Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

पिछले साल से Tata Group की सेमीकंडक्टर क्षेत्र में उतरने की योजना पर चर्चा हो रही है। लेकिन हाल ही में Tata Sons Pvt. के चेयरमैन, N Chandrasekaran ने 29 अप्रैल को मुंबई में एक कार्यक्रम में संगठन की योजनाओं को स्पष्ट रूप से बताया। Chandrasekaran ने कहा कि चिप्स बनाने के अलावा इलेक्ट्रिक वाहनों (EV) के लिए बैटरी बनाने की योजना की घोषणा जल्द की जाएगी।

Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

उल्लेखनीय है कि Tata Motors Limited की वार्षिक रिपोर्ट में उन्होंने भारत और यूरोप में सेल और बैटरी निर्माण के लिए साझेदारी के मूल्यांकन का भी जिक्र किया था। Tata Group की योजनाएं प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के भारत को सेमीकंडक्टर निर्माण में अग्रणी बनाने और वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला व्यवधानों की स्थिति में आयात पर अपनी निर्भरता को कम करने के प्रयासों के अनुरूप हैं।

Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

पिछली कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, Intel Corp और ताइवान सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी सहित कई विदेशी चिप दिग्गज भारत में अपना आधार स्थापित करने की सोच रहे हैं। आपको बता दें कि दुनिया भर में ऑटोमोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स निर्माता सेमीकंडक्टर की कमी से जूझ रहे हैं।

Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

यह कमी चीन में महामारी के कारण हुए लॉकडाउन से जटिल होती जा रही है, बदले में इनपुट लागत में वृद्धि से उद्योगों में बाधा उत्पन्न हो रही है। चंद्रशेखरन के अनुसार, सेमीकंडक्टर्स की कमी से निपटने के लिए, Tata Motors प्रीमियम फ्रेट का विकल्प चुन रही है, वैकल्पिक चिप्स की तलाश कर रही है और उन्हें खुले बाजार में खरीद रही है।

Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

उनका मानना ​​है कि कमी कम से कम छह महीने तक चलेगी और चौथी तिमाही पिछले वर्ष की तुलना में अधिक अनिश्चित होगी। इस बीच, एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि Tata Motors चिप बनाने की फेसेलिटी स्थापित करने के बारे में तमिलनाडु के साथ बातचीत कर रही है।

Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

इसके साथ ही राज्य ने कोयंबटूर को कारखाने के लिए स्थान के रूप में प्रस्तावित किया है, जबकि Tata Group अभी भी कर्नाटक और तेलंगाना जैसे अन्य दक्षिणी राज्यों के साथ बातचीत कर रहा है। टाटा ने EVs के लिए बैटरी बनाने की योजना की भी घोषणा की, हालांकि इसके बारे आगे और जानकारी देने का वादा किया है।

Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

हालांकि चंद्रशेखरन ने विवरण नहीं दिया, लेकिन उन्होंने कहा कि कंपनी कि "पूंजी, प्रतिभा और एक मजबूत आपूर्ति श्रृंखला के संदर्भ में EV नेतृत्व की दिशा में हमारी यात्रा में सीमित नहीं होगी।" Tata Motors के यात्री वाहनों के प्रबंध निदेशक और टाटा पैसेंजर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, शैलेश चंद्रा ने कथित तौर पर कहा कि कंपनी वर्तमान में ईवी बैटरी के कुछ कम्पोनेंट्स, जैसे कि सेल का आयात करती है और स्थानीय स्तर पर बैटरी पैक को असेंबल करती है।

Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

कार्यक्रम के दौरान चंद्रशेखरन ने कहा कि "हम मॉड्यूल भी असेंबल करते हैं और बैटरी प्रबंधन प्रणाली को स्वदेशी रूप से विकसित करने की प्रक्रिया में हैं। वास्तव में, बैटरी पैक बनाने में बहुत सी चीजें स्थानीयकृत की जा रही हैं, लेकिन सेल में कुछ समय लगेगा।"

Tata Motors भारत में ही बनाएगी सेमीकंडक्टर्स चिप्स, EVs की बैटरी का भी करेगी उत्पादन

उन्होंने कहा कि "अच्छी बात यह है कि ACC-PLI जैसे कदमों के साथ सरकार भी इसमें सक्रिय रूप से शामिल है, इसलिए एक क्षमता होगी जो समय के साथ विकसित होगी।" 29 अप्रैल को Tata Motors ने अपने प्योर ईवी कॉन्सेप्ट का अनावरण किया, जिसका उपयोग केवल ईवी का उत्पादन करने के लिए किया जाएगा।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Tata group plans to make chips and ev battery says chairman chandrasekaran details
Story first published: Sunday, May 1, 2022, 8:30 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X