Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

मोटर वाहन अधिनियम 1988 में संशोधित के बाद वाहन के आगे बुल बार लगाना गैरकानूनी कर दिया गया है। कार के आगे टक्कर के दौरान नुकसान से बचाने के लिए लगाया जाने वाला बुल बार सड़क पर चल रहे अन्य लोगों के लिए खतरनाक हो सकता है। कार पर लगे बुल बार के टक्कर से गंभीर रूप से घायल होने और मौत के कई मामले सामने आये हैं।

Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

इस समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने संशोधित मोटर वाहन अधिनियम में बुल बार पर बैन लगा दिया है। बैन के बाद अब कई राज्यों में ऐसे वाहनों की धर-पकड़ शुरू हो चुकी है। कई राज्यों में पुलिस बुल बार लगे वाहनों को पकड़ने और चालान करने के लिए अभियान चला रही है।

Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

अभी हाल ही में तमिलनाडु के कोयंबतूर में ट्रैफिक पुलिस ने 300 से अधिक बुल बार लगे वाहनों को जब्त कर जुर्माना लगाया है। पुलिस ऐसे वाहनों में से बुल बार हटवाने के लिए मैकेनिक का भी सहारा ले रही है।

MOST READ: सन मोबिलिटी बेंगलुरु में बनाएगी 100 बैटरी स्वैपिंग स्टेशन

Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

यही नहीं, तमिलनाडु में बुल बार लगे वाहनों को फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं दिया जा रहा है। ऐसे वाहनों पर पुलिस 1000 रुपये का जुर्माना लगा रही है। नए नियम के अनुसार बुल बार लगवाने से दुर्घटना के समय एयर बैग समय पर नहीं खुलता जिससे कार के अंदर बैठे लोगों के घायल होने का खतरा बढ़ जाता है।

Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

कई बार ऐसे वाहन सड़क पर चल रहे लोगों के लिए भी खतरनाक साबित होते हैं। सड़क पर चलने वाले लोग बुल बार की चपटे में आने से बुरी तरह घायल हो सकते हैं और जान भी जा सकती है।

MOST READ: महिंद्रा ने ‘स्कॉर्पियन' नाम करवाया रजिस्टर, जानें

Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

आम तौर पर कार ग्राहक दुर्घटना के समय कार को सुरक्षित रखें के लिए बुल बार लगवाते हैं, लेकिन क्रैश के समय यह कार की सुरक्षा नहीं करता बल्कि और अधिक खतरनाक हो जाता है।

Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

बुल बार को कार के चेसी पर फिट किया जाता है। अगर कार की सामने किसी चीज से टक्कर होती है तो इसका असर कार के फ्रंट से होते हुए सीधा चेसी तक पहुंच जाता है, जिससे कार का ढांचा बिगड़ जाता है और अन्दर बैठे लोगों को भारी नुकसान होने की संभावना रहती है।

Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

कार के अगले भाग को दुर्घटना झेलने के लिए बनाया जाता है ताकि कार के अन्दर बैठे लोगों को कम से कम नुकसान हो। दुर्घटना के समय यह हिस्सा झटके को बर्दाश करता है ताकि इसका असर अन्दर बैठे लोगों पर कम हो।

Vehicles Fined For Using Bull Bar: बुल बार लगे 300 से अधिक वाहनों का कटा चालान

एक रिपोर्ट के अनुसार अगस्त 2019 में संशोधित मोटर वाहन अधिनियम लागू होने के बाद सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों में कमी आई है। सड़क एवं परिवहन मंत्रालय द्वारा जारी 9 राज्यों की सड़क दुर्घटनाओं की रिपोर्ट में सितंबर और अक्टूबर 2018 के दौरान सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों के मुकाबले 2019 के समान अवधि में काफी कमी आई है। आठ राज्यों में मृत्यु दर में औसत गिरावट लगभग 22 प्रतिशत थी।

नोट: तस्वीरों का इस्तेमाल सांकेतिक तौर पर किया गया है।

Most Read Articles

Hindi
English summary
Coimbatore police fines over 300 vehicles for using bull bar. Read in Hindi.
Story first published: Saturday, December 26, 2020, 20:00 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X