हाइब्रिड कारों पर गिरी जीएसटी की गाज, टोयोटा केमरी के बढ़े दाम

Written By:

भारत सरकार 1 जुलाई, 2017 से नए सामान और सेवा कर (जीएसटी) को लागू करने के लिए तैयार है। जिसका नए हाइब्रिड वाहनों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने वाला है। इसलिए जापानी ऑटोमेकर टोयोटा के भारतीय बाजार में केमरी और प्रियस में दो संकर मॉडल हैं। जीएसटी मानदंडों के अनुसार, हाइब्रिड कारों पर लगाए गए उपकर को 12 प्रतिशत से बढ़कर 43 प्रतिशत कर दिया जाएगा।

इसके अलावा, हाइब्रिड कारों पर सब्सिडी योजना को वापस ले लिया गया है, जो हाइब्रिड कारों की कीमतों को बढ़ा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक केमरी हाइब्रिड की कीमत 8 लाख से 10 लाख तक बढ़ जाएगी। वर्तमान में, केमरी हाइब्रिड की कीमत 31.98 लाख एक्स-शोरूम (दिल्ली) है।

बता दें कि टोयोटा केमरी हाइब्रिड एक इलेक्ट्रिक मोटर के साथ 2.5 लीटर पेट्रोल इंजन से संचालित होता है जिसमें 202 बीएचपी का उत्पादन होता है, और सीवीटी गियरबॉक्स के माध्यम से सामने पहियों को बिजली भेजती है।

नई केमरी हाइब्रिड केवल कम गति पर शुद्ध विद्युत मोड में चल सकता है। यह कार, इलेक्ट्रिक और इंजन शक्ति के संयोजन को स्विच करती है और ब्रेक रीजनरेशन के माध्यम से बैटरी को रिचार्ज किया जा सकता है। कंपनी इस मॉडल में 19 .11 किमी / लीटर का माइलेज का दावा करती है। केमरी हाइब्रिड 9.2 सेकंड में 0 से 100 किमी / घंटा तक बढ़ सकता है।

DriveSpark की राय

ऑटो निर्माताओं की माने तो नई जीएसटी नीति का कारों पर प्रतिकूल असर पड़ने वाला है, लेकिन दूसरी ओर, महंगी लक्जरी कारें सस्ती हो जाएगी। भारत सरकार हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक कारों के उपयोग को प्रोत्साहित करती है, लेकिन एक खरीदकर के रुप में आपको अपनी जेब ढ़ीली करनी पड़ेगी।

English summary
The Government of India is set to implement the new Goods and Service Tax (GST) from July 1, 2017. The new tax regime has an adverse impact on the hybrid vehicles.
Story first published: Thursday, June 29, 2017, 12:48 [IST]
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos