बुरी खबर: अगले साल से और महंगे हो सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन, जानें क्या है कारण

भारतीय ऑटोमोबाइल बाजार में समय बीतने के साथ इलेक्ट्रिक वाहन अधिक किफायती होते जा रहे हैं। यह सुनिश्चित करने में एक महत्वपूर्ण कारक यह है कि ग्राहक नई तकनीक को अपनाने के लिए आगे बढ़ रहे हैं। जहां सरकारी सब्सिडी और बड़े पैमाने पर उत्पादन ऐसे वाहनों को अधिक लोकप्रिय बनाने वाले कुछ प्रमुख कारक हैं, वहीं बैटरी की गिरती कीमत भी मदद कर रही है।

बुरी खबर: अगले साल से और महंगे हो सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन, जानें क्या है कारण

लेकिन बड़ी खबर यह है कि कीमतों में गिरावट ज्यादा दिनों तक नहीं चल सकती है। अपनी वार्षिक बैटरी रिपोर्ट में BloombergNEF ने माना कि प्रति kWh की औसत कीमत पिछले साल के 140 डॉलर से गिरकर 132 डॉलर और 2010 में 1,200 डॉलर तक पहुंच गई थी।

बुरी खबर: अगले साल से और महंगे हो सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन, जानें क्या है कारण

विशेष रूप से ईवी के लिए बैटरी औसतन लगभग 118 प्रति डॉलर kWh की कीमत पर आती है। लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि लिथियम की बढ़ती कीमतें और हाल के दिनों में कच्चे माल की ऊंची लागत संभावित संकेत हैं कि आने वाले वर्ष में बैटरी अधिक महंगी हो सकती है।

बुरी खबर: अगले साल से और महंगे हो सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन, जानें क्या है कारण

चूंकि बैटरी की लागत ईवी की कीमत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, ऐसे में वाहनों की कीमतों में भी बढ़ोतरी देखी जा सकती है। BNED रिपोर्ट के प्रमुख लेखक, James Frith का इस बारे में कहना है कि "हालांकि 2021 में बैटरी की कीमतें कुल मिलाकर गिर गईं, लेकिन साल की दूसरी छमाही में कीमतें बढ़ रही हैं।"

बुरी खबर: अगले साल से और महंगे हो सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन, जानें क्या है कारण

उन्होंने कहा कि "यह वाहन निर्माताओं के लिए एक कठिन वातावरण बनाता है, विशेष रूप से यूरोप में, जिन्हें औसत फ्लीट उत्सर्जन मानकों को पूरा करने के लिए ईवी की बिक्री बढ़ानी पड़ती है।" यह देखा जाना बाकी है कि ऑटो ब्रांड कैसे विकासशील स्थिति से निपटने का फैसला करते हैं।

बुरी खबर: अगले साल से और महंगे हो सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन, जानें क्या है कारण

ऐसे में कंपनियां या तो मूल्य वृद्धि को अवशोषित करने का विकल्प चुनेंगे, जिसका अर्थ है कि लाभ मार्जिन में कटौती या इसे ग्राहकों को देना होगा। यह दूसरा बिट हमेशा ऐसे ग्राहकों को बैटरी से चलने वाले विकल्प से दूर करने का जोखिम उठाता है।

बुरी खबर: अगले साल से और महंगे हो सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन, जानें क्या है कारण

Tesla, Mercedes, Volkswagen से Renault, Toyota, Hyundai, GM और Nissan तक - बड़ी संख्या में कार निर्माता कंपनियों ने अपनी इलेक्ट्रिक महत्वाकांक्षाओं को स्पष्ट रूप से स्पष्ट कर दिया है। लेकिन ईवी सेगमेंट में कटौती करते हुए, कई लोगों का मानना ​​है कि कीमत, रेंज के अलावा संभावित खरीदारों के दिमाग में एक संवेदनशील विषय बना हुआ है।

बुरी खबर: अगले साल से और महंगे हो सकते हैं इलेक्ट्रिक वाहन, जानें क्या है कारण

इलेक्ट्रिक वाहनों में इस्तेमाल होने वाली लीथियम-आयन बैटरी के महंगा होने पर वाहनों की कीमत पर भी असर पड़ेगा। ऐसे में जहां एक ओर संभावित ग्राहक इन वाहनों की रेंज और चार्जिंग जैसी चुनौतियों के झेलने से पीछे हट रहे हैं, तो ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या वे कीमत बढ़ने के बाद इलेक्ट्रिक वाहनों की ओर रुख करेंगे।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Electric vehicles price could rise in next year here is the reason details
Story first published: Wednesday, December 1, 2021, 13:26 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X