India
YouTube

ओला के सीईओ ने कहा- हाइड्रोजन कारें नहीं हैं बेहतर विकल्प, चलाने का खर्च है अधिक

दुनिया भर की ऑटोमोबाइल कंपनियां अपने वाहनों के लिए स्वच्छ ईंधन की तलाश कर रही हैं। मौजूदा समय में हाइड्रोजन को वाहनों को चलाने के लिए सबसे स्वच्छ ईंधन माना गया है। हालांकि, एक तरफ हाइड्रोजन वाहनों के लिए सबसे स्वच्छ ईंधन है, तो दूसरी तरफ इसे वाहनों के लिए ईंधन के तौर पर तैयार करना बेहद खर्चीला साबित हो रहा है।

ओला के सीईओ ने कहा- हाइड्रोजन कारें नहीं हैं बेहतर विकल्प, चलाने का खर्च है अधिक

हाल ही में ओला इलेक्ट्रिक के सीईओ, भाविश अग्रवाल ने भी वाहनों में हाइड्रोजन फ्यूल सेल के इस्तेमाल को लेकर असहमति जताई है। दरअसल, एक ट्विटर यूजर ने ओला की फ्यूचर कार में हाइड्रोजन फ्यूल सेल का इस्तेमाल करने को लेकर उनसे एक सवाल किया, जिसके जवाब में भाविश ने कहा कि हाइड्रोजन सबसे स्वच्छ ईंधन है लेकिन इससे वाहनों को चलाना बेहद खर्चीला है।

ओला के सीईओ ने कहा- हाइड्रोजन कारें नहीं हैं बेहतर विकल्प, चलाने का खर्च है अधिक

उन्होंने कहा, "हाइड्रोजन को तैयार करने के लिए भारी मात्रा में बिजली क खपत होती है। इसके बाद हाइड्रोजन को फ्यूल सेल में बदला जाता है। यह फ्यूल सेल कार में लगने के बाद ऑक्सीजन के संपर्क में बिजली और पानी बनाती है। बेशक इसमें कोई उत्सर्जन नहीं होता लेकिन यह प्रक्रिया बेहद खर्चीली है जिससे एक इलेक्ट्रिक कार की तुलना में हाइड्रोजन कार को चलाना महंगा हो जाता है।

ओला के सीईओ ने कहा- हाइड्रोजन कारें नहीं हैं बेहतर विकल्प, चलाने का खर्च है अधिक

उन्होंने कहा कि कार कंपनियां हाइड्रोजन को तैयार करने की जटिल प्रक्रिया और अधिक खर्च के चलते ही इस तकनीक को पूरी तरह विकसित नहीं कर पा रही हैं। हाइड्रोजन की कमी फ्यूल सेल कारों के लिए चिंता का विषय है। हालांकि ऐसा इलेक्ट्रिक कारों के साथ नहीं है।

ओला के सीईओ ने कहा- हाइड्रोजन कारें नहीं हैं बेहतर विकल्प, चलाने का खर्च है अधिक

भाविश ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहन इंडस्ट्री पूरी तरह कार्बन मुक्त नहीं है। लिथियम, निकल और कोबाल्ट से बैटरियों को तैयार करने में भी कार्बन का उत्सर्जन होता है लेकिन यह हाइड्रोजन के मुकाबले किफायती होती हैं। उन्होंने इस जावाब में यह संकेत दे दिया कि ओला भविष्य में हाइड्रोजन से चलने वाली कार नहीं बनाएगी।

ओला के सीईओ ने कहा- हाइड्रोजन कारें नहीं हैं बेहतर विकल्प, चलाने का खर्च है अधिक

आपको बता दें कि ओला इलेक्ट्रिक ने अपने फ्यूचर फैक्ट्री में एक इवेंट के दौरान अपनी फ्यूचर इलेक्ट्रिक कार का खुलासा किया है। ओला के सीईओ भाविश अग्रवाल ने कहा कि वे 15 अगस्त को आगामी इलेक्ट्रिक कार की अन्य जानकारियों का खुलासा करेंगे और यह भी बताएंगे कि ग्राहक कब इस ई-कार की बुकिंग कर सकते हैं।

ओला के सीईओ ने कहा- हाइड्रोजन कारें नहीं हैं बेहतर विकल्प, चलाने का खर्च है अधिक

ऑटोमोटिव उद्योग में अपनी तरह के पहले आयोजन में, ओला इलेक्ट्रिक ने एस1 प्रो इलेक्ट्रिक स्कूटर के सभी 50,000 ग्राहकों को फ्यूचर फैक्ट्री में आमंत्रित किया था। उन्होंने कहा कि ऑटो उद्योग में सामान्य प्रथा डीलरों को आमंत्रित करना और उन्हें थाईलैंड जैसी जगहों पर भेजना है, लेकिन ओला इलेक्ट्रिक अपने ग्राहकों से सीधा संवाद बना रही है।

ओला के सीईओ ने कहा- हाइड्रोजन कारें नहीं हैं बेहतर विकल्प, चलाने का खर्च है अधिक

रविवार के इवेंट में ओला के कारखाने में लगभग 3-4 हजार ग्राहकों को आमंत्रित किया गया था। इस इवेंट के दौरान भाविश ने ओला के वाहनों के लिए Move2OS (ऑपरेटिंग सिस्टम) को भी लॉन्च किया। ओला ई-स्कूटर के मौजूदा ग्राहकों को इस ऑपरेटिंग सिस्टम का अपडेट OTA अपडेट के जरिये दिया जाएगा।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Bhavish aggarwal expresses concern over hydrogen cars details
Story first published: Tuesday, June 21, 2022, 7:00 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X