एलन मस्क ने कहा- इलेक्ट्रिक वाहनों के मामले में चीन है नंबर-1, लेकिन अमेरिकी हो गए हैं आलसी

एलन मस्क भले ही भारत में अपनी टेस्ला कार की फैक्ट्री न लगा पाए हों लेकिन चीन में टेस्ला कारों का प्रोडक्शन जोर-शोर से चल रहा है। हाल ही में टेस्ला के मालिक एलन मस्क ने चीन की इलेक्ट्रिक वाहन इंडस्ट्री और कर्मचारियों को लेकर एक ऐसा ट्वीट किया है जो काफी वायरल हो रहा है। उन्होंने एक ट्वीट में चीन की इलेक्ट्रिक वाहन इंडस्ट्री की तारीफ करते हुए कहा, "चीन अक्षय ऊर्जा उत्पादन और इलेक्ट्रिक वाहनों में दुनिया का नेतृत्व कर रहा है। भले ही चीन के बारे में आपकी सोच जो भी हो, लेकिन यह एक तथ्य है।"

एलन मस्क ने कहा- इलेक्ट्रिक वाहनों के मामले में चीन है नंबर-1, लेकिन अमेरिकी हो गए हैं आलसी

इस महीने की शुरुआत में, मस्क ने कहा था कि अमेरिकी लोग काम करने के मामले में आलसी होते जा रहे हैं, जबकि उनके चीनी समकक्ष काम खत्म करने के मामले में बेहतर हैं। 'फाइनेंशियल टाइम्स फ्यूचर ऑफ द कार' समिट के दौरान उन्होंने कहा था कि चीन सुपर टैलेंटेड लोगों का देश है। उन्होंने एक अलग ट्वीट में कहा, "मुझे लगता है कि चीन से कुछ बहुत मजबूत कंपनियां आएंगी, चीन में बहुत सारे सुपर-टैलेंटेड मेहनती लोग हैं जो मैन्युफैक्चरिंग में दृढ़ विश्वास रखते हैं।"

एलन मस्क ने कहा- इलेक्ट्रिक वाहनों के मामले में चीन है नंबर-1, लेकिन अमेरिकी हो गए हैं आलसी

आपको बता दें कि चीन के शंघाई शहर में टेस्ला की एक गिगाफैक्ट्री जहां कंपनी इलेक्ट्रिक कारों का उत्पादन करती है। वर्तमान में कंपनी कोविड-19 लॉकडाउन के कारण आपूर्ति की कमी का सामना कर रही है और धीरे-धीरे वापस पटरी पर आ रही है। कंपनी की योजना बहुत जल्द इंडोनेशिया में एक नया गिगाफैक्ट्री शुरू करने की है।

एलन मस्क ने कहा- इलेक्ट्रिक वाहनों के मामले में चीन है नंबर-1, लेकिन अमेरिकी हो गए हैं आलसी

बताते चले कि एलन मस्क ने हाल ही में एक ट्वीट में कहा था कि अगर टेस्ला को भारत में पहले कारें बेचने और सर्विस करने की अनुमति नहीं दी जाएगी, तो कंपनी भारत में अपने प्लांट नहीं लगाएगी। मालूम हो कि टेस्ला ने पिछले साल अपनी इम्पोर्टेड इलेक्ट्रिक कारों पर टैक्स को कम करने के लिए भारत सरकार से गुहार लगाई थी। जिसपर भारत सरकार ने समान उद्योग नियमों का हवाला देते हुए टेस्ला को किसी भी तरह की विशेष छूट देने से मना कर दिया था।

एलन मस्क ने कहा- इलेक्ट्रिक वाहनों के मामले में चीन है नंबर-1, लेकिन अमेरिकी हो गए हैं आलसी

आपको बात दें कि चीन दुनिया में इलेक्ट्रिक वाहनों का सबसे बड़ा निर्माता है। चीन सभी तरह के इलेक्ट्रिक वाहनों का सबसे बड़ा बाजार भी है। टेस्ला की बात करें तो, कंपनी की बनाई गई 85 प्रतिशत इलेक्ट्रिक कारें चीन में ही बेचीं जाती हैं।

एलन मस्क ने कहा- इलेक्ट्रिक वाहनों के मामले में चीन है नंबर-1, लेकिन अमेरिकी हो गए हैं आलसी

आंकड़ों पर नजर डालें तो, पिछले साल (2021) चीन में 30 लाख से भी ज्यादा इलेक्ट्रिक वाहन बेचे गए। यह संख्या पूरी दुनिया में बेचीं जाने वाले इलेक्ट्रिक वाहनों की आधी है।

एलन मस्क ने कहा- इलेक्ट्रिक वाहनों के मामले में चीन है नंबर-1, लेकिन अमेरिकी हो गए हैं आलसी

भारत में टेस्ला के इलेक्ट्रिक कारों के निर्माण को लेकर टेस्ला और भारत सरकार के बीच कई दौर में बात हो चुकी है। लेकिन अभी तक टेस्ला के भारत में निवेश का रास्ता साफ नहीं हुआ है। पिछले साल बेंगलुरु में टेस्ला का ऑफिस खुलने के साथ भारत में उत्पादन शुरू करने की खबरें तेज हो गईं थी।

एलन मस्क ने कहा- इलेक्ट्रिक वाहनों के मामले में चीन है नंबर-1, लेकिन अमेरिकी हो गए हैं आलसी

केंद्र परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भी कहा था कि टेस्ला 2021 की शरूआत से भारत में अपनी इलेक्ट्रिक कारों का उत्पादन शुरू करेगी, लेकिन बाद में टेस्ला ने कहा कि वह भारत में चीन से कारें इम्पोर्ट करेगी, जिसपर कंपनी को बिक्री की अनुमति नहीं दी गई।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Elon musk tweets china is leading the world in evs and green energy
Story first published: Wednesday, June 1, 2022, 16:45 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X