फोर्ड के चेन्नई प्लांट में कर्मचारियों ने किया हड़ताल, कोरोना से बचाने के लिए प्रबंधन से लगाई गुहार

कोरोना महामारी की दूसरी लहर से देश का ऑटोमोबाइल सेक्टर प्रभावित है। मारुति सुजुकी, हुंडई, निसान समेत कई कार कंपनियों ने अपने कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए प्लांट बंद कर दिए हैं। वहीं, कुछ कंपनियों के कर्मचारी कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाने के लिए अस्थायी रूप से प्लांट बंद करने की मांग कर रहे हैं।

फोर्ड के चेन्नई प्लांट में कर्मचारियों ने किया हड़ताल, कोरोना से बचाने के लिए प्रबंधन से लगाई गुहार

रेनॉल्ट-निसान के बाद अब चेन्नई स्थित फोर्ड मोटर्स के कर्मचारी भी प्रबंधन से प्लांट बंद करने की मांग कर रहे हैं। आज कर्मचारियों ने अपनी इसी मांग को लेकर वर्किंग ऑवर की दूसरी पाली में काम बंद कर हड़ताल किया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कर्मचारियों की मांग है कि कंपनी उन्हें सवैतनिक अवकाश और स्वास्थ्य लाभ की गारंटी दे।

MOST READ: Maruti Suzuki जम्मू-कश्मीर में लगाएगी दो ऑक्सीजन प्लांट, कोरोना से लड़ने में करेगी मदद

फोर्ड के चेन्नई प्लांट में कर्मचारियों ने किया हड़ताल, कोरोना से बचाने के लिए प्रबंधन से लगाई गुहार

बता दें कि फोर्ड कर्मचारी यूनियन ने कर्मचारियों के स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं को लेकर प्रबंधन को एक पत्र भेजा था। श्रमिक संघ के अनुसार प्लांट में अब तक 230 कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। संघ के पत्र में कथित तौर पर कहा गया है कि फोर्ड को उन श्रमिकों के सभी चिकित्सा खर्चों का भुगतान करना चाहिए जो कोरोना वायरस से प्रभावित हुए हैं।

फोर्ड के चेन्नई प्लांट में कर्मचारियों ने किया हड़ताल, कोरोना से बचाने के लिए प्रबंधन से लगाई गुहार

संघ ने तमिलनाडु में सोमवार तक चलने वाले पूर्ण तालाबंदी के दौरान संयंत्र को बंद करने का भी आह्वान किया। साथ ही, श्रमिक संघ ने कोविड -19 के कारण मरने वाले दो श्रमिकों में से प्रत्येक के परिवारों के लिए 1 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग की है।

MOST READ: लॉकडाउन में ऐसे करें Electric Scooter की देखभाल, ये जरूरी टिप्स करें फॉलो

फोर्ड के चेन्नई प्लांट में कर्मचारियों ने किया हड़ताल, कोरोना से बचाने के लिए प्रबंधन से लगाई गुहार

तमिलनाडु को भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग का डेट्रॉइट माना जाता है क्योंकि यहां कई ऑटोमोबाइल कंपनियों के निर्माण संयंत्र हैं। संक्रमण बढ़ने के कारण हुंडई, रेनॉल्ट और निसान ने भी अपने उत्पादन पर रोक लगा दिया है।

फोर्ड के चेन्नई प्लांट में कर्मचारियों ने किया हड़ताल, कोरोना से बचाने के लिए प्रबंधन से लगाई गुहार

फोर्ड वर्तमान में श्रमिक संघ के साथ बातचीत कर रही है और छह दिनों के बंद की घोषणा कर सकती है। हालांकि, अभी अंतिम फैसला लिया जाना बाकी है। फोर्ड भारत में तमिलनाडु और गुजरात में संयंत्र का संचालन करती है।

फोर्ड के चेन्नई प्लांट में कर्मचारियों ने किया हड़ताल, कोरोना से बचाने के लिए प्रबंधन से लगाई गुहार

फोर्ड ने लॉन्च की इलेक्ट्रिक F-150 ट्रक

फोर्ड (Ford) ने अमेरिका में अपनी पहली इलेक्ट्रिक पिकअप ट्रक फोर्ड एफ-150 लाइटनिंग (Ford F-150 Lightning) को लॉन्च कर दिया है। कंपनी का दावा है कि यह ट्रक न केवल किफायती है बल्कि कई आधुनिक फीचर्स से लैस है। कंपनी ने अमेरिका में इसे 39,974 डॉलर की कीमत पर उतारा है जो भारतीय मुद्रा में तकरीबन 30 लाख रुपये है।

फोर्ड के चेन्नई प्लांट में कर्मचारियों ने किया हड़ताल, कोरोना से बचाने के लिए प्रबंधन से लगाई गुहार

Ford F-150 Lightning 63 Bhp की अधिकतम पावर और 1,050 Nm का अधिकतम टॉर्क जनरेट करने में सक्षम है। इस ट्रक में 150 kWh की लिथियम आयन बैटरी पैक का इस्तेमाल किया गया है जो केवल 45 मिनट में 15 से 80 प्रतिशत तक चार्ज हो जाती है। यह ट्रक केवल 10 मिनट के चार्ज में 80 किलोमीटर तक चल सकती है।

Source: HT Auto

Most Read Articles

Hindi
Read more on #फोर्ड #ford
English summary
Ford Chennai workers’ union demand plant shutdown and paid leave amid Covid-19 crisis. Read in Hindi.
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X