अब वाहनों पर CO2 उत्सर्जन के हिसाब से लगेगा टैक्स, क्या आपने जांच कराया

देश भर की सड़कों पर दौड़ने वाले वाहनों को लेकर सरकार अब एक नया नियम लेकर आने वाली है। यदि आप भी एक वाहन के मालिक हैं और अब तक आपने अपने वाहन का प्रदूषण जांच नहीं कराया है तो करा लीजिए। क्योंकि अब सरकार वाहनों पर उनके प्रदूषण उत्सर्जन के अनुसार टैक्स वसूलने की तैयारी कर रही है।

अब वाहनों पर CO2 उत्सर्जन के हिसाब से लगेगा टैक्स, क्या आपने जांच कराया

एक नई नेशनल आॅटो पॉलिसी के अन्तर्गत वाहनों से निकलने वाले CO2 emissions के आधार पर उनसे टैक्स लिया जायेगा। आपको बता दें कि, अब तक वाहनों की लंबाई, चौड़ाई और ग्राउंड क्लीयरेंस के आधार पर ही सरकार टैक्स लेती रही है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब आपकी कार जितना कार्बन डाइआॅक्साइड का उत्सर्जन करेगी आपको उसके हिसाब से टैक्स देना होगा।

अब वाहनों पर CO2 उत्सर्जन के हिसाब से लगेगा टैक्स, क्या आपने जांच कराया

दरअसल, इस नये नियम के साथ सरकार देश भर में वाहन मालिकों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करना चाहती है। इसके लिए हैवी इंडस्ट्री मिनिस्ट्री एक सिंगल रेग्यूलेटरी बॉडी का गठन करेगी जो कि वाहनों से उत्सर्जित होने वाने सीओ2 के आधार पर टैक्स के मानकों को तय करेंगे। इसके लिए सरकार पहल कर चुकी है और इस पर चर्चा भी शुरू हो चुकी है।

अब वाहनों पर CO2 उत्सर्जन के हिसाब से लगेगा टैक्स, क्या आपने जांच कराया

बताया जा रहा है कि, इस नई नीति पर विचार विर्मश करने के बाद एक ड्राफ्ट भी तैयार कर लिया गया है। गौरतबल हो कि, अब तक वाहनों पर उनके आकार प्रकार और इंजन के आधार पर ही टैक्स लगाया जाता रहा है। लेकिन ऐसा पहली बार होगा जब वाहन से निकलने वाले कॉर्बन डाइआॅक्साइड के आधार पर टैक्स लगाया जायेगा।

अब वाहनों पर CO2 उत्सर्जन के हिसाब से लगेगा टैक्स, क्या आपने जांच कराया

सरकार का मनना है कि, इस नई नीति से बहुत से फायदे होंगे। जहां एक तरफ वाहनों के आकार पर लगाये जाने वाला टैक्स वर्गीकरण वाहनों की भीड़ को कम करने में मदद करता है वहीं सीओ2 पर लगाये जाने वाला टैक्स देश भर में पर्यावरण को भी सुरक्षित रखने में मदद करेगा।

अब वाहनों पर CO2 उत्सर्जन के हिसाब से लगेगा टैक्स, क्या आपने जांच कराया

इसके अलावा ये टैक्स पॉलिसी देश के राजस्व को भी बेहतर बनाने में मदद करेगी। हालांकि अभी ये तय नहीं किया जा सका है कि, वाहनों से उत्सर्जित होने वाले सीओ2 में टैक्स के मानक क्या क्या होंगे। अभी इस विषय पर चर्चा हो रही है और बहुत जल्द ही मानकों को भी तय कर लिया जायेगा।

अब वाहनों पर CO2 उत्सर्जन के हिसाब से लगेगा टैक्स, क्या आपने जांच कराया

भारत सरकार देश में हरित गतिशीलता की ओर तेजी से बढ़ रही है। सीओ 2 उत्सर्जन के आधार पर कराधान की दिशा में ये कदम सरकार द्वारा कई कदमों में से एक है। इससे सरकार देश में पर्यावरण को बेहतर बनाने के साथ ही राजस्व को भी बेहतर करने में मदद मिलेगी। ऐसा माना जा रहा है कि, देश भर में हरित गतिशिलता की ओर सरकार द्वारा उठाया जाने वाला ये एक बेहद ही शानदार कदम है।

अब वाहनों पर CO2 उत्सर्जन के हिसाब से लगेगा टैक्स, क्या आपने जांच कराया

कहां करा सकते हैं प्रदूषण जांच:

यदि आपने अब तक अपनी कार का प्रदूषण जांच नहीं कराया है तो आप अपने किसी भी नजदीकी पेट्रोल पंप पर पहुंच कर अपने वाहन से उत्सर्जित होने वाले प्रदूषण की जांच करा सकते हैं। आपको बता दें कि, देश की सरकार पर्यावरण को लेकर खासी चिंतित है। हाल ही में सरकार ने देश में बीएस4 वाहनों की ही बिक्री की अनुमति दी है। अब वाहनों से होने वाले प्रदूषण पर टैक्स लगाकर सरकार इस दिशा में एक कदम और भी आगे बढ़ना चाहती है। ताकि लोग स्वयं ही अपने वाहनों के प्रति सजग हो सकें।

Hindi
English summary
The new National Auto Policy will soon include taxation for automobiles based on their CO2 emissions. This move comes as a push towards green mobility by the government. Officials from the Heavy Industry Ministry have started discussions over the possibility of a single regulatory body for the automobile industry.
Story first published: Thursday, June 21, 2018, 18:05 [IST]
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more