Europe में पारंपरिक कारों से सस्ती बिकेगी Electric कारें, 2035 से बिकने वाली हर कार होगी इलेक्ट्रिक

दुनिया भर में नए और सख्त उत्सर्जन मानकों के लागू होने के बाद कई देश अपने यहां इलेक्ट्रिक कारों को बढ़ावा देने के लिए कीमतें कम कर रही है। ब्लूमबर्ग न्यू एनर्जी फाइनेंस की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2026 तक यूरोप में इलेक्ट्रिक कारों की कीमत पेट्रोल और डीजल पर चलने वाली पारंपरिक कारों से कम हो जाएंगी। इसी रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि 2035 से खरीदी जाने वाली हर नई कार इलेक्ट्रिक होगी।

European देशों में पारंपरिक कारों से सस्ती होगी Electric कारें, 2035 से बिकने वाली हर कार होगी इलेक्ट्रिक

रिपोर्ट में बताया गया है कि अगर यूरोप में इलेक्ट्रिक वाहन नीति को और भी बेहतर तरीके से बनाया गया तो 2030 के बाद कारों की बिक्री में 50 प्रतिशत हिस्सा इलेक्ट्रिक कारों का होगा, वहीं 2035 के बाद इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री बढ़कर 85 प्रतिशत हो जाएगी।

MOST READ: BS6 Isuzu D-Max V-Cross और Hi-Lander के किस वैरिएंट में हैं कौन से फीचर्स, जानें यहां

European देशों में पारंपरिक कारों से सस्ती होगी Electric कारें, 2035 से बिकने वाली हर कार होगी इलेक्ट्रिक

हालांकि, रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि अगर सरकारें उत्सर्जन मानकों को और सख्त करें तो 2035 से ही बाजार में इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री को 100 प्रतिशत करने का लक्ष्य पूरा किया जा सकता है। इसके लिए तेज गति से चार्जिंग स्टेशन और इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण करना होगा।

European देशों में पारंपरिक कारों से सस्ती होगी Electric कारें, 2035 से बिकने वाली हर कार होगी इलेक्ट्रिक

यूरोप में वाहन कंपनियों पर दबाव है की वह वाहनों से होने वाले कार्बन उत्सर्जन को 95 ग्राम प्रति किलोमीटर से ज्यादा नहीं होने दें। इस नियम का उल्लंघन करने पर वाहन कंपनियों को भारी जुर्माना भरना पड़ेगा।

MOST READ: फोर्ड ला रही है इलेक्ट्रिक ट्रक, Tesla Cybertruck और GMC Hummer Electric को देगी टक्कर

European देशों में पारंपरिक कारों से सस्ती होगी Electric कारें, 2035 से बिकने वाली हर कार होगी इलेक्ट्रिक

इन नियमों को देखते हुए यूरोपीय यूनियन के तहत आने वाले सभी देशों में पारंपरिक कारों का बेहतर विकल्प तलाशने की होड़ लग गई है। कंपनियां इलेक्ट्रिक कारों पर रिसर्च करने और चार्जिंग ढांचा तैयार करने में करोड़ों डॉलर का खर्च कर रही हैं।

European देशों में पारंपरिक कारों से सस्ती होगी Electric कारें, 2035 से बिकने वाली हर कार होगी इलेक्ट्रिक

इलेक्ट्रिक कारों के लिए बेहतर बाजार उपलब्ध होने और लागत के कम होने से लोग इलेक्ट्रिक कारों के प्रति आकर्षित होंगे। जिससे बिक्री बढ़ेगी और कंपनियों को कीमत नियंत्रित रखने में मदद मिलेगी। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि 2026 आते आते यूरोप में इलेक्ट्रिक कारों की कीमत पेट्रोल -डीजल से चलने वाली कारों के समान या उससे भी कम हो सकती हैं।

European देशों में पारंपरिक कारों से सस्ती होगी Electric कारें, 2035 से बिकने वाली हर कार होगी इलेक्ट्रिक

यूरोप के देश ऐसी इलेक्ट्रिक वाहन नीति तैयार करने में लगे हैं जिससे वाहन कंपनियों को बिना घाटे के इलेक्ट्रिक कारों की कीमत कम रखने का प्रोत्साहन मिले। मौजूदा समय में यूरोप में एक इलेक्ट्रिक सेडान की कीमत 49,000 डॉलर (40 लाख रुपये) है, लेकिन 2026 तक इसकी कीमत घटकर लगभग आधा रहने की उम्मीद है।

Most Read Articles

Hindi
English summary
European countries to have electric car cheaper than conventional cars by 2036 report details. Read in Hindi.
Story first published: Tuesday, May 11, 2021, 19:13 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X