भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

इलेक्ट्रिक एसयूवी बनाने वाली यूएस की स्टार्ट-अप कंपनी फिस्कर (Fisker) जल्द ही भारतीय बाजार में एंट्री कर सकती है। खबरों के मुताबिक, कंपनी ने सीईओ हेनरिक फिस्कर ने रायटर्स को बताया कि कंपनी जुलाई 2023 में भारतीय बाजार में अपनी ओशियन इलेक्ट्रिक एसयूवी (Ocean Electric SUV) की बिक्री शुरू करेगी। कंपनी की योजना भारत में ही वाहनों का उत्पादन शुरू करने की है।

भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

रिपोर्ट के मुताबिक, हेनरिक का मानना है कि भारत में इलेक्ट्रिक एसयूवी की बिक्री 2025-26 से रफ्तार पकड़ने वाली है। ऐसे में हेनरिक चाहते हैं कि फिस्कर को भारत में कंपनी को पहले आने के मौके का फायदा मिल सके। हेनरिक फिस्कर ने एक बयान में कहा, "भारत में तेजी से कारों का तेजी से इलेक्ट्रिफिकेशन होगा। यह यू.एस., चीन या यूरोप जितनी तेजी से नहीं होगा, लेकिन हम यहां आने वाले पहले लोगों में से एक बनना चाहते हैं।"

भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

वर्तमान में भारत में हर साल बिकने वाली 30 लाख कारों में इलेक्ट्रिक कारों की अनुपात केवल 1% है। अपर्याप्त चार्जिंग बुनियादी ढांचा और उच्च बैटरी लागत इलेक्ट्रिक वाहनों की धीमी गति से बदलाव के लिए आंशिक रूप से जिम्मेदार हैं।

भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

फिस्कर को मिलेगा पीएलआई स्कीम का फायदा

भारत सरकार का लक्ष्य 2030 तक इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी को बढ़ाकर 30 प्रतिशत करना है। सरकार ने हाल ही में मूल उपकरण निर्माताओं, इलेक्ट्रिक व्हीकल सेल और ग्रीन एनर्जी में निर्माताओं को बढ़ावा देने के लिए उत्पाद लिंक्ड प्रोत्साहन योजना (पीएलआई) को लॉन्च किया है। अगर फिस्कर भारत में वाहनों का निर्माण करेगी तो कंपनी पीएलआई स्कीम के तहत प्रोत्साहन योजनाओं की भागीदार होगी।

भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

फिस्कर की अमेरिकी प्रतिद्वंद्वी टेस्ला इंक (Tesla Inc) ने अपनी कारों के लिए कम आयात शुल्क सुरक्षित करने में विफल रहने के बाद अपनी भारत में प्रवेश योजना को रोक दिया है। टेस्ला पहले स्थानीय विनिर्माण के लिए प्रतिबद्ध होने से पहले बाजार का परीक्षण करने के लिए वाहनों का आयात करना चाहती थी।

भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

जबकि फिस्कर ने स्वीकार किया कि भारत में वाहनों का आयात करना "बहुत महंगा" है, इसलिए कंपनी भारत में ही ब्रांड के तहत उत्पादन करेगी। संयुक्त राज्य अमेरिका में कंपनी की ओशियन इलेक्ट्रिक एसयूवी $37,500 (लगभग 30.50 लाख रुपये) में बिकती है, लेकिन इसे भारत में आयात करने से रसद लागत और 100% आयात कर जुड़ जाएगा। यह इसे बाजार में अधिकांश खरीदारों की पहुंच से बाहर कर देगा जहां बेची जाने वाली अधिकांश कारों की कीमत 12 लाख रुपये से कम है।

भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

फिस्कर के अनुसार, कंपनी $ 20,000 (लगभग 16.5 लाख रुपये) के भीतर इलेक्ट्रिक एसयूवी लॉन्च करने की योजना बना रही है। फिस्कर का कहना है कि अगर उन्हें सही स्थानीय भागीदार मिल जाता है तो वाहनों का उप्तादन शुरू होने की समयरेखा कम हो सकती है और कीमत भी नियंत्रित की जा सकती है।

भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

फिस्कर का कहना है कि भारत में संयंत्र स्थापित करने के लिए सालाना कम से कम 30,000 से 40,000 कारों की बिक्री आवश्यक है। कंपनी ने कहा कि 50,000 कारों की वार्षिक उत्पादन क्षमता वाला एक संयंत्र स्थापित करने पर भारत में लगभग 6500 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

भारत आएगी फिस्कर की इलेक्ट्रिक एसयूवी, टाटा मोटर्स, हुंडई को मिलेगी टक्कर

ड्राइवस्पार्क के विचार

फिस्कर का मैग्ना इंटरनेशनल के साथ एक अनुबंध निर्माण समझौता है जो अपनी ऑस्ट्रियाई इकाई में महासागर का उत्पादन करेगा और इसे भारत भेज देगा। इसने PEAR के निर्माण के लिए फॉक्सकॉन के साथ एक समझौता भी किया है। कंपनी नई दिल्ली में एक शोरूम खोलने के लिए रियल एस्टेट क्षेत्र की तलाश कर रही है। भारत में फिस्कर का मुकाबला टाटा मोटर्स और हुंडई की इलेक्ट्रिक वाहनों से होने की उम्मीद है।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Fisker planning to sell electric suv in india from july 2023 details
Story first published: Tuesday, September 27, 2022, 13:40 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X