Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

गियरबॉक्स, हमारे वाहनों की सबसे अहम हिस्सों में हैं और ऑटोमोबाइल के बनने की शुरुआत से लेकर अब तक कई बदलाव आ चुके हैं। अब कई कार कंपनियां अलग-अलग प्रकार के गियरबॉक्स ला चुके हैं और इसे अलग-अलग नाम दिया है, आज हम इस कंफ्यूजन को दूर करने के लिए गियरबॉक्स के प्रकार की जानकारी लेकर आये हैं।

आइये जानते हैं गियरबॉक्स के प्रकार

Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

1. मैन्युअल गियरबॉक्स

यह सबसे उपयोग की जाने वाली गियरबॉक्स में से हैं। इस गियरबॉक्स में चालक को खुद से गियर स्टिक की मदद से गियर लगाना होगा, जिस गियर में कार को चलाना चाहते हैं। गियरबॉक्स को डिसइंगेज करने के लिए क्लच पैडल का उपयोग करना होगा, और अपने हाथ से गियर बदलना होगा।

Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

2. ऑटोमेटिक गियरबॉक्स

पारंपरिक ऑटोमेटिक गियरबॉक्स का भी अधिकतर कारों में उपयोग किया जाता है। इस गियरबॉक्स में गियर बदलने के लिए क्लच की जगह हाईड्रालिक फ्ल्युइड कपलिंग व टार्क कन्वर्टर का उपयोग किया जाता है। इसका ईसीयू मेकैनिज्म से डायरेक्टली कनेक्टेड रहती है जो वाहन के इंजन को स्मूथ व तरीके से चलने में मदद करता है।

MOST READ: कार के इंजन में लगे होतें हैं यह पार्ट्स, जानें

Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

3. ऑटोमेटेड-मैन्युअल ट्रांसमिशन (एएमटी)

इसे कई बार सेमी-ऑटोमेटिक गियरबॉक्स नाम भी दिया गया है। इस तरह की ऑटोमेटिक गियरबॉक्स रेग्युलर क्लच व गियर कंफिगरेशन का उपयोग किया जाता है, लेकिन साथ ही सेंसर, एक्ट्युटेटर, प्रोसेसर व न्यूमेटिक का उपयोग किया जाता है ताकि मैन्युअल गियर का नुकरण किया जा सके। इस तरह के गियरबॉक्स को लंबी दूरी पर अधिक माइलेज के लिए जाना जाता है।

Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

4. कंटिन्यूस्ली वैरिबल ट्रांसमिशन (सीवीटी)

पारम्परिक स्टील गियर की जगह पर बेल्ट या पुली का उपयोग किया जाता है, कंटिन्यूस्ली वैरिबल ट्रांसमिशन आसानी से गियर शिफ्ट करने में मदद करता है जो कि विभिन्न रेशियो के हिसाब से होता है, यह इंजन स्पीड व आरपीएम पर निर्भर करता है। यह लगातार एक्सिलरेशन व अधिक माइलेज में प्रदान करता है, जो कि माइलेज के लिए भी बेहतर है।

MOST READ: सर्दियों में कम पैसे खर्च कर कैसे रखें अपनी कार का ख्याल?

Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

5. डुअल क्लच ट्रांसमिशन (डीसीटी)

यह ऑटोमेटिक व मैन्युअल ट्रांशमिशन का कॉम्बिनेशन है, लेकिन इसमें टार्क कन्वर्टर नहीं दिया गया है। इसकी जगह पर यह गियर बदलने के लिए दो अलग शाफ्ट, उनके क्लच के साथ, उपयोग करते हैं, एक विषम नंबर वाली गियरबॉक्स व एक सम नंबर वाली गियरबॉक्स के लिए किया जाता है।

Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

अधिक से कम गियर बहुत ही आसान है। इस गियरबॉक्स में ड्राईवर को गियरबॉक्स फ्लूइड बदलने की कभी जरूरत नहीं पड़ती है, इस वजह से क्लच सूख जाता है और समय के साथ यह इसकी घर्षण क्वालिटी कम हो जाती है, जो कि कार के लिए अच्छा नहीं है।

MOST READ: भारत में मौजूद टॉप 10 अजीबो-गरीब जुगाड़ वाहन

Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

6. इंटेलीजेंट मैन्युअल ट्रांसमिशन (आईएमटी)

आईएमटी एक मैन्युअल गियरबॉक्स है जिसे इस तरह मॉडिफाई किया गया है कि ड्राईवर से क्लच इनपुट की जरूरत नहीं पड़ती है। कंपनी का कहना है कि यह तकनीक गियर लीवर के साथ इंटेंसन सेंसर का उपयोग करता है, जो ट्रांसमिशन कंट्रोल यूनिट (टीसीयू) को जानकारी दे देता है कि ड्राईवर कब गियर बदलने वाला है।

Types Of Gearbox: गियरबॉक्स के प्रकार: मैन्युअल, ऑटोमेटिक, एएमटी, सीवीटी, डीसीटी, आईएमटी

इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें मैनुअली क्लच को ऑपरेट करने की जरूरत नहीं पड़ती, जो कि शहर में ट्रैफिक के दौरान ड्राइविंग में आपकी चिंता कम कर देता है। हुंडई ने यह भी कहा है कि यह माइलेज व परफोर्मेंस में बिना कोई समझौता किये आराम को बढ़ाने वाली है।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Types Of Gearbox: Manual, Automatic, CVT, DCT, iMT. Read in Hindi.
Story first published: Monday, November 30, 2020, 13:18 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X