कार की विंडशील्ड पर जम रही भाप से होती है दिक्कत, तो इन टिप्स से दूर होंगी परेशानी

मौसम चाहे ठंड का हो या भी बारिश वाला शीशे पर कोहरा पड़ना बहुत आम बात है। जिसकी वजह से बाहर देखने में दिक्कत होती है।

कार के विंडशिल्ड में ऐसा होना सुरक्षा के लिए खतरा भी बन सकता है। विंडशील्ड पर फॉगिंग का कारण कार के अंदर और बाहर नमी और तापमान के बीच का अंतर होना है।

कार विंडशिल्ड

ठंडे कांच के अलावा, बाहरी तापमान का अंदर के तापमान के साथ संपर्क भी विंडशील्ड पर फॉगिंग का कारण बनता है। जब भी बाहर की हवा कार के विंडशील्ड के संपर्क में आती है, तो यह भाप का उत्सर्जन करती है और जिससे संघनन होता है। अगर कार के अंदर एसी चालू है, तो केबिन और बाहर के तापमान के बीच का अंतर व्यापक हो जाता है और फॉगिंग मजबूत हो जाती है। कार में एसी का इस्तेमाल करके ये समस्या दूर की जा सकती है। इसके अलावा भी कई चीजें हैं जिन्हें अजमाकर अपनी कार के विंडशील्ड को डीफॉग किया जा सकता है, तो चलिए इसके बारे में विस्त्तार से जानते हैं।

1. कम समय के लिए खिड़की थोड़ा खोल दें

अगर बाहर की नमी कार के केबिन से कम है, तो इसका मतलब है कि अंदर बैठे लोग ज्यादा पानी और नमी छोड़ रहे हैं। जिससे केबिन के अंदर पानी की मात्रा बढ़ती है, जिसे थोड़ी देर के लिए एक या कई कार की खिड़कियां खोलकर कम किया जा सकता है। ऐसा करने से बाहर की हवा कार में आ जाएगी और कार केबिन के अंदर ओस की बुंदों को जल्दी से कम कर देगा और विंडशील्ड पर धुंधलेपन को दूर करेगा।

2. एसी का तापमान बढ़ाएं

कार के केबिन के अंदर एसी का तापमान बढ़ाना विंडशील्ड को डीफॉग करने अच्छा उपाय है। इससे केबिन के अंदर गर्म हवा चलती है और विंडशील्ड से टकराती है, जिससे उसका तापमान बढ़ जाता है। यह कार के हीटर और विंडशील्ड के तल पर डिफॉगिंग वेंट्स का उपयोग करके किया जा सकता है।

3. डीह्यूमिडिफायर के रूप में एसी का उपयोग करें

कार केबिन के अंदर एसी को डीह्यूमिडिफायर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। ज्यादातर आधुनिक कारें क्लाइमेट कंट्रोल फीचर्स के साथ आती हैं और जब आप डीफ्रॉस्ट सेटिंग्स पर स्विच करते हैं तो यह एसी सिस्टम को ऑटोमैटिक चालू हो जाता है। अगर आप केबिन के अंदर गर्म हवा चाहते हैं, तो एसी पहले अंदर की हवा को डीह्यूमिडीफाई करेगा और फिर हीटर से गर्म हवा उड़ाकर उसे गर्म करेगा। यदि आप एसी चालू करते हैं और इसे कूलिंग मोड में सेट करते हैं, तो विंडशील्ड पर ठंडी हवा से धीमी गति से नमी खत्म हो जाएगी, क्योंकि ठंडी हवा गर्म हवा जितना पानी नहीं पकड़ सकती है।

कार विंडशिल्ड

4. इंजन के तापमान का प्रयोग करें

इंजन का तापमान लगभग 90 डिग्री सेल्सियस होने से कार की विंडशील्ड जल्दी और ठीक से डिफॉग हो सकेगी। इंजन के तापमान के साथ मिलकर, एयर कंडीशनिंग सिस्टम के लिए विंडस्क्रीन को तेजी से डीफॉग करना आसान हो जाता है। इसलिए धुंध को विंडशील्ड से नहीं पोंछते हैं, क्योंकि यह कांच को गंदा दृश्यता को कम कर देगा।

Most Read Articles

Hindi
Read more on #टिप्स #tips
English summary
How to remove fog from car front glass
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X