आर एंड डी के लिए भारत में अपना स्टॉफ बढ़ाने जा रहा है रोल्स-रॉयस

Written By:

ब्रिटिश लक्जरी कार निर्माता रोल्स-रॉयस देश में अपने अनुसंधान और विकास केंद्र में अपने कर्मचारियों को बढ़ाने की योजना बना रहा है। कंपनी कृत्रिम बुद्धि और डेटा विश्लेषिकी जैसे क्षेत्रों में निवेश करने की भी योजना बना रही है।

भारत में आर एंड डी के लिए ढ़ेर सारी नौकरियां लेकर आ रहा है रोल्स-रॉयस

रोल्स-रॉयस के निदेशक बेंजामिन रॉबर्ट स्टोरी और रोल्स-रॉयस इंडिया के अध्यक्ष किशोर जयरामन की आईटी मंत्री रवि शंकर प्रसाद के साथ बैठक हुई थी।

भारत में आर एंड डी के लिए ढ़ेर सारी नौकरियां लेकर आ रहा है रोल्स-रॉयस

जिसे लेकर एक अधिकारी का कहना है कि रोल्स-रॉयस इस साल के अंत तक अपने बेंगलुरु स्थित अनुसंधान और विकास केंद्र में तीनों मुख्यालयों की योजना बना रहे हैं। वे भारतीय कुशल प्रतिभाओं और स्टार्टअप के नवाचार से प्रभावित हैं।

भारत में आर एंड डी के लिए ढ़ेर सारी नौकरियां लेकर आ रहा है रोल्स-रॉयस

आपको बता दें कि रोल्स-रॉयस इंजीनियरिंग इंजीनियरिंग फर्म है नागरिक और रक्षा विमान, समुद्री जहाजों, परमाणु पनडुब्बियों और अन्य उच्च तकनीकी वाहनों के लिए बिजली और प्रणोदन प्रणाली का कार्य किया जाता है।

भारत में आर एंड डी के लिए ढ़ेर सारी नौकरियां लेकर आ रहा है रोल्स-रॉयस

रोल्स-रॉयस ने 80 साल पहले भारत में प्रवेश किया था। इसने पहले टाटा एविएशन विमान को शक्ति दी थी। कंपनी की तकनीक 240 भारतीय नौसेना और तटरक्षक जहाजों द्वारा उपयोग की जाती है।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

कई वैश्विक कंपनियां भारत में अपने अनुसंधान एवं विकास केंद्र स्थापित कर चुकी हैं। अब रोल्स-रॉयस अपनी टीम का विस्तार करने की योजना बना रही है जो कि एक अच्छा कदम है, और यह रोजगार के अवसरों को और अधिक बनाएगा।

Read more on #rolls royce
English summary
British luxury carmaker Rolls-Royce plans to increase its workforce at its Research and Development centre in the country. The company also plans to invest in areas such as artificial intelligence and data analytics.
Story first published: Saturday, June 17, 2017, 13:47 [IST]

Latest Photos

 

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more