जीप कम्पास के बाद स्कोडा लोरा की 663 यूनिट्स रिकॉल, कहीं आपका भी नहीं शामिल?

By Deepak Pandey

स्कोडा ऑटो इंडिया ने ब्रेकिंग सिक्योरिटी सिस्टम के सॉफ्टवेयर कंट्रोल यूनिट को अपडेट करने के लिए 2009 और 2010 के बीच निर्मित अपने लौरा मॉडल की 663 यूनिट्स को रिकॉल किया है। इस बारे में कम्पनी ने अपनी वेबसाइट पर एक अपडेट दिया है।

जीप कम्पास के बाद स्कोडा लोरा की 663 यूनिट्स रिकॉल, कहीं आपका भी नहीं शामिल?

अपनी वेबसाइट पर स्कोडा ऑटो इंडिया ने कहा है कि साल 2009 और 2010 के बीच निर्मित लौरा मॉडल श्रेणी से 663 इकाइयों के एबीएस / ईएससी कंट्रोल यूनिट के सॉफ्टवेयर को अपडेट करने के लिए एक सर्विस अभियान चलाना है।

जीप कम्पास के बाद स्कोडा लोरा की 663 यूनिट्स रिकॉल, कहीं आपका भी नहीं शामिल?

इस मसले पर स्कोडा कार्स के प्राधिकृत डीलर्स "ग्राहकोम की कार की सर्विस करेंगे और उनसे इस बाबत कोई सर्विस चार्ज नहीं लिया जाएगा। कारों की सर्विस 1 घंटे की भीतर हो जाएगी। ग्राहक अपने वाहन के वाहन पहचान संख्या (वीआईएन) में प्रवेश कर सकते हैं और जांच सकते हैं कि उनकी कार प्रभावित है या नहीं। यह पता लगाने के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं।

बता दें कि एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) पहियों को लॉक करने और अनियंत्रित स्कीगिंग से बचने से रोकता है, जबकि इलेक्ट्रॉनिक स्थिरता नियंत्रण (ईएससी) आपातकालीन ब्रेकिंग में वाहन की स्थिरता को नियंत्रित करने में मदद करता है।

Recommended Video - Watch Now!
जीप कम्पास भारत में हुई लॉन्च | Jeep Compass Launched In India - Hindi DriveSpark
जीप कम्पास के बाद स्कोडा लोरा की 663 यूनिट्स रिकॉल, कहीं आपका भी नहीं शामिल?

हाल ही में, फिएट क्रिप्लर ऑटोमोबाइल्स (एफसीए) ने फ्रंट पैसेंजर एयरबैग के प्रतिस्थापन के लिए भारत में जीप कम्पास के 1,200 यूनिटों को रिकॉल किया है। प्रभावित जीप कम्पास मॉडल का उत्पादन 5 सितंबर और 19 नवंबर, 2017 के बीच किया गया था।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

स्कोडा ऑटो इंडिया स्वेच्छा से लौरा मॉडल को रिकाल किया है जो कि दर्शाता है कि कार निर्माता भारत में एक निर्बाध मॉडल के बावजूद अपने ग्राहकों की देखभाल करने के लिए सक्रिय उपाय कर रही है। इस फॉल्ट से अभी तक किसी दुर्घटना की खबर सामने नहीं आई है।

Hindi
English summary
Skoda Auto India is recalling 663 units of its Laura model manufactured between 2009 and 2010 to update software control unit of the braking safety system.
Story first published: Tuesday, November 28, 2017, 12:03 [IST]
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more