अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

भारतीय मानक ब्योरो (बीआईएस) ने लिथियम बैटरी की गुणवत्ता निर्धारित करने के लिए नए प्रदर्शन मानकों की घोषणा की है। जानकारी के मुताबिक, राष्ट्रीय मानक-निर्धारण निकाय ने इलेक्ट्रिक वाहन उपभोक्ताओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए "इलेक्ट्रॉनिक वाहन बैटरी के लिए प्रदर्शन मानकों" को प्रकाशित किया है।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

रिपोर्ट के अनुसार, अब इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) के लिए लिथियम-आयन बैटरी बनाने वाली कंपनियों को "आईएस 17855: 2022'' के तहत निर्धारित किए गए मानकों का पालन करना होगा। इन मानकों को "आईएसओ 12405-4: 2018" के अनुरूप बनाया गया है।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

नई लिथियम बैटरी के मानक के अनुसार अब इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली कंपनियों को बैटरी की विश्वसनीयता, चार्जिंग क्षमता, अलग-अलग वातावरण और तापमान में काम करने की क्षमता की जांच के लिए बैटरियों का अलग से परीक्षण करना होगा। नए मानकों में लिथियम-आयन बैटरियों के परीक्षण से संबंधित प्रक्रिया को भी सूचित किया गया है।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

इलेक्ट्रिक वाहन इलेक्ट्रिक मोटर और रिचार्जेबल बैटरी पर काम करते हैं। पिछले एक दशक में, इलेक्ट्रिक वाहनों की उपलब्धता बाजार में बढ़ी है। अधिकांश इलेक्ट्रिक वाहन लिथियम-आयन बैटरियों के उच्च शक्ति-से-भार अनुपात के कारण इनका उपयोग करते हैं।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के लिए बैटरी के सुरक्षा पहलू को ध्यान में रखते हुए, बीआईएस विभिन्न यात्री और माल ले जाने वाले वाहनों (एल, एम और एन श्रेणियों) के लिए बैटरी से संबंधित दो और मानकों को लाने करने की प्रक्रिया में है।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

लिथियम आयन बैटरियों में आग लगने के मामलों में जांच के बाद बैटरी पैक और मॉड्यूल के डिजाइन सहित बैटरी में गंभीर दोष पाए गए हैं। इससे पहले, नीति आयोग ने एक चर्चा पत्र में राष्ट्रीय बैटरी स्वैपिंग नीति की दिशा में पहले कदम के रूप में बीआईएस मानकों (BIS Standards) की आवश्यकता पर जोर दिया था।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) जिसे केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा ईवी आग की घटनाओं की जांच करने का काम सौंपा गया था, ने बैटरी में गंभीर दोष पाया। रिपोर्ट में बताया गया कि इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर निर्माताओं जैसे ओकिनावा ऑटोटेक, प्योर ईवी, जितेंद्र इलेक्ट्रिक व्हीकल्स, ओला इलेक्ट्रिक और बूम मोटर्स ने लागत में कटौती के लिए निम्न-श्रेणी की सामग्री का उपयोग किया।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

मई की शुरूआत में, केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (सीसीपीए), जो केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के अंतर्गत आता है, ने प्योर ईवी और बूम मोटर्स को उनके ई-स्कूटर में अप्रैल में विस्फोट होने के बाद नोटिस भेजा था।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

आपको बता दें कि इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने के कारण कुछ लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं। देश में अब तक प्योर ईवी, ओला ई-स्कूटर, ओकिनावा और जितेंद्र ई-स्कूटरों में आग लग चुकी है, जिससे उनकी सुरक्षा पर सवाल उठ रहे हैं। कई निर्माताओं ने खराब होने वाले स्कूटर के पूरे बैच को वापस बुला लिया है।

अब इलेक्ट्रिक वाहन होंगे अधिक सुरक्षित, BIS ने लिथियम बैटरी के लिए जारी किए नए सुरक्षा मानदंड

पिछले महीने नितिन गडकरी ने इलेक्ट्रिक स्कूटर निर्माता कंपनियों को चेतावनी दी थी कि यदि कोई कंपनी प्रक्रियाओं में लापरवाही बरतती है, तो "भारी जुर्माना लगाया जाएगा और सभी दोषपूर्ण वाहनों को वापस बुलाने का भी आदेश दिया जाएगा"। गडकरी ने यह भी कहा था कि सरकार जल्द ही इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए गुणवत्ता केंद्रित दिशा-निर्देश जारी करेगी।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Bis notified new standards for ev lithium ion batteries details
Story first published: Friday, June 24, 2022, 12:54 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X