मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

Written By: Abhishek Dubey

भारत की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने अपनी नई स्विफ्ट और बलेनो की 50 हजार से ज्यादा कारें वापस मंगाई हैं। इस रिकॉल के पीछे कारों की ब्रेक में कुछ गड़बडी को बताया जा रहा है। रिकॉल की गई सभी कारों के ब्रेक बूस्टर की जांच कंपनी फ्री में करेगी।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

वेबसाइट नेक्सा के अनुसार कंपनी ने स्विफ्ट और बलेने के कुल 52,686 यूनिट्स को वापस मंगाया है। ये कारें 1 दिसंबर 2017 से 16 मार्च 2018 के बीच बनी हैं। 14 मई 2018 से डीलर्स इन कारों के मालिकों से कॉन्टैक्ट करेंगे और उन्हें कार की जांच करवाने के लिए कहेंगे।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

14 मई 2018 से इंस्पेक्शन शुरू होगा और अगर ब्रेक बूस्टर में खराबी निकली तो कंपनी इसे मुफ्त में रिप्लेस भी करके देगी, इसके लिए मालिकों को कोई पैसे नहीं देने होंगे।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

हालांकि इस सर्विस के लिए कंपनी खुद कार मालिकों से कॉन्टैक्ट करेगी, लेकिन फिर भी यदि आप खुद चेक करना चाहते हैं कि आपकी कार इस रिकॉल में शामिल है यै नहीं तो आप नेक्सा वेबसाइट पर जाकर ये जान सकते हैं। वहां बस आपको कार का चेसिस नंबर टाइप करना होगा।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

बता दें कि नई स्विफ्ट और बलेनो का प्रोडक्शन गुजरात स्थित मारुति के प्लांट में किया गया है। स्विफ्ट की डिमांड लगातार बढ़ती जा रही है और कंपनी ने इसके प्रोडक्शन को और तेज कर दिया है।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

वैसे ब्रेक बूस्टर सिस्टम में कोई बड़ी खराबी नहीं आई थी। इससे ब्रेक एकदम बंद नहीं हो जाता है। लेकिन फिर भी ये कार की ब्रेकिंग क्षमता को जरूर कम कर देता है।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

मारुति स्विफ्ट और बलेनो में ब्रेकिंग के अलावा भी कई सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं। इसमें डुअल एयरबैग और एबीएस स्टैंडर्ड के तौर पर दिया गया है।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

बता दें कि बलेनो प्रीमियम हैचबैक कारों में देश की बेस्ट सेलिंग कार रही है और लॉन्च के बाद से नई स्विफ्ट की डिमांड भी बढ़ती ही जा रही है। इसलिए इस रिकॉल से इनकी सेल पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

मारुति ने हाल ही में खत्म हुए ऑटो एक्सपो 2018 में स्विफ्ट का थर्ड जनरेशन लॉन्च किया था। लॉन्च के बाद से इसके लाखों यूनिट्स की बुकिंग हो चुकी है। इस पर दो से तीन महिनों का वेटिंग चल रहा है।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

नई स्विफ्ट कुल 12 वेरिएंट में उपलब्ध है, जिसमें 6 पेट्रोल और 6 डीजल वेरिएंट है, इनमें VXI, VDI, ZXI और ZDI वेरिएंट में न्यू ऑटोमेटेड मैनुअल ट्रांसमिशन गियरबॉक्स दिया गया है।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

मारुति स्विफ्ट 2018 भी उसी इंजन द्वारा संचालित है जो इसके पिछले वर्जन में लगा था। पेट्रोल k-सीरीज मारुति स्विफ्ट में 1.2-लीटर का नैचुरली एस्पिरेटेड इंजन लगा है जो 6,000rpm पर 83bhp और 4000rpm पर 115Nm का टार्क जनरेट करता है।

मारुति स्विफ्ट और बलेनो की 52,686 यूनिट्स को किया गया रिकॉल - जानें कारण

डीजल मारुति स्विफ्ट में टर्बोचार्ज्ड डीज़ल इंजन लगा है जो 4,000rpm पर 74bhp और 2000rpm पर 115Nm का टार्क पैदा करता है। दोनों इंजनों के साथ 5-स्पीड मैनुअल और AMT गियरबॉक्स का ऑप्शन दिया गया है।

English summary
New Maruti Swift And Baleno Recalled In India — Here’s Why. Read in Hindi.

Latest Photos

 

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark