हरियाणा में लागू हो सकता है वाहनों के लिए ऑड-इवेन नियम, जानें क्या है सरकार की योजना

हरियाणा और पड़ोसी क्षेत्रों में प्रदूषण के स्तर को रोकने के लिए, राज्य सरकार ने अगले सप्ताह से राज्य के चार एनसीआर जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर और सोनीपत में वाहनों के लिए ऑड-ईवन नियम लागू करने का निर्णय लिया है। मंगलवार को अतिरिक्त मुख्य सचिव, संजीव कौशल द्वारा बुलाई गई एक आपात बैठक के दौरान यह निर्णय लिया गया।

हारियाणा में लागू हो सकता है वाहनों के लिए ऑड-इवेन नियम, जानें क्या है सरकार की योजना

इस बैठक के दौरान यह भी निर्णय लिया गया कि हरियाणा के 14 एनसीआर जिलों में सरकारी कर्मचारी 22 नवंबर तक घर से काम करेंगे और निजी संगठनों को भी ऐसा करने के लिए कहा गया है। इससे पहले एनसीआर के चार जिलों में 17 नवंबर तक वर्क फ्रॉम होम की सलाह दी गई थी।

हारियाणा में लागू हो सकता है वाहनों के लिए ऑड-इवेन नियम, जानें क्या है सरकार की योजना

लेकिन मंगलवार को संजीव कौशल के साथ बैठक में शामिल अधिकारियों ने इसे एनसीआर के सभी 14 जिलों में 22 नवंबर तक बढ़ाने का फैसला किया। इन 14 जिलों में भिवानी, चरखी दादरी, फरीदाबाद, गुरुग्राम, झज्जर, जींद, करनाल, महेंद्रगढ़, नूंह, पलवल, पानीपत, रेवाड़ी, रोहतक और सोनीपत शामिल हैं।

हारियाणा में लागू हो सकता है वाहनों के लिए ऑड-इवेन नियम, जानें क्या है सरकार की योजना

इसके अलावा जिन उद्योगों में वर्क फ्रॉम होम की व्यवस्था संभव नहीं है, वहां के अधिकारियों को उपायुक्त से विशेष अनुमति लेनी होगी। बैठक के दौरान हुई चर्चाओं का हवाला देते हुए एक अधिकारी ने कहा कि वर्क फ्रॉम होम को लागू करने के पीछे यह सुनिश्चित करना था कि सड़कों पर कम वाहन हों।

हारियाणा में लागू हो सकता है वाहनों के लिए ऑड-इवेन नियम, जानें क्या है सरकार की योजना

अधिकारी ने कहा कि "परिवहन विभाग अगले सप्ताह से ट्रायल के आधार पर कम से कम चार जिलों में सम-विषम नीति लागू करे। हालांकि, सीएनजी वाहनों पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।" पूरे एनसीआर में वायु गुणवत्ता के बिगड़ते स्तर को देखते हुए ये निर्णय लिए गए।

हारियाणा में लागू हो सकता है वाहनों के लिए ऑड-इवेन नियम, जानें क्या है सरकार की योजना

इसके साथ ही राज्य सरकार ने खुले में निर्माण सामग्री ले जाने वाले भारी वाहनों पर जुर्माना लगाने का भी फैसला किया है और, एक बार चालान किए गए वाहनों को तब तक चलने की अनुमति नहीं दी जाएगी जब तक कि चालान की राशि का भुगतान नहीं किया जाता है।

हारियाणा में लागू हो सकता है वाहनों के लिए ऑड-इवेन नियम, जानें क्या है सरकार की योजना

इस बीच, वाहनों से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए पेट्रोल इंजन के वाहनों के लिए 10 साल और डीजल इंजन वाहनों के लिए 15 साल से अधिक पुराने वाहनों को हटाने के लिए एक अभियान की योजना बनाई जा रही है। इस बारे में उपायुक्त, यश गर्ग ने जानकारी दी है।

हारियाणा में लागू हो सकता है वाहनों के लिए ऑड-इवेन नियम, जानें क्या है सरकार की योजना

उन्होंने कहा कि "प्रदूषण को कम करने के निर्णय उच्च अधिकारियों द्वारा लिए जा रहे हैं। हम नियम को ध्यान में रखते हुए ऑड-ईवन नियम लागू करेंगे। अब जबकि ज्यादातर लोग घर से काम कर रहे हैं, इस योजना को लागू करना ज्यादा मुश्किल नहीं होना चाहिए।"

Most Read Articles

Hindi
English summary
Haryana government may implement odd even rule to curb pollution details
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X