आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

कार ड्राइविंग लगभग हर युवा को पसंद होती है विशेषकर आॅटोमेटिक कारों को ड्राइव करना एक अलग ही अनुभव देता है। लेकिन ड्राइविंग करना न केवल एक सुखद अहसास है बल्कि ये एक हुनर है जिसका बेहतर होना बेहद ही जरूरी होता हैं वरना सड़क पर ड्राइव का मजा कब सजा ​में तब्दील हो जाता है इसका अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता है।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करना भले ही आपको एक सुखद अहसास देता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस तरह की कार को ड्राइव करते समय किन बातों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। आज हम आपको अपने इस लेख में 5 ऐसी मुख्य बातों के बारे में बतायेंगे जिन पर अमूूमन लोग ध्यान नहीं देते हैं और गलती कर बैठते हैं। तो यदि आप भी आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते हैं तो भूल से ही ये 5 गलतियां न करें, आइये जानते हैं उन 5 मुख्य बातों के बारे में -

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

1. आॅटोमेटिक और मैनुअल के अंतर को समझें:

सबसे पहले तो बता दें कि, आॅटोमेटिक कार और मैनुअल ट्रांसमिशन की कारों में काफी समानता होती है। बस जो मुख्य बात इन दोनों को अलग बनाती है वो है ट्रांसमिशन यानी की गियर शिफ्टिंग के दौरान की गई प्रक्रिया। आपको याद होगा कि, मैनुअल ट्रांसमिशन में जब आप गियर शिफ्ट करते हैं तो एक्सलेटर से पांव हटा लेते हैं, लेकिन कुछ लोग आॅटोमेटिक कार को ड्राइव करते समय ऐसा नहीं करते हैं। ये एक बड़ी गलती होती है इससे ड्राइविंग और इंजन दोनों पर ही बुरा असर पड़ता है।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

आपको बता दें कि, आॅटोमेटिक कार में भी जब आपको गति को धीमा करना हो तो एक्सलेटर से पांव को हटाते हुए ब्रेक का इस्तेमाल करें, इस दौरान आपकी कार में प्रोग्राम्ड किया गया मकैनिज्म कार को स्वयं ही इस बात के लिए निर्देशित करेगा कि, गियर शिफ्ट किया जाये। ये सब कुछ बोनट के भीतर होगा आपको शायद इसका अंदाजा भी नहीं होगा लेकिन यही सही तरीका होता है। तो हमेशा इस बात का ख्याल रखें।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

2. कभी न भूलें हैंडब्रेक का इस्तेमाल:

ये एक ऐसी प्रक्रिया या फीचर होता है जिसे लोग कई बार अनदेखा कर देते हैं। आज के समय में कई ऐसी कम बजट की आॅटोमेटिक कारें बाजार में उतारी जा चुकी हैं जिनमें हिल एसिस्ट या हिल होल्ड तकनीकी का प्रयोग नहीं किया गया है। तो जब भी आप आॅटोमेटिक कार ड्राइव करें और कार को किसी जगह पर रोकें तो हैंडब्रेक का इस्तेमाल करना न भूलें। यदि आपकी कार किसी ढलान वाली जगह पर रूकती है तो हैंडब्रेक के इस्तेमाल से ये पीछे या आगे की तरफ नहीं जायेगी। इसलिए कार को रोकते ही हैंडब्रेक का इस्तेमाल जरूर करें।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

3. हैवी ट्रै​फिक में एक्सलेटर का न करें इस्तेमाल:

मैनुअल ट्रांसमिशन की कारों से अलग आॅटोमेटिक कारों में एक खास फीचर ये होता है कि, यदि आप अपनी कार को ड्राइव मोड में रखते हैं तो कार को स्लो मोशन में आगे बढ़ाने के लिए आपको एक्सलेटर दबाने की जरूरत नहीं होती है। इसके लिए बस आपको ब्रेक को रीलीज करना होता है, जिससे आपकी कार धीमें धीमें आगे बढ़ने लगेगी।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

यदि आप भारी ट्रैफिक में हैं तो इस फीचर का भरपूर लाभ ले सकते हैं। आपको बता दें कि, भारतीय बाजार में उपलब्ध टाटा जेन एक्स नैनो, मारुति डिजायर, रेनाल्ट डस्टर आॅटोमेटिक जैसी कारों में ये फीचर आसानी से मिलता है।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

4. बिना योजना के ओवरटेकिंग न करें:

वैसे तो ड्राइविंग के दौरान किसी भी तरह की कार से ओवरटेक करना रिस्की होता है, लेकिन ये उस वक्त और भी मुश्किल हो जाता है जब आप आॅटोेमेटिक कार ड्राइव कर रहे होते हैं। क्योंकि आॅटोमेटिक कारों में ऐसे मैकेनिज्म का प्रयोग किया जाता है कि वो अपने तयशुदा पेस पर आने के बाद ही कार को रफ्तार देते हैं।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

इसलिए जब आप बिना योजना बनाये ही अचानक से ओवरटेक करते हैं तो हो सकता है कि, आपकी कार का पेस उतना तेज न हो पाये जितनी की ओवरटेकिंग के लिए जरूरत होती है। वहीं मैनुअल कार में आप गियर शिफ्ट कर के अपनी रफ्तार को बढ़ा सकते हैं लेकिन आॅटोमेटिक कार में ये करना संभव नहीं हो पाता है। इसलिए कभी भी भूल से ही अचानक से ओवटेक न करें, पहले कार को एक बेहतर गति में आने दें उसके बाद ही ओवरटेक करने का फैसला करें।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

5. इंजन पर बहुत तनाव न दें:

ऐसा देखा जाता है कि, बहुत से लोग आॅटोमेटिक कारों को भी बेहद ही रफली यूज करते हैं। उन्हें लगता है कि, आॅटोमेटिक होने की वजह से वो कार को किसी भी तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। जब आप कुछ दिनों तक आॅटोमेटिक कार ड्राइव करेंगे तो इस बात का खुद ही अंदाजा लगा लेंगे कि, आपको कार किस तरह से ड्राइव करनी चाहिए।

आॅटोमेटिक कार ड्राइव करते समय भूल से भी न करें ये 5 गलतियां, वरना पड़ेगा पछताना

मैनुअल ट्रांसमिशन की कारों की तरह आपको आॅटोमेटिक कार के इंजन पर बहुत ज्यादा प्रेसर नहीं देना चाहिए। इसकी कोई जरूरत भी नहीं होती है। इसलिए स्मूथली कार ड्राइव करें और कार को समय दें ताकि वो अपने पेस और रफ्तार में आ सके। याद रखें कि, जल्दबाजी किसी भी समस्या का समाधान नहीं होती है।

English summary
Automated Manual Transmission (AMT) equipped cars are way different from conventional automatic transmissions and the DSGs. Driving an AMT car needs a few tips and tricks. And here are 5 things you should NOT do while driving one.
Story first published: Tuesday, June 26, 2018, 21:00 [IST]
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more