लग्जरी कारों पर सेस से दो फीसदी टैक्स हुआ है कम, जानिए कैसे?

By Deepak Pandey

पहली खबर तो यह है कि लग्जरी कारों पर सेस बढ़ाने के अध्यादेश को कैबिनेट से मंजूरी मिल गई है और सरकार ने लग्जरी कारों पर सेस 15 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी कर दिया गया है। हालांकि सेस बढ़ाने का आखिरी फैसला जीएसटी काउंसिल का ही होगा।

लग्जरी कारों पर सेस से दो फीसदी टैक्स हुआ है कम, जानिए कैसे?

हां कैबिनेट ने जीएसटी मुआवजा एक्ट में जरूरी बदलाव को मंजूरी दी है। लिहाजा अध्यादेश लागू होने पर लग्जरी कारों पर 25 फीसदी सेस लगेगा। इस मसले को लेकर माना जा रहा है कि राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद लग्जरी कारों पर सेस में बढ़ोतरी का नोटिफिकेशन जारी होगा।

लग्जरी कारों पर सेस से दो फीसदी टैक्स हुआ है कम, जानिए कैसे?

वित्त मंत्रालय की ओर से नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा और ये नोटिफिकेशन जीएसटी काउंसिल की बैठक में पेश होगा। 9 सितंबर को जीएसटी काउंसिल की बैठक होनी है। सेस बढ़ने के बाद 1500 सीसी से ऊपर की सभी गाड़ियों पर सेस लगेगा। साथ ही 4 मीटर या उससे बड़ी गाड़ियों पर सेस लगेगा।

लग्जरी कारों पर सेस से दो फीसदी टैक्स हुआ है कम, जानिए कैसे?

इस तरह से देखा जाए तो मारुति की सियाज, महिंद्रा की एक्सयूवी 5ओओ, टाटा की हेक्सा और सफारी जैसी गाड़ियां महंगी हो जाएंगी। टाटा की जगुआर, लैंड रोवर की गाड़ियां भी महंगी होंगी। कार कंपनियों का मानना है कि सेस बढ़ने से कीमतें बढ़ेंगी जिससे कारों की मांग पर असर पड़ेगा।

लग्जरी कारों पर सेस से दो फीसदी टैक्स हुआ है कम, जानिए कैसे?

जबकि दूसरी ओर इस फैसले से सोशल साइट पर काफी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। कोई इस मसले पर सरकार को फेल बता रहा है तो कोई जीएसटी को भी सरकार की सबसे बड़ी असफलता बता रहा है। लेकिन इन सबके पीछे की जो वजह है उसके पीछे केवल जानकारी का अभाव होना ही है। आइए जानते हैं कि लग्जरी कारों पर सेस क्यों लगाया गया?

इसलिए लगाया गया सेस

इसलिए लगाया गया सेस

दरअसल जीएसटी लागू होने के बाद लक्जरी कारें एवं एसयूवी 12 फीसदी तक सस्ती हो गईं थीं। इसकी वजह से जीएसटी के पूर्व की तुलना में इनपर कर से होने वाली आय घट गई थी। इससे यह संदेश भी जा रहा था कि जीएसटी से आम लोगों की बजाय अमीरों को फायदा हुआ है।

चार मीटर से छोटी कारों पर ज्यादा असर

चार मीटर से छोटी कारों पर ज्यादा असर

1,200 सीसी क्षमता वाले पेट्रोल एवं 1,500 सीसी क्षमता वाले चार मीटर से छोटे वाहन जीएसटी से पहले की तुलना में 8.3 फीसदी तक महंगे हो जाएंगे। इनपर जीएसटी से पहले 44.7 फीसदी टैक्स था और जीएसटी में इसे सेस सहित 43 कर दिया गया। सेस में वृद्धि के बाद यह 53 फीसदी हो गया है।

एसयूवी होगी सस्ती

एसयूवी होगी सस्ती

जानकारों का यह कहना है कि जीएसटी से पहले स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (एसयूवी) पर 55 फीसदी टैक्स था। अब वृद्धि के बाद 53 फीसदी हो जाएगा। इस तरह जीएसटी के पूर्व की तुलना में यह दो फीसदी तक सस्ती रहेगी।

Drivespark की राय

Drivespark की राय

जीएसटी लागू होने के बाद लग्जरी गाड़ियों पर 28 फीसदी का टैक्स और 15 फीसदी सेस लग रहा था, जिससे कुल टैक्स 43 फीसदी था। हालांकि जीएसटी लागू से पहले इन गाड़ियों पर 55 फीसदी टैक्स चुकाना होता था। हालांकि सरकार द्वारा सेस बढ़ाने के बाद भी इन गाड़ियों पर जीएसटी आने से पहले की तुलना में 2 फीसदी कम ही टैक्स लगने वाली है।

Hindi
English summary
The central government has increased the 15 percent cess on luxury cars to 25 percent. The Ordinance has been approved in the Cabinet meeting on Wednesday.
Story first published: Thursday, August 31, 2017, 11:55 [IST]
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more