अब ट्रैक्टर भी होगा कॉमर्शियल वेहिकल, देशभर में लगेगा टोल-टैक्स

By Deepak Pandey

अब से हरियाणा समेत देश भर में ट्रैक्टर ट्राली पर ट्रकों के समान टोल देने पड़ेंगे। केंद्र सरकार किसानों के ट्रैक्टर ट्राली को कामर्शियल वाहनों की श्रेणी में डालने जा रही है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की अधिसूचना के ड्राफ्ट रूल में इस बात का स्पष्ट उल्लेख है।

अब ट्रैक्टर भी होगा कॉमर्शियल वेहिकल, देशभर में लगेगा टोल-टैक्स

इस ड्राफ्ट के मुताबिक ट्रैक्टर अब नान ट्रांसपोर्ट व्हीकल (गैर व्यवसायिक वाहनों) की श्रेणी से बाहर माने जाएंगे अर्थात केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग के ड्राफ्ट नियमों में ट्रैक्टर नॉन ट्रांसपोर्ट व्हीकल की श्रेणी से बाहर रखे जाएंगे।

शुरू हुई राजनीति

शुरू हुई राजनीति

लेकिन दूसरी देश में इस मुद्दे पर राजनीति भी शुरू हो गई है। इस मसले पर मध्य प्रदेश में विपक्ष के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जहां विरोध किया वहीं हरियाणा मे भी निर्णय के खिलाफ लोग मुखर हो आए हैं। इस बारे में गुरनाम सिंह चढूनी, अध्यक्ष, भाकियू हरियाणा ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार किसान विरोधी फैसले ले रही है।

अब ट्रैक्टर भी होगा कॉमर्शियल वेहिकल, देशभर में लगेगा टोल-टैक्स

उन्होंने किसानों को उनकी फसल के वाजिब दाम नहीं दिए जा रहे, उल्टे गलत फैसलों से किसानों की कमर तोड़ी जा रही है। किसानों के ट्रैक्टर ट्राली से टोल वसूल किए जाने का फैसला निहायत ही गलत है। भाकियू इसका प्रबल विरोध करेगी।

1989 में दी गई थी राहत

1989 में दी गई थी राहत

बता दें कि हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री देवीलाल जब देश के उप-प्रधानमंत्री बने, तब उन्होंने सड़क एवं परिवहन विभाग, मोटर व्हीकल अधिनियम तथा एनएचएआइ की नियमावली में संशोधन करवाकर ट्रैक्टर-ट्राली को 'गड्डे' का दर्जा दिलाया था। यह 1989 की बात है।

Recommended Video - Watch Now!
महिन्द्रा केयूवी 100 एनएक्सटी भारत में हुई लॉन्च | Mahindra KUV 100 NXT Launched - Hindi DriveSpark
अब ट्रैक्टर भी होगा कॉमर्शियल वेहिकल, देशभर में लगेगा टोल-टैक्स

इसके बाद से ट्रैक्टर ट्रालियों को टोल संग्रहण केंद्रों पर टोल टैक्स नहीं देना पड़ता था। ताऊ देवीलाल के प्रयासों से मिली राहत का देश भर के किसानों को फायदा हुआ था। अब उनके सांसद पौत्र दुष्यंत चौटाला ने ट्रैक्टर ट्रालियों से टोल वसूलने की तैयारी की मुखालफत शुरू कर दी है।

पीएम को पत्र लिखकर जताया विरोध

पीएम को पत्र लिखकर जताया विरोध

इनेलो सांसद ने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर विरोध जताया तथा केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात के लिए समय मांगा है, ताकि ट्रैक्टर को कामर्शियल वाहनों की श्रेणी से बाहर निकलवाया जा सके।

अब ट्रैक्टर भी होगा कॉमर्शियल वेहिकल, देशभर में लगेगा टोल-टैक्स

सड़क एवं परिवहन मंत्रालय के ड्राफ्ट के आधार पर दावा किया कि केंद्र सरकार द्वारा जल्द ही ट्रैक्टर-ट्राली को नॉन ट्रांसपोर्ट व्हीकल की श्रेणी से बाहर किया जा रहा है, जिसके बाद किसानों को किसी भी टोल से निकलते समय ट्रक के समान टोल देना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि जल्द ही हरियाणा के नेताओं एवं किसानों का एक शिष्टमंडल नितिन गडकरी से मुलाकात करेगा।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

किसानों का मु्द्दा हमारे देश में बहुत संवेदनशील रहा है और इस तरह का टैक्स सीधे उनके हितों से जुड़ा है। ऐसे में सरकारों को किसी भी तरह के फैसले लेने से पहले विचार विमर्श करने की आवश्यकता है। वर्ना मामला उल्टा भी पड़ सकता है।

English summary
Tractors will now be considered out of the category of non transport vehicles (non-commercial vehicles) ie, in the draft rules of the Central Road Transport and National Highway, tractors will be kept out of non transport vehicles.
Story first published: Saturday, November 25, 2017, 16:55 [IST]
भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more