नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

कार एक मैकेनिज्म है और इसके बेहतर परफार्मेंश के लिए न केवल अच्छी ड्रा​इविंग का आना जरूरी होता है बल्कि उचित देखभाल और कुछ जरूरी बातों का ज्ञान होना भी उतना ही आवश्यक है। जब आप अपनी पसंदीदा कार का बखूबी ख्याल रखते हैं और कंपनी द्वारा दिये गये निर्देशों का पूरी तरह पालन करते हैं तो बेशक आपके कार की लाइफ बेहतर होती है।

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

ऐसा कई बार देखा जाता है कि, लोग नई कार खरीदने के बाद जल्दबाजी में कई ऐसी गलतियां कर जाते हैं जिनका बुरा असर कार की मशीनरी पर पड़ता है। हालांकि ये सारी प्रक्रिया कार के भीतर बोनट में होती है इसलिए काल चालक को इन बातों का पता भी नहीं चल पाता है। तो यदि आपने भी नई कार खरीदी है तो ये लेख आपके लिए बेहद ही जरूरी है। आज हम आपको नई कार के बेहतर ड्राइविंग से लेकर उसके देखभाल तक की जरूरी बातों के बारे में बतायेंगे -

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

1. कितनी देर तक चलायें नई कार:

जब आप नई कार खरीदते हैं तो डीलरशिप की तरफ से आपको जरूरी निर्देश दिये जाते हैं। इन निर्देशों में सबसे मुख्य बात होती है आपकी कार की राइड। यानी कि, आपको पहली सर्विसिंग के लिए कितने किलोमीटर तक कार को चलाना चाहिए। आपको बता दें कि, नई कार को तकरीबन 1,000 किलोमीटर तक चलायें उसके बाद उसकी सर्विसिंग करानी चाहिए। इसके अलावा इसे आगे बढ़ाते हुए 2,500 किलोमीटर तक चलाना चाहिए। तकनीकी विशेषज्ञों का मानना है कि, 2,500 किलोमीटर तक ड्राइव के बाद कार के सभी पार्ट्स अपने सही जगह पर ठीक ढंग से बैठ जाते हैं और वो बेहतर परफार्मेंश के लिए तैयार होते हैं।

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

2. स्मूथ राइड करें:

नई कार को ड्राइव करते समय थ्रोटल पर ज्यादा प्रेसर न दें। थ्रोटल वो प्रक्रिया होती है जब आप क्लच दबाकर एक्सलेटर का प्रयोग करते हैं। नई कार के इंजन पर बेवजह दबाव बनाना इंजन के लाइफ को खतरे में डालता है। यदि पेट्रोल कारों की बात करें तो पहले 1,000 किलोमीटर तक अधिकतम 2,500 आरपीएम तक रेंज रखनी चाहिए, इसके बाद 3,000 या उससे ज्यादा आरपीएम में कार को दौड़ाना चाहिए। वहीं नई डीजल कारों के लिए लगभग 1,500 किलोमीटर तक 2000 - 2500 आरपीएम का रेंज तय करना चाहिए।

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

नई कार में क्लच दबाकर बेवजह एक्सलेटर का प्रयोग करना भी ठीक नहीं माना जाता है। बार बार एक्सलेटर पर दबाव बनाने से कार इंजन के लाइफ पर असर पड़ता है। इसके अलावा यदि आप कार को स्टॉर्ट कर रहे हैं तो थोड़ी देर वॉर्म अप के लिए एक्सलेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

3. हर स्थिती में ड्राइव करें:

शहरी क्षेत्रों में भारी ट्रैफिक के कारण ऐसा कई बार देखा जाता है कि लोग तीसरे गियर से उपर नहीं बढ़ पाते हैं। लेकिन ज्यादा देर तक एक ही गियर में गाड़ी को ड्राइव न करें। ऐसे खुले रोड़ पर जायें जहां आप अधिकतम गियर का इस्तेमाल कर सकें। ड्राइव के दौरान गियर शिफ्ट करना न भूलें और ज्यादा गियर में गाड़ी को आगे बढ़ाने की कोशिश न करें। इससे नये ट्रांसमिशन बॉक्स में दिक्कत पैदा होती है।

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

4. रफ्तार पर रखें नियंत्रण:

आम तौर पर देखा जाता है कि, लोग कार की स्पीड देखने के चक्कर में नई कार को फुल स्पीड में चलाने की कोशिश करते हैं।

वाहन निर्माता कंपनियां भी नई कारों के लिए ऐसा करने से मना करती है। इसलिए पहली सर्विसिंग से पहले 100 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से ज्यादा न चलायें। समय के साथ धीमें धीमें अपनी गति बढ़ायें।

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

5. सिंथेटिक आॅयल को नकारें:

नई कार में सिंथेटिक आॅयल का कत्तई प्रयोग न करें। क्येांकि सिंथेटिक आॅयल आपके कार के पार्ट्स के परफार्मेंश को स्लो कर देता है। नई कार में पार्ट्स अपनी जगह पर जितना रन करते हैं उनकी लाइफ उतनी ही बेहतर होती है। लगभग दूसरे सर्विसिंग के बाद या 5,000 किलोमीटर तक कार को ड्राइव करने के बाद ही सिंथेटिक आॅयल का प्रयोग करें। उससे पूर्व मिनरल आॅयल या फिर कंपनी द्वारा निर्देशित आॅयल का ही प्रयोग करें।

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

6. कब कराये पहली सर्विसिंग:

नई कार खरीदने के बाद ज्यादातर लोग सर्विसिंग में जल्दबाजी करते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि, पहले 1,000 किलोमीटर पूरा हो जाने के बाद ही पहली सर्विसिंग करायें। इस सर्विसिंग में कार के मोबिल को बदला जाता है इसके अलावा कार की टेस्टिंग की जाती है यदि कोई अन्य खामी न निकलें तो कार को सामान्य चेकअप के बाद छोड़ दिया जाता है।

नई कार खरीदी हैं तो इन बातों को जरूर जान लें, वरना पड़ेगा पछताना

7. वैक्स का प्रयोग करें:

नई कार को हर कोई चमचमाता हुआ देखना चाहता है। आपको बता दें कि, आज के समय में कारों को रोबोट द्वारा पेंट किया जाता है। इसलिए कहीं पर भी पेंट में कोई कमी होने की संभावना लगभग ना के बराबर होती है। इसलिए अपनी कार को साफ करने के लिए वॉश के बाद वैक्स का प्रयोग करें। इससे कार के पेंट की लाइफ भी बेहतर बनी रहती है।

Hindi
English summary
Buying a new car is always a exiting moment. But a new car not only comes with happiness it's comes with a great responsibility too. Here we are giving some tips to take care of your new car.
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more