ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

दिल्ली ट्रांसपोर्ट विभाग ने दंडात्मक करवाई करते हुए शुक्रवार को 14 डीलरों का ट्रेड लाइसेंस ससपेंड कर दिया है। बताया जा रहा है कि यह डीलर अपने डीलरशिप में प्रदूषण जांच केंद्र (पीयूसी) नहीं चला रहे थे।

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

लाइसेंस रद्द होने के वहज से यह डीलर अब दो महीनों तक किसी भी वाहन की बिक्री नहीं कर पाएंगे। ट्रांसपोर्ट विभाग डीलरों को वाहन बेंचने के लिए ट्रेड सर्टिफिकेट देती है। यह एक लाइसेंस के तौर पर काम करता है।

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

हालांकि अधिकारीयों ने कहा है कि अगर डीलरशिप इस अवधि के दौरान प्रदूषण जांच केंद्र चालू कर देते हैं तो उनसे जुर्माना वसूल कर लइसेंस लौटा दिया जाएगा।

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

बगैर ट्रेड सर्टिफिकेट के किसी भी डीलर को वाहन बेचने की अनुमति नहीं होती है। किसी भी वाहन की डीलरशिप लेने के लिए प्रदुषण जांच केंद्र खोलने की अनिवार्यता होती है।

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

यह जांच केंद्र डीलरशिप के अंदर ही होते हैं, जहां वाहनों का उत्सर्जन परीक्षण किया जाता है। एक रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में प्रतिदिन 30 से 35 हजार वाहन उत्सर्जन परीक्षण के लिए प्रदुषण जांच केंद्र पहुंचते हैं।

Most Read: मुंबई में शोरूम से बहार आ गिरी किया सेल्टोस एसयूवी, एयरबैग ने बचाई ड्राइवर की जान

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

दिल्ली ट्रांसपोर्ट विभाग के अंतर्गत 43 प्रदूषण जांच केंद्र चलाये जा रहे हैं। इन जांच केंद्रों में वाहन के धुंए में कार्बन मोनोऑक्साइड, हाइड्रोकार्बन और अन्य वायु प्रदूषकों के उत्सर्जन के लिए वाहनों की जांच की जाती है।

Most Read: नशे में धुत बाइक सवार हुए हादसे का शिकार, देखें वाइरल वीडियो

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

परीक्षण के आधार पर, उत्सर्जन और प्रदूषण नियंत्रण मानदंडों को पूरा करने वाले वाहनों को प्रमाणित करने के लिए एक पीयूसी प्रमाणपत्र जारी किया जाता है।

Most Read: एमजी हेक्टर के ग्राहक ने कार में बंधवाया गधा, कहा यह कार इंसानों के लायक नहीं

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

संशोधित मोटर वाहन अधिनियम 2019 के तहत बगैर पीयूसी सर्टिफिकेट के वाहन पर 1000 रुपये जुर्माने का प्रावधान है। जबकि इसके बाद उल्लंघन करने पर 10,000 रुपये तक अत्यधिक जुर्माना वसूल किया जा सकता है।

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

ड्राइवस्पार्क के विचार

1 सितंबर से नए मोटर वाहन अधिनियम लागू होने के बाद उत्सर्जन प्रमाण लेने वालों की भीड़ कई गुना बढ़ गई है। इसको देखते हुए दिल्ली प्रसाशन ने वाहन डीलरों को डीलरशिप में ही प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के निर्देश दिए थे।

ट्रांसपोर्ट विभाग ने रद्द किया 14 डीलरों का सर्टिफिकेट, नहीं चला रहे थे प्रदूषण जांच केंद्र

जांच केंद्र वाहनों में कार्बन उत्सर्जन को मापने में काफी मदद करते हैं, इसके अनुसार वाहन मालिक अपने वाहन जरूरी बदलाव कर उत्सर्जन को नियंत्रित कर सकते हैं।

Most Read Articles

Hindi
English summary
14 major vehicle dealer trade certificate suspended by transport department. Read in Hindi.
Story first published: Saturday, December 14, 2019, 16:34 [IST]
 
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X