कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

Written By: Abhishek Dubey

आम तौर पर लोग कार की ओवरलोडिंग के बारे में चर्चा नहीं करते हैं। लोगों को लगता है कि ये एक सामान्य बात है। लेकिन कार की क्षमता से अधिक यात्रीयों या सामान के साथ कार चलाना आपके और कारके, दोनों की सेहत के लिए ठीक नहीं है। आज हम आपको पांच एैसे कारण बताएंगे कि क्यों आपको कार की ओवरलोडिंग नहीं करनी चाहिए।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

1. कार की एक्सीलेरेशन और ब्रेकिंग पर पड़ता है बुरा असर

चाहे आपकी कार 12 सिलिंडर वाली फरारी हो या 2 सिलिंडर वाली टाटा नैनो, अतिरिक्त वजन कार की स्पीड पर निश्चित ही असर डालता है। यदि आप कार की क्षमता से अधिक सवारी के साथ ड्राइव कर रहें हैं तो आपको कोई आश्चर्यचकित होने कि जरूरत नहीं है क्योंकि निश्चित तौर पर कार की स्पीड नॉर्मल के मुकाबले थोड़ा कम ही रहने वाली है।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

यही बात ब्रेकिंग पर भी लागू होती है। अधिक वजन के कारण ब्रेकिंग पर अधिक प्रेशर पड़ता है। आपने अक्सर देखा होगा की अकेले चलाने पर कार की ब्रेकिंग परफॉरमेंस ज्यादा बढ़ियां होती है।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

2. कार की सस्पेंशन और टायर

अधिक वजन का मतलब है कि कार के टायर और सस्पेंशन से एक बुरा समझौता। क्योंकि अतिरिक्त वजन के कारण कार के टायर और सस्पेंशन को जरूरत से ज्यादा वजन ढोना पड़ेगा, जो कि उनकी सेहत के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं है।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

क्षमता से बहुत ज्यादा अधिक वजन के कारण तो कई बार टायर फटते भी देखा गया है।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

3. हैंडलिंग की दिक्कत

कोई भी कार हो आगे के हिस्से में सिर्फ दो लोगों के बैठने की जगह होती है। एक ड्राइवर की और एक अन्य की। लेकिन कई बार ड्राइवर आगे की सीट पर दो या उससे भी अधिक लोगों को अपने साथ को बैठा लेता है। इससे ड्राइवर को कार चलाने में काफी दिक्कत आती है। वह न सही से स्टीयरिंग पकड़ पाता है और न सही से गियर ईत्यादि चेंज कर पाता है।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

ऐसी आपात स्थिति में अगर सामने से कोई ट्रक या अन्य वाहन आ जाए तो ड्राइवर को गाड़ी कंट्रोल करने में ज्यादा मसक्कत करनी पड़ेगी। अगर आपका भाग्य खराब रहा तो एक्सीडेंट का भी सामना करना पड़ सकता है।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

4. मेंटेनेंस कॉस्ट और इंश्योरेंस

कार की ओवरलोडिंग का मतलब है कि कार की इंजन, ब्रेकिंग और गियर ईत्यादि पर ज्यादा प्रेशर। ज्यादा प्रेशर के कारण कार के ये पार्ट समय से पहले ही अपनी परफॉरमेंस खो देते हैं। तो स्वाभाविक ही इसके इलाज के लिए आपको कार की सर्विसिंग और जांच-पड़ताल करवानी पड़ेगी। ऐसा कई बार करने से आपकी जेब भी ज्यादा खाली होगी।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

इसमें और एक नुकसान देखने को मिलता है। ऐसी स्थिति मे इंश्योरेंस कंपनीयां भी आपका साथ नहीं देती।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

5. सेफ्टी और ट्रैफिक नियमों के विरूद्ध

कार में क्षमता से अधिक लोगों के बैठने का मतलब है कि सबने तो सीटबेल्ट नहीं ही पहनी होगी। ऐसी स्थिति में अगर दुर्भाग्य से आपकी कार का एक्सीडेंट हो जाता है तो ज्यादा लोगों के क्षति होने के चांसेस रहते हैं।

कार ओवरलोडिंग के वो पांच खतरे जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए

ओवरलोडिंग ट्रैफिक नियमों के भी खिलाफ है, इसका मतलब अगर आपको पोलीस वाला पकड़ता है तो उसके लिए भी आपको फाइन भरना पड़ेगा।

Read more on #how to #tips
English summary
5 Reasons Why You Should Never Overload Your Car. Read in Hindi.
Story first published: Tuesday, April 17, 2018, 17:48 [IST]

Latest Photos

 

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark