैन के समान हैं, जबकि फेरारी कैलिफ़ोर्निया टी को इसमें जबरदस्ती घुसाने की कोशिश की गई है। जिससे कार का लुक थोड़ी बेतुका हो गया है। सूज़ौ ने भी पोर्श के लोगो का भी नकल किया है, जिसमें रंग और डिज़ाइन पूरी पोर्श के लोगो जैसा ही है। हालांकि सूज़ौ का दावा है कि ईगल कैरी एक इलेक्ट्रिक "स्पोर्ट्सकार" है जो केवल 4.2 सेकंड में 0 से 100 किमी प्रति घंटे के स्पीड पकड़ सकती है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

देज़ो वेइकरुई वी 7 - वोक्सवैगन अप

चीनी कंपनी नकल करने में वोक्सवैगन को भी नहीं छोड़ा है। पता नहीं क्या सोच कर देज़ो वेइकरुई वी 7 को बनाया गया है। इसे बनाने में चीनी कंपनी ने कॉपीराइट कानूनों को ताक पर रखा है। चीनी कंपनी ने वोक्सवैगन की सबसे छोटी कार को पूरी तरह से कॉपी कर चीनी बाजार में अपने ब्रांड के पहचान के साथ उतार दिया है। देज़ो वेइकरुई वी 7 को वोक्सवैगन अप के डिजाइन को बदलने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

अगर इसे देखेंगे तो समझ आएगा कि कंपनी ने बस लोगो को बदलने की तकलीफ उठाई है। वहीं अंदर में डैशबोर्ड रंग और गुणवत्ता को छोड़ दें तो यह पूरी तरह से वोक्सवैगन अप ही लगती है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

योगोमो 330 - किआ पिकांटो

हैचबैक कारों की लिस्ट में सिर्फ वोक्सवैगन ही नहीं है, जिसे चीनी कंपनियों ने कॉपी किया है। इस लिस्ट में चीन की ही कंपनी योगोमों का नाम है, जिसने योगोमो 330 को कोरियन कंपनी किआ पिकांटो से बिना अनुमति लिए ही अपना बतलाकर बाजार में उतार दिया है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

अगर दूर से देखा जाए तो किआ पिकांटो और योगोमो 330 में कोई भी अंतर पता नहीं चलेगा। लेकिन नजदीक से देखने पर दोनों कारों में असमानता साफ दिखती है। किआ पिकांटो के सामने वाले टाइगर नोज ग्रिल को कम दिखने वाले ग्रिल से बदल दिया गया है। इसके अलावा दरवाजे और पहियो में भी थोड़ी बदलाव किया गया है। वहीं अंदर के डैशबोर्ड पर सस्ते प्लास्टिक और डिजाइन है, जो सिर्फ दिखने में ही किआ पिकांटो की तरह है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

रेंजर एक्स - टेस्ला एस

चीनी स्टार्ट अप यूएक्सीया ने इलेक्ट्रिक सेडान टेस्ला मॉडल एस को कॉपी किया है। कंपनी ने इसके कॉपीड वर्जन को रेंजर एक्स का नाम देकर बााजर में उतारा है। आगे और पीछे की ओर से देखने पर यह बिल्कुल टेस्ला एस की तरह ही दिखती है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

हालांकि कंपनी ने कुछ समझदारी दिखाते हुए इसके फ्रंट ग्रिल और टेल लैंप के डिजाइन में कुछ बदलाव किए है। इसके लोगो को होलोग्राफिक डिस्प्ले से बदला गया है। लेकिन के स्टार्ट के वाई के आकार का लोगो टेक्सला के टी जैसा दिखता है।इसके डैशबोर्ड का लेआउट टेस्ला से प्रभावित है। यूएक्सीया ने इसे लेकर दावा किया है कि रेंजर एक्स इलेक्ट्रिक मोटर से चलती है, जिसकी रेंज 285 मील है और यह 6 सेकंड के अंदर 100 किलोमीटर की रफ्तार पकड़ सकती है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

चीन में जल्द ही 26 सिंतबर से बीजिंग मोटर शो होने वाले हैं उस दौरान फोटोन मोटर अपनी डा जिंग जून वाहन को लाने वाली है जिसका मतलब बिग जनरल होता है। जैसे ही इसकी तस्वीरें इन्टरनेट पर आई तो नेटीजनों ने पाया कि इसकी डिजाईन फोर्ड की एफ-150 ट्रक से बेहद मिलती है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

फिर क्या था, लोग इसके डिजाईन को मिलाने लगे और दोनों की तस्वीरों से समान चीजें निकालने लगे। इससे पता चला कि यह बिग जनरल का आकार भी फोर्ड के ट्रक जितना ही है, इसके साथ सामने की हेड लाइट व साइड प्रोफाइल भी मैच खाती है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

लोग दोनों के बीच समानता ढूँढने के साथ फोर्ड कंपनी को भी कहने लगे कि चीन की इस कंपनी पर कानूनी कार्यवाही किया जाएँ। हालांकि फोर्ड की तरफ से इसको लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है, लेकिन इस चीनी कंपनी की कार कॉपी करने को लेकर बदनामी हो रही है।

 इन ग्लोबल कारों की नकल कर बेच रही चीनी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा मामला

हालांकि मेकैनिकल तौर पर चीन की यह ट्रक फोर्ड के सामने नहीं टिकती है। जहां फोर्ड एफ-150 में 3.5 लीटर वी6 इंजन लगाया गया है वहीं चीनी ट्रक में 2.0 लीटर टर्बोचार्ज्ड चार सिलेंडर पेट्रोल इंजन तथा 2.0 लीटर डीजल व 2.5 लीटर डीजल इंजन का विकल्प दिया गया है।

Most Read Articles
 

Hindi
English summary
Five global cars blatantly ripped in China : From Kia Picanto to Tesla Model X. Read in Hindi.
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X