खत्म हुए एसयूवी और लक्जरी कारों के अच्छे दिन, महंगी होने की संभावना

Written By:

माल और सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने भारत में एसयूवी और लक्जरी कारों की कीमतों में वृद्धि को मंजूरी दी है। परिषद ने लक्जरी वाहनों के सैट को मौजूदा 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत करने का निर्णय लिया गया है।

खत्म हुए एसयूवी और लक्जरी कारों के अच्छे दिन, महंगी होने की संभावना

रिपोर्ट के मुताबिक सेस का संशोधन तत्काल होने की उम्मीद नहीं है क्योंकि किसी भी वृद्धि के लिए जीएसटी मुआवजा कानून में संशोधन की आवश्यकता होगी। इसलिए यदि आप एक एसयूवी या लक्जरी कार खरीदना चाहते हैं, तो यह खरीदने का सही समय है। बाद में आपको ये वाहन महंगे दरों पर मिल सकते हैं।

खत्म हुए एसयूवी और लक्जरी कारों के अच्छे दिन, महंगी होने की संभावना

इकोनामिक्स टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस खबर की जानकारी परिषद से जुड़े एक एक वरिष्ठ अधिकारी ने देते हुए कहा कि परिषद ने मुआवजा उपकर की लेवी की दर में वृद्धि करने के लिए जीएसटी कानून में एक संशोधन को मंजूरी दे दी है।

Recommended Video
Jeep Compass Launched In India | In Hindi - DriveSpark हिंदी
खत्म हुए एसयूवी और लक्जरी कारों के अच्छे दिन, महंगी होने की संभावना

इस आधिकारी ने यह भी कहा कि परिषद के समग्र दृष्टिकोण को हाई रेट से लक्जरी ऑटोमोबाइल पर सेस करना था ताकि इसकी आवश्यकता हो तो इसे बढ़ाया जा सके। एसयूवी और लक्जरी कार की कीमत पोस्ट जीएसटी के अनुसार, कारों की दर 28 प्रतिशत और लक्जरी वाहनों के लिए 15 प्रतिशत उपकर है, जो कि 43 प्रतिशत तक है।

खत्म हुए एसयूवी और लक्जरी कारों के अच्छे दिन, महंगी होने की संभावना

इस संशोधन के पूरा हो जाने के बाद, एसयूवी और लक्जरी कारों के लिए संशोधित जीएसटी 28 प्रतिशत और 25 प्रतिशत की उपकर होगी जो 53 प्रतिशत से अधिक होगी। जो कि किसी भी ग्राहक की जेब के हिसाब से बहुत ज्यादा होने वाला है।

खत्म हुए एसयूवी और लक्जरी कारों के अच्छे दिन, महंगी होने की संभावना

जीएसटी से पहले, एसयूवी ने 55.30 प्रतिशत की टैक्स दर और 4 लाख से अधिक की लम्बी कारों वाली लक्जरी कारों या बड़ी कारों को आकर्षित किया, जिसमें इंजन क्षमता 1500 सीसी से अधिक थी, जो 51.80 प्रतिशत थी।

खत्म हुए एसयूवी और लक्जरी कारों के अच्छे दिन, महंगी होने की संभावना

जीएसटी के बाद, ज्यादातर लक्जरी कार निर्माताओं ने ग्राहकों को जीएसटी के लाभ पर पारित कर दिया क्योंकि कीमतों में कमी आई थी और इसका फायदा भी ग्राहको ने काफी उठाया। जिसका परिणाम सभी कम्पनियों की जुलाई में बढ़ी दर बखूबी बयां कर रही है।

ये वाहन होंगे शामिल

ये वाहन होंगे शामिल

रिपोर्ट के मुताबिक 4 मीटर की लंबाई वाली छोटी पेट्रोल और 1,200 सीसी इंजन की क्षमता वाली गाड़ियों पर 1 फीसदी सेस लगाया गया है, जबकि इसी लंबाई और 1,500 सीसी क्षमता वाली डीजल गाड़ियों पर 3 फीसदी का सेस तय किया गया है।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

हाइब्रिड वाहनों पर हाई जीएसटी सेस के बारे में कई चिंताएं हुई हैं। अब अगर इसमें किसी भी तरह की छेड़छाड़ होती है तो एसयूवी और लक्जरी कारों का दाम बढ़ना तय मानिए। यह कर लागू होने के बाद इन कारों दाम हाइब्रिड वाहनों के बराबर हो जानें की संभावना है।

English summary
The Goods and Service Tax (GST) Council has approved to increase the prices of SUVs and luxury cars in India. The council has decided to hike the cess on luxury vehicles from the current 15 percent to 25 percent. The revision of cess is not expected to be immediate as any hike will require an amendment to the GST compensation law.
Story first published: Tuesday, August 8, 2017, 12:09 [IST]
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos